पंजाब किंग्स की शानदार गेंदबाजी, सनराइजर्स हैदराबाद को रोमांचक मैच में पांच रन से हराया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 26, 2021   04:54
पंजाब किंग्स की शानदार गेंदबाजी, सनराइजर्स हैदराबाद को रोमांचक मैच में पांच रन से हराया

पंजाब किंग्स के लिये यह अहम मुकाबला था क्योंकि इसमें जीत से वह 10 मैच में आठ अंक से प्लेऑफ की दौड़ में बनी रहेगी और अब पांचवें स्थान पर पहुंच गयी है।

पंजाब किंग्स ने अपने गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन से शनिवार को यहां इंडियन प्रीमियर लीग के कम स्कोर के रोमांच की पराकाष्ठा तक पहुंचे मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद को पांच रन से हराकर प्लेऑफ की दौड़ से बाहर कर दिया।

सनराइजर्स हैदराबाद ने पहले वेस्टइंडीज के जेसन होल्डर (19 रन देकर तीन विकेट) के शानदार स्पैल से पंजाब किंग्स को सात विकेट पर 125 रन पर रोक दिया था। फिर उसने होल्डर की बदौलत कम स्कोर के मुकाबले को रोमांचक बना दिया जिन्होंने 29 गेंद में पांच गगनचुंबी छक्कों से नाबाद 47 रन बनाये, पर वह अपनी टीम को जीत नहीं दिला सके।

पंजाब ने रवि बिश्नोई (24 रन देकर तीन विकेट) और मोहम्मद शमी (चार ओवर में एक मेडन, 14 रन देकर दो विकेट) की बदौलत इस लक्ष्य का बचाव कर सनराइजर्स हैदराबाद को निर्धारित 20 ओवर में सात विकेट पर 120 रन ही बनाने दिये। इस तरह पंजाब किंग्स ने शारजाह में आईपीएल के सबसे कम स्कोर का बचाव भी किया।

पंजाब किंग्स के लिये यह अहम मुकाबला था क्योंकि इसमें जीत से वह 10 मैच में आठ अंक से प्लेऑफ की दौड़ में बनी रहेगी और अब पांचवें स्थान पर पहुंच गयी है। पावरप्ले में हैदराबाद ने दो विकेट पर 20 रन बनाये जो उसका आईपीएल में पावरप्ले का न्यूनतम स्कोर भी है जबकि उसके पास डेविड वार्नर (02) जैसा सलामी बल्लेबाज भी था।

शमी ने अपनी धारधार गेंदबाजी से हैदराबाद के पावरप्ले के दोनों विकेट झटके। उन्होंने अपने और पारी के पहले ओवर की तीसरी गेंद पर वार्नर को आउट कर टीम को पहली सफलता दिलायी जो उनकी गुडलेंथ गेंद पर बल्ले का बाहरी किनारा लगाकर विकेटकीपर कप्तान केएल राहुल को कैच दे बठै। फिर तीसरे ओवर में उन्होंने सनराइजर्स हैदराबाद के कप्तान केन विलियमसन (01) को बोल्ड कर करारा झटका दिया और स्कोर था दो विकेट पर 10 रन। मनीष पांडे (13) बिश्नोई की गुगली को पढ़ नहीं सके और गेंद उनके स्टंप उखाड़ गयी। सलामी बल्लेबाज रिद्धिमान साहा (31) और केदार जाधव (12) ने चौथे विकेट की भागीदारी को धीरे धीरे आगे बढ़ाया क्योंकि पिच बल्लेबाजी के लिये आसान नहीं थी। इससे टीम ने 10 ओवर में तीन विकेट पर 43 रन बनाये।

दो ओवर बाद बिश्नोई ने अपने तीसरे ओवर में जाधव को बोल्ड करने के बाद अब्दुल समद का विकेट अपने नाम किया। अब होल्डर क्रीज पर थे, उन्होंने आते ही धमाल कर दिया और तीन छक्के लगाकर टीम से दबाव कम किया। सनराइजर्स हैदराबाद के लिये 15वें और 16वें ओवर में मिलाकर 27 रन बने। टीम को अब जीत के लिये चार ओवर में 35 रन बनाने थे। पर साहा दो रन चुराने के प्रयास में रन आउट हुए जिसमें बिश्नोई की भूमिका अहम रही।

होल्डर ने 18वें ओवर में एक और छक्का जड़कर दबाव कम किया। राशिद खान (03) अगले ओवर में अर्शदीप की गेंद को ऊंचा खेल बैठे और इसी गेंदबाज को कैच देकर आउट हुए। अंतिम ओवर में 17 रन की जरूरत थी। पदार्पण कर रहे नाथन एलिस की गेंद पर भुवनेश्वर कुमार ने एक रन लिया, होल्डर ने छक्का लगाया, अगली दो गेंद पर कोई रन नहीं। दो गेंद में 10 रन चाहिए थे, फिर गेंद वाइड हो गयी। अगली गेंद में दो रन बने। अंतिम गेंद में एक रन बना।

इससे पहले बल्लेबाजी का न्यौता मिलने के बाद पंजाब किंग्स के बल्लेबाज धीमे विकेट पर जूझते दिखे जिससे उनके बीच कोई बड़ी भागीदारी नहीं बन सकी। टीम के लिये सबसे बड़ी भागीदारी क्रिस गेल और ऐडन मार्कराम के बीच तीसरे विकेट के लिये बनी जो 30 रन की थी। मार्कराम 32 गेंद में 27 रन बनाकर शीर्ष स्कोरर रहे। पिछले मैच में 49 रन की पारी खेलने वाले कप्तान राहुल (21 गेंद में 21 रन) इस मैच में जल्दी पांचवें ओवर में आउट हो गये जिन्हें होल्डर ने अपने स्पैल की पहली गेंद पर पवेलियन भेज दिया। दूसरे सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल (05) भी इसी ओवर की पांचवीं गेंद पर होल्डर का दूसरा शिकार बने।

मंगलवार को राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ 67 रन की पारी खेलने वाले अग्रवाल होल्डर की गेंद पर केन विलियम्सन को मिडऑफ में कैच दे बैठे। पंजाब किंग्स का स्कोर पॉवरप्ले में दो विकेट पर 29 रन था। अगले ही ओवर में उनका तीसरा विकेट गिर सकता था लेकिन डेविड वार्नर ने खलील अहमद की गेंद पर मार्कराम का कैच छोड़ दिया।

पंजाब का स्कोर 10 ओवर में दो विकेट पर 55 रन था। अपने बड़े शॉट के लिये मशहूर गेल आक्रामकता नहीं दिखा सके और 17 गेंद में 14 रन बनाकर राशिद खान की गेंद पर आउट हुए। निकोलस पूरन (08) भी वेस्टइंडीज के अपने सीनियर साथी की तरह अगले ओवर में पवेलियन पहुंच गये। मार्कराम की पारी 15वें ओवर में समाप्त हुई जब वह पारी को बढ़ाने के प्रयास में बड़े शॉट लगाने की कोशिश कर रहे थे।

दीपक हुड्डा (13) ने कुछ आकर्षक शाट लगाने के बाद स्थानापन्न क्षेत्ररक्षक जे सुचित को कैच दे दिया। पंजाब किंग्स ने भुवनेश्वर कुमार के पारी के अंतिम ओवर में 14 रन जोड़े और पारी सात विकेट पर 125 रन पर समाप्त की। हरप्रीत बरार 18 गेंद में इतने ही रन बनाकर नाबाद रहे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।