पीएम किसान सम्मान निधि के लिए ऐसे कराएं रजिस्ट्रेशन, प्रत्येक वर्ष मिलेंगे 6000 रुपये

पीएम किसान सम्मान निधि के लिए ऐसे कराएं रजिस्ट्रेशन, प्रत्येक वर्ष मिलेंगे 6000 रुपये

पीएम किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थी बेनिफीशियरी लिस्ट में अपना नाम चेक कर सकते हैं। आपको यह पता होना चाहिए कि एक निश्चित समयांतराल के बाद यह लिस्ट पोर्टल पर अपलोड हो जाती है, जिसमें कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय, पीएम किसान सम्मान निधि के तहत लाभ पाने वाले किसानों के नाम शामिल करता है।

केंद्र में पिछले 7 वर्षों से सत्तारूढ़ बीजेपी गठबंधन की नरेंद्र मोदी सरकार ने किसानों, मजदूरों, कारीगरों और अन्य छोटे मोटे काम-धंधे करने वाले लोगों की नियमित आमदनी विकसित करने की गरज से कुछ ठोस कार्य किये हैं, जिसमें प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना भी एक है। इसके तहत मोदी सरकार प्रत्येक किसान परिवार को प्रतिवर्ष छह हजार रुपये दो-दो हजार रुपये की तीन किस्तों में प्रदान करती है। इससे पाई पाई को मोहताज समझे जाने वाले किसानों को काफी राहत मिली है। यह पैसा उनके बीज, खाद या दवा सम्बन्धी लेन देन के समयबद्ध निपटारे में काफी काम आ रहा है।

इसे भी पढ़ें: प्रधानमंत्री आवास योजना 2021 के लिए कैसे करें ऑनलाइन आवेदन

इसलिए इस आलेख के जरिए मैं आपको बताने जा रहा हूँ कि कैसे होता है इस महत्वपूर्ण योजना के लिए रजिस्ट्रेशन।आप पीएम किसान स्कीम में रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन व ऑफलाइन दोनों तरीकों से करा सकते हैं। यदि किसान चाहें तो कॉमन सर्विस सेंटर पर जाकर भी रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं, नहीं तो ऑनलाइन https://pmkisan.gov.in/ से रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। 

वहीं, खुद से यदि ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना हो तो इसके लिए https://pmkisan.gov.in/ पर जाकर किसान कॉर्नर पर जाएं और 'न्यू फार्मर रजिस्ट्रेशन’ विकल्प पर क्लिक करें। इसके बाद आपको अपना आधार नम्बर डालना होगा। इसके अलावा, कैप्चा कोड डालकर अपने राज्य को चुनना होगा। उसके बाद प्रोसेस को आगे बढ़ाना होगा। ततपश्चात आपके समक्ष जो फॉर्म आएगा, उसमें आपको अपनी पूरी व्यक्तिगत जानकारी भरनी होगी। साथ ही अपने बैंक अकाउंट का डिटेल्स और अपने खेत से जुड़ी जानकारी भी भरनी होगी। इसके बाद आप अपना फार्म सबमिट कर सकते हैं।

इसके अलावा, आप पीएम किसान हेल्पलाइन से भी अद्यतन जानकारी ले सकते हैं और यदि आपकी इस सम्बंध में कोई समस्या हो तो आप अपनी शिकायत भी दर्ज करा सकते हैं। बता दें कि पीएम किसान हेल्पलाइन नंबर 155261 है। इसके अलावा, पीएम किसान टोल फ्री नंबर 18001155266 और पीएम किसान लैंडलाइन नंबर 011-23381092, 23382401 पर भी आप अपनी बात रख सकते हैं। पीएम किसान की एक और हेल्पलाइन नम्बर 0120-6025109 है और ई-मेल आईडी [email protected] है।

यदि अपने पीएम किसान सम्मान निधि योजना के लिए आवेदन किया है तो आप पीएम किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थी बेनिफीशियरी लिस्ट में अपना नाम चेक कर सकते हैं। आपको यह पता होना चाहिए कि एक निश्चित समयांतराल के बाद यह लिस्ट pmkisan.gov.in पोर्टल पर अपलोड हो जाती है, जिसमें कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय, पीएम किसान सम्मान निधि के तहत लाभ पाने वाले किसानों के नाम शामिल करता है। लिहाजा, नाम चेक करने के लिए pmkisan.gov.in पर क्लिक करें। यहां पर वेबसाइट खुलने के बाद मेन्यू बार देखें और ‘फार्मर कॉर्नर’ पर जाएं। फिर, लाभार्थी सूची यानि  बेनिफिशियरी लिस्ट टैब पर क्लिक करें। उसके बाद आप अपना राज्य, जिला, उप-जिला, ब्लॉक और गांव का विवरण दर्ज करें। इसके बाद आपको 'गेट रिपोर्ट' पर क्लिक करना होगा, जिसके बाद आपको तत्संबंधी जानकारी मिल जाएगी। यहां पर आपको स्पष्ट कर दें कि जिन किसानों को इस योजना का लाभ सरकार की तरफ से दिया गया है, उनके भी नाम राज्य, जिलेवार, तहसील व गांव के हिसाब से देखे जा सकते हैं।

यदि लिस्ट में आपका नाम नहीं है तो आप पीएम किसान सम्मान की हेल्पलाइन नम्बर 011-24300606 पर कॉल करके अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। यहां पर आपको बता दें कि पीएम किसान सम्मान योजना के तहत सरकार 3 किश्तों में किसानों को पैसा ट्रांसफर करती है। पहली किश्त 1 दिसंबर से 31 मार्च, दूसरी किस्त 1 अप्रैल से 31 जुलाई और तीसरी किश्त 1 अगस्त से 30 नवंबर के बीच में किसानों के खाते में पहुंचती है।

इसे भी पढ़ें: ऐसे प्राप्त करें सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ, दीजिये इन बातों पर विशेष ध्यान

अमूमन, पीएम किसान योजना के लाभार्थी तक पैसा न पहुंचने की एक वजह यह भी हो सकती है कि आधार नंबर की गलत जानकारी फीड हो गई हो, या फिर उन्होंने आधार की जानकारी दी ही न हो। इसके कुछ अन्य वजहों में आधार कार्ड पर नाम या पता गलत होना, बैंक अकाउंट की गलत जानकारी या आधार ऑथंटिकेशन का फेल होना आदि भी शामिल हैं। इसलिए किस्त पाने के लिए सभी डिटेल्स को तुरंत चेक करें और अगर कोई गलती है तो उसे अविलम्ब ठीक कराएं।

वहीं, किसान रिकॉर्ड में सुधार या तो कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) पर जाकर करा सकते हैं, या पीएम किसान की ऑफिशियल वेबसाइट https://pmkisan.gov.in/ पर विजिट कर सकते हैं। वेबसाइट पर इसके बाद 'फार्मर्स' कॉर्नर में 'बेनेफिशियरी स्‍टेटस' पर क्लिक करना होगा। इसके बाद वहां आधार नंबर, अकाउंट नंबर और फोन नंबर का विकल्प दिखेगा। यहां आप देख सकते हैं कि आपकी सूचना सही है या नहीं। यदि आपका आधार नम्बर दर्ज नहीं है तो उसे दर्ज करें, यदि आपके द्वारा दर्ज किया गया आधार नम्बर गलत है तो उसके स्थान पर सही आधार नंबर डालें। इसी तरह यदि कोई अन्य विवरण गलत है तो उसमें तुरंत सुधार करें और कैप्चा कोड डालकर सबमिट कर दें। यदि आपका आवेदन किसी डॉक्युमेंट यानी कि आधार नम्बर, मोबाइल नंबर या बैंक खाता आदि की वजह से रुका हुआ है तो वह डॉक्युमेंट ऑनलाइन अपलोड भी कर सकते हैं।

इस प्रकार यदि आप इस योजना के तहत अपना फार्म सही तरीके से भरवा लेते हैं तो देर सबेर आपके खाते में 6 हजार रुपया 2-2 हजार रुपये की तीन किश्तों में पहुंच ही जायेगा। हां, यदि अपने अपनी कोई जानकारी छिपाई तो भविष्य में आपको लेने के देने भी पड़ सकते हैं और आपको दी हुई रकम सरकार वसूल भी सकती है। इसलिए आप सही सही जानकारी ही भरें और भविष्य की परेशानियों से बचें।

- कमलेश पांडेय

वरिष्ठ पत्रकार व स्तम्भकार