इंग्लैंड में हार्दिक पांड्या से निकलेगा भारत के जीत का कनेक्शन

By दीपक कुमार मिश्रा | Publish Date: Apr 23 2019 10:50AM
इंग्लैंड में हार्दिक पांड्या से निकलेगा भारत के जीत का कनेक्शन
Image Source: Google

दरअसल आईपीएल में हार्दिक पांड्या गेंद और बल्ले दोनों से कहर बरपा रहे है। पांड्या अपनी टीम मुंबई इंडियंस के लिए आखिरी के ओवरों मे ताबड़तोड़ बल्लेबाजी कर रहे है। पांड्या जिस तरह से बल्लेबाजी कर रहे है उससे लगता है कि वो किसी मंझे हुए फिनिशर से कम नहीं है।

इंग्लैंड में होने वाला वर्ल्ड कप नजदीक आता जा रहा है। वर्ल्ड कप के लिए टीम इंडिया की घोषणा हो चुकी है। वर्ल्ड कप से पहले टीम इंडिया के खिलाड़ी आईपीएल में खेल रहे है जहां वो काफी शानदार प्रदर्शन कर रहे है। लेकिन इस बीच टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली की नजर सिर्फ एक खिलाड़ी पर टिकी हुई होगी। यह खिलाड़ी टीम इंडिया का स्टॉर आलराउंडर हार्दिक पांड्या है। क्योंकि हार्दिक जिस तरह से आईपीएल में तहलका मचा रहा है उससे अब विराट की सारी टेंशन जरूर हो गई है। पांड्या इंग्लैंड में अपना जादू दिखाने के लिए पूरी तरह से तैयार है। वह वर्ल्ड कप में विराट कोहली के सबसे खास हथियार है। क्या पांड्या वर्ल्ड कप में टीम इंडिया की जीत का सबसे अहम कनेक्शन है। क्या पांड्या की जादूई फार्म में वर्ल्ड कप में टीम इंडिया के लिए विराट वरदान साबित हो सकती है।
भाजपा को जिताए

आईपीएल में मंझे हुए फिनिशर नजर आ रहे हैं पांड्या
 
दरअसल आईपीएल में हार्दिक पांड्या गेंद और बल्ले दोनों से कहर बरपा रहे है। पांड्या अपनी टीम मुंबई इंडियंस के लिए आखिरी के ओवरों मे ताबड़तोड़ बल्लेबाजी कर रहे है। पांड्या जिस तरह से बल्लेबाजी कर रहे है उससे लगता है कि वो किसी मंझे हुए फिनिशर से कम नहीं है। पांड्या इस आईपीएल में अबतक 10 मैचों में 189.76 की स्ट्राइक रेट से 241 रन बना चुके है। वहीं उन्होंने 10 मैचों में 8 विकेट भी झटके है। पांड्या का ये ऑलराउंड प्रदर्शन और आखिरी के ओवरों में गेंद को हिट करने की क्षमता उन्हें सबसे ज्य़ादा खतरनाक बनाती है। पांड्या आखिरी के ओवरों में जबरदस्त तरीके से गेंदों को पीट रहे है।विराट कोहली को भी पता है कि इस बार अगर टीम इंडिया को इंग्लैंड में वर्ल्ड कप जीतना है तो उन्हें एक ऐसे धाकड़ खिलाड़ी की तैयार है जो आखिरी के ओवरों में गेंद को बड़े आसानी से बाउंड्री के बाहर पहुंचा सकें। इसके साथ जब उसके हाथ में गेंद हो तो वो विकेट भी निकालकर टीम इंडिया की झोली में डाल सकें। इस मामले में इस समय पांड्या से बेहतर कोई नजर नहीं आ रहा है। पांड्या की काबिलियत टीम इंडिया के लिए बेहद जरूरी हो सकती है। पिछले साल इंग्लैंड में खेलने का अनुभव भी पांड्या के पास है जो उन्हें अंग्रेजी कंडीशंस में मदद कर सकता है। इसके अलावा 2017 की चैंपियंस ट्रॉफी में भी पांड्या ने भारत के लिए काफी अच्छा प्रदर्शन किया था। 
साफ है पांड्या इन सब में माहिर है और वो पहले से काफी मेच्योर भी नजर आ रहे है। जनवरी महीने में भारतीय टीम से बाहर होने के बाद लगता है पांड्या ने अपने गेम पर काफी काम किया है। इस दौरान पिछले वर्ष वो इंजरी के कारण भी काफी परेशान रहे थे। लेकिन अब वो फिटनेस के मामले में बेहतर नजर आ रहे है। कॉफी विद करण का किस्सा भी वर्ल्ड कप से पहले खत्म हो गया है और अब उनपर कोई दबाव भी नहीं है। इसके साथ पांड्या अपनी डिक्शनरी में धोनी की हेलिकॉप्टर शॉ भी जोड़ चुके है। जो गेंदबाजों के लिए एक झटका हो सकता है। पांड्या जैसे ऑलराउंडर का होना विराट कोहली को ताकत देता है। क्योंकि अगर वर्ल्ड कप पर नजर ड़ाले तो एक ऑलराउंडर जीत में सबसे बड़ी भूमिका निभाता है। 2011 में युवराज सिंह ने ये काम बड़े बखूबी ढंग से किया था और टीम इंडिया को चैंपियन बनाया था। इसके बाद इस वर्ल्ड कप में जितनी भी टीम है उनके पास बेहतरीन ऑलराउंडर की फौज है। इंग्लैंड के पास बेन स्टॉक्स तो ऑस्ट्रेलिया के पास मार्कस स्टॉइनिस जैसे शानदार ऑलराउंडर की है। इसलिए 2011 वर्ल्ड कप के बाद 2019 में अब बारी हार्दिक पांड्या की है और उनसे इतिहास दोहराने की उम्मीद की जा रही है। क्योंकि अगर भारत को इंग्लैंड में इतिहास रचना है तो पांड्या का अच्छा प्रदर्शन करना जरूरी होगा। वैसे भारतीय टीम में विजय शंकर और रवींद्र जडेजा के रूप में और भी काबिल ऑलराउंडर है। इन्होने पिछले कुछ समय में बेहतरीन प्रदर्शन किया है। वही शंकर का वर्ल्ड कप के लिए चयन होना टीम मैनेजमेंट का उनके उपर भरोसा दर्शाता है। लेकिन पांड्या में एक एक्स फैक्टर है जो टीम इंडिया को चैंपियन बनाने के लिए सबसे जरूरी होगा। क्योंकि अगर पांड्या का जादू इस वर्ल्ड कप में चल गया तो हिंदुस्तान का तिरंग 14 जुलाई को लॉर्ड्स पर फहराने से कोई नहीं रोक सकता है।
 
- दीपक कुमार मिश्रा


 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   



Disclaimer: The views expressed here are solely those of the author in his/her private capacity and do not necessarily reflect the opinions, beliefs and viewpoints of Prabhasakshi and do not in any way represent the views of Prabhasakshi.

Related Story