अब सिर्फ क्रिकेट के भगवान से पीछे हैं ‘रनबाज’ विराट कोहली

By दीपक मिश्रा | Publish Date: Aug 12 2019 3:05PM
अब सिर्फ क्रिकेट के भगवान से पीछे हैं ‘रनबाज’ विराट कोहली
Image Source: Google

वनडे क्रिकेट में सर्वाधिक 49 शतक जड़ने वाले मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर से अब विराट कोहली कुल 7 शतक दूर हैं। अगर बात करें जिस रिकॉर्ड को विराट ने तोड़ा है, तो सचिन तेंदुलकर ने अपनी 403वीं वनडे पारी में 42वां शतक जड़ा था जबकि विराट कोहली ने अपनी 229वीं वनडे पारी में ये कमाल कर दिखाया है।

इंग्लैंड में आयोजित हुए आईसीसी वर्ल्ड कप में विराट कोहली रन तो बना रहे थे। लेकिन जिस तरह से वह शतक बनाने के लिए जाने जाते थे वो नहीं हो पा रहा था। आलम यह था कि वर्ल्ड कप 2019 में विराट कोहली के बल्ले से एक भी शतक नहीं निकला। टीम इंडिया वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल मुकाबले में हार गई। बल्लेबाजी में भी विराट विफल रहे, जिसके बाद उनपर कई सवाल उठाएं भी जाने लगे थे कि वो बड़े मैचों में रन नहीं बना पाते है। वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे वनडे मैच में विराट ने अपने सभी आलोचकों को चुप करा दिया। विराट ने एकबार फिर नीली जर्सी में शतक जड़ा। यह उनके करियर का 42वां शतक था, इस शतक के साथ वह सचिन के 49 शतकों के रिकार्ड के और करीब पहुंच गए है। सचिन का रिकार्ड अपने आप में एक बड़ी उपलब्धि है। आज से 10 साल पहले सचिन के रिकार्ड के करीब पहुंचना भी बहुत बड़ी बात थी। लेकिन जैसे ही विराट कोहली ने वनडे क्रिकेट में अपने पैर जमाएं वह हर दिन एक नए आयाम लिखते गए। अपने 11 साल के करियर में विराट ने बड़े बड़े दिग्गजों को पीछे छोड़ दिया है। विराट इस समय वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले दूसरे बल्लेबाज है। वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे वनडे में विराट ने 125 गेंदों में 120 रनों की पारी खेली। लंबे समय से शतक नहीं जड़ पाने का मलाल विराट के चेहरें पर भी दिखाई दिया। शतक लगाते ही उनका जश्न बताता था कि ये इंतजार काफी लंबा था जो विराट को लंबे समय से खाए जा रहा था। मैच के बाद विराट ने कहा कि “‘शिखर और रोहित बड़ी पारी नहीं खेल पाए। शीर्ष तीन में से एक को हमेशा बड़ी पारी खेलनी होती है। सीनियर खिलाड़ी को आगे आना होता है और आज आगे आकर खेलने का मौका मेरे पास था। टीम को जब जरूरत थी तब शतक जड़कर अच्छा लगा’’।

इसे भी पढ़ें: INDvsWI, 2nd ODI: विंडीज के खिलाफ जीत के बाद कोहली ने कही ये बात

जाहिर है वनडे क्रिकेट में सर्वाधिक 49 शतक जड़ने वाले मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर से अब विराट कोहली कुल 7 शतक दूर हैं। अगर बात करें जिस रिकॉर्ड को विराट ने तोड़ा है, तो सचिन तेंदुलकर ने अपनी 403वीं वनडे पारी में 42वां शतक जड़ा था जबकि विराट कोहली ने अपनी 229वीं वनडे पारी में ये कमाल कर दिखाया है। यानी ये साफ है कि जिस रफ्तार से विराट आगे बढ़ रहे हैं, वो ना सिर्फ सचिन का रिकॉर्ड ध्वस्त करेंगे बल्कि शतकों का अर्धशतक भी बड़ी आसानी से पार कर जाएंगे। इसके साथ ही विराट ने वेस्टइंडीज के खिलाफ मैच से काफी नए रिकार्ड भी अपने नाम किए। मैच में शतक बनाने के साथ ही वनडे में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में सौरव गांगुली को पीछे छोड़ा। पूर्व भारतीय कप्तान गांगुली ने 311 वनडे में 11363 रन बनाए थे। कोहली ने 238 मैच में ही उनको पीछे छोड़ दिया। भारतीय कप्तान के वनडे में अब 11406 रन हो गए। कोहली सबसे ज्यादा रन बनाने वाले दुनिया के आठवें बल्लेबाज बन गए। पहले स्थान पर सचिन तेंदुलकर 18426 रन के साथ हैं। इसके साथ ही कोहली वेस्टइंडीज के खिलाफ सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज भी बन गए। उन्होंने पाकिस्तान के पूर्व कप्तान जावेद मियांदाद का रिकॉर्ड तोड़ा। मियांदाद ने 64 पारियों में 1930 रन बनाए थे। जबकि कोहली ने 34 पारियों में यह मुकाम हासिल कर लिया।कोहली किसी एक टीम के खिलाफ सबसे कम पारियों में 2000 रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गए। इससे पहले यह रिकॉर्ड रोहित शर्मा के नाम था। रोहित ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 37 पारी में 2000 रन पूरे किए थे। कोहली भारत-वेस्टइंडीज मैच में सबसे ज्यादा 3 शतक लगाने वाले बल्लेबाज बन गए। उन्होंने विंडीज के पूर्व बल्लेबाज डेसमंस हेन्स के 2 शतक को पीछे छोड़ दिया।

इसे भी पढ़ें: कोहली ने मियांदाद का रिकॉर्ड तोड़कर गांगुली को पीछे छोड़ा



साफ है विराट जिस तरीके से लगातार रनों की झड़ी लगा रहे है। वह वनडे क्रिकेट के सबसे बड़े मुकाम पर जल्द ही पहुंचने वाले है। सचिन के रनों से तो वो अभी काफी पीछे है। लेकिन अगर शतकों की बात करें तो जल्द ही वो इस रिकार्ड को तोड़ देंगे। हालांकि अगर विराट इसी रफ्तार के साथ लगभग पांच सालों तक खेलते है तो वो सचिन के रनों के रिकार्ड को भी तोड़ने में कामयाब हो जाएंगे। विराट मौजूदा दौर के महान खिलाड़ी है। वनडे क्रिकेट के साथ टेस्ट और टी-20 में भी उनका कोई तोड़ नहीं है। इसके साथ ही एक कप्तान के तौर पर भी विराट लगातार निखर रहे है। वर्ल्ड कप की हार को अगर छोड़ दिया जाएं तो विराट की कप्तानी में टीम इंडिया आईसीसी रैकिंग में नंबर 1 बनी है। विराट की अगुवाई में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया में पहली बार कोई टेस्ट सीरीज जीती है। उम्मीद है विराट बल्ले के साथ कप्तानी में भी इसी तरह हर दिन नए रिकार्ड कामय करेंगे और भारतीय क्रिकेट को और उचाइयों पर ले जाएंगे।
 
- दीपक मिश्रा

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   



Disclaimer: The views expressed here are solely those of the author in his/her private capacity and do not necessarily reflect the opinions, beliefs and viewpoints of Prabhasakshi and do not in any way represent the views of Prabhasakshi.

Related Story

Related Video