• असल चैंपियन कौन ? ICC मुकाबलों में PAK को भारतीय शूरवीरों ने हमेशा किया है नेस्तनाबूत, जरा इन आंकड़ों को देख लें आप

भारतीय टीम विराट कोहली की अगुवाई में आखिरी टी20 वर्ल्ड कप खेलने वाली है क्योंकि उन्होंने वर्ल्ड कप के बाद कप्तानी छोड़ने का ऐलान कर चुके हैं। इसी बीच हम बात करेंगे भारत बनाम पाकिस्तान के मुकाबले की। 24 सिंतबर, 2007 का दिन भारतीय क्रिकेट इतिहास में स्वर्णिम अक्षरों से दर्ज है।

दुबई। टी20 वर्ल्ड कप की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। भारत ने अपनी अंतिम टीम का ऐलान कर दिया है। जिसमें अक्षर पटेल के स्थान पर लॉर्ड शार्दुल ठाकुर को स्थान मिला है और टीम में हार्दिक पांड्या भी दिखाई देंगे। भारतीय टीम विराट कोहली की अगुवाई में आखिरी टी20 वर्ल्ड कप खेलने वाली है क्योंकि उन्होंने वर्ल्ड कप के बाद कप्तानी छोड़ने का ऐलान कर चुके हैं। इसी बीच हम बात करेंगे भारत बनाम पाकिस्तान के मुकाबले की। 

इसे भी पढ़ें: टी20 वर्ल्ड कप: टीम इंडिया के मेंटरशिप के लिए धोनी नहीं लेंगे एक भी पैसा, BCCI ने जताया आभार 

2007 का वो दमदार मुकाबला

24 सिंतबर, 2007 का दिन भारतीय क्रिकेट इतिहास में स्वर्णिम अक्षरों से दर्ज है। मौसम बिल्कुल साफ था और भारत के प्रशंसक जीत का इंतजार कर रहे थे। साउथ अफ्रीका के जोहांसबर्ग में भारत अपनी चिर प्रतिद्वंद्वी टीम पाकिस्तान से भिड़ने के लिए तैयार थी। युवाओं का हौसला और भारतीय खेमे के प्रशंसकों से जोहांसबर्ग का मैदान खचाखच भरा हुआ था। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 5 विकेट गंवाकर 157 रन बनाए थे और पाकिस्तान को 158 रन का लक्ष्य दिया था।

महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली टीम ने इस साल वो कारनामा किया था जिसकी चर्चा आज भी होती है। फाइनल मुकाबले का आखिरी ओवर डालने के लिए धोनी ने जोगिंदर शर्मा के हाथों पर गेंद सौंपी थी और उन्होंने मिसबाह उल हक को गेंद डाली जिन्होंने श्रीसंत के हाथों पर कैच थमा दिया और इसी कैच के साथ ही भारतीय खेमे में उत्साह का माहौल छा गया। भारत ने पहली बार टी20 वर्ल्ड कप का खिताब अपने नाम किया।

जब पाक टीम को कर दिया था ऑल आउट

साल 2012 के टी20 वर्ल्ड कप मुकाबले का आयोजन श्रीलंका में हुआ था। इस दौरान भारत-पाकिस्‍तान के बीच सुपर-8 में रोमांचक मुकाबला हुआ। जिसमें भारतीय गेंदबाजों ने पाकिस्तानी खिलाड़ियों को 128 रन पर ही रोक दिया था। इस मुकाबले में भारत की तरफ से सबसे ज्यादा 3 विकेट लक्ष्मीपति बालाजी ने चटकाए थे। जबकि विराट कोहली ने सर्वाधिक 78 रन की नाबाद पारी खेली थी। 

इसे भी पढ़ें: क्या टी20 विश्व कप में अफगानी टीम को हिस्सा लेने में है कोई समस्या ? आईसीसी कार्यवाहक सीईओ ने दिया यह बयान 

भारत ने 7 विकेट से दर्ज की थी जीत

साल 2014 में बांग्लादेश ने टी20 विश्व कप की मेजबानी की थी। इस दौरान भारत और पाकिस्तान के बीच 21 मार्च को ढाका में मुकाबला खेला गया था। जिसमें भारत ने 7 विकेट से आसान जीत दर्ज की थी। इस मुकाबले में अमित मिश्रा ने सर्वाधिक 2 विकेट चटकाए थे। जबकि मोहम्मद शमी, भुवनेश्वर कुमार और रवींद्र जडेजा ने 1-1 विकेट हासिल किया था।

13 गेंद पहले ही भारत ने जीत लिया मुकाबला

19 मार्च, 2016 को भारत और पाकिस्तान के बीच खेला जाने वाला मुकाबला कोलकाता के ऐतिहासिक ईडन गार्डन्स में हुआ था। इस दिन मौसम खराब था, बारिश ने मुकाबले में बाधा डाल दी थी और 20-20 ओवर वाले मैच को घटाकर 18 ओवर का कर दिया गया था। इस दौरान पाकिस्तान की टीम महज 118 ही बना पाई थी। इसके जवाब में विराट कोहली ने 37 गेंदों में नाबाद 55 रन की ताबड़तोड़ पारी खेली थी। जिसकी वजह से उन्हें प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया था।

एक बार फिर से वो घड़ी आ गयी है जिसका हमें सालों से इंतजार था। 24 अक्टूबर को भारत और पाकिस्तान के बीच में लीग मुकाबला खेला जाएगा। इससे पहले हम आपको वर्ल्ड कप में हुए दोनों टीमों के बीच के मुकाबलों की बात करें। भारतीय टीम अभी तक अपने चिर प्रतिद्वंद्वी से न सिर्फ टी20 वर्ल्ड कप मुकाबलों में बल्कि वर्ल्ड कप मुकाबलों में भी अजेय रही है। 

इसे भी पढ़ें: टेस्ट क्रिकेट पर गहरा असर डाल रहा है टी20 प्रारूप, चैपल बोले- यह अधिक लुभावना और लोकप्रिय है 

50-50 वर्ल्ड कप मुकाबलों में भारत और पाकिस्तान की टीम अभी तक 7 बार आमने-सामने आई है और हर एक मुकाबले में भारतीय टीम ने जीत दर्ज की है। साल 1992 के वर्ल्ड कप से शुरू होने वाली जीत साल 2019 के वर्ल्ड कप में भी बरकरार रही। साल 1992, 1996, 1999, 2003, 2011, 2015 और 2019 के मुकाबले में भारत ने पाकिस्तान को गजब धोया था। भारत ने ये मुकाबले सिडनी, बेंगलुरू, मैनचेस्टर, सेंचुरियन, मोहाली, एडलेड और मैनचेस्टर में खेले हैं।