• प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना क्या है? जानिए, यह किसे और कैसे मिलता है?

भारत में बहुत से ऐसे लोग है जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं, जिसके कारण वे अपना घर बनाने में असमर्थ रहते हैं। इसी समस्या को देखते हुए केंद्र सरकार ने 2022 तक हॉउस फोर आल का लक्ष्य रखा है, जिसके अंतर्गत 1 करोड़ लोगों को घर बनाने के लिए धन राशि देने का प्रावधान रखा गया है।

हर किसी व्यक्ति का एक सपना होता है कि उसका एक अपना घर हो, जिससे उसकी स्थाई पहचान बने। किसी को यह विरासत में मिलती है, कोई अपनी मेहनत से इसे हासिल करता है और कोई लाख जतन करने के बाद भी इसे हासिल नहीं कर पाता है। ऐसे में जो लोग अपना घर नहीं बना सकते या फिर जो भूमिहीन हैं, उनके लिए पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने अपनी मां और अमर शहीद प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के नाम पर इंदिरा गांधी आवास योजना की शुरुआत 1980 के दशक के मध्य में की थी, जिसको अब प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना कहा जाता है। 

निःसन्देह, केंद्र सरकार की तरफ से चलाई हुई यह एक बहुत ही आकर्षक योजना है, जिसका उद्देश्य गरीब वर्ग के लोगों को पक्के आवास देना है, ताकि जितने भी गरीब लोग हैं, वे भी अपने लिए पक्के मकानों का निर्माण कर सकें। इस नजरिए से केंद्र सरकार द्वारा इंदिरा गांधी आवास योजना की ऑफिसियल वेबसाइट भी बनाई गई है, ताकि लोगों को समस्त अपेक्षित जानकारी महज एक क्लिक पर ही हासिल हो सके। यहां पर यह स्पष्ट कर दें कि इंदिरा गांधी आवास योजना के नाम को वर्ष 2015 में बदल कर प्रधानमंत्री आवास योजना रख दिया गया है। यह फैसला नरेंद्र मोदी सरकार ने किया है।

इसे भी पढ़ें: प्रधानमंत्री स्‍वनिधि योजना क्‍या है? इसके तहत पीएम स्‍ट्रीट वेंडर्स आत्‍मनिर्भर निधि में कैसे आवेदन करें?

इंदिरा गाँधी ग्रामीण आवास योजना के उद्देश्य, अपेक्षित पात्रता, आवश्यक दस्तावेज, महत्वपूर्ण बिंदु, इसके तहत मिलने वाली भुगतान राशि, इसकी सूची बनाने की प्रक्रिया, सूची के लाभ, सूची में अपना नाम कैसे चेक करें, श्रेणी वार एसईसीसी आईएवाई लिस्ट ऑनलाइन देखने की प्रकिया, इस योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन कैसे करें? आवेदन की स्थिति कैसे देखें, ग्रीवेंस दर्ज करने की प्रक्रिया, ग्रीवेंस की स्थिति देखने की प्रक्रिया, मोबाइल एप्प डाउनलोड कैसे करें? हेल्पलाइन नंबर, योजना से जुड़े कुछ प्रश्न और उनके उत्तर आदि के बारे में जानने की सबकी अभिलाषा रहती है, क्योंकि कोई न कोई निकटवर्ती व्यक्ति इसके बारे में जानना चाहता है।

# किसे मिलता है इंदिरा गांधी ग्रामीण आवास योजना का लाभ 

इंदिरा गांधी ग्रामीण आवास योजना का लाभ कोई भी बीपीएल कार्ड धारक अनुसूचित जाति, जनजाति वर्ग के उम्मीदवार उठा सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण और शहर के नागरिकों को रखा गया है। यह केंद्र सरकार की एक योजना है, जिसका लाभ हर वो नागरिक उठा सकता है जो इस योजना के पात्रता मानदण्डों को पूरा करता हो। वैसे तो हर साल इंदिरा गांधी आवास योजना में उम्मीदवार आवेदन करते हैं और हर वर्ष आवेदन के आधार पर दस्तावेज सत्यापित होने पर लिस्ट जारी की जाती है। अब आप जानना चाहेंगे कि कैसे आप इंदिरा आवास योजना की अद्यतन सूची चेक कर सकते हैं। बता दें कि इंदिरा गाँधी आवास योजना किसी भी जिले के जिला ग्राम विकास अधिकारी/जिला ग्रामीण विकास प्राधिकरण के माध्यम से ऑनलाइन मोड में बीपीएल कार्ड धारकों और आर्थिक रूप से पिछड़े हुए वर्गों के द्वारा ऑफिसियल वेबसाइट pmayg.nic.in के मार्फ़त दाखिल की जा सकती है।

# इंदिरा गांधी ग्रामीण आवास योजना की सूची बनाने के उद्देश्य के बारे में जानिए

दरअसल, भारत में बहुत से ऐसे लोग है जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं, जिसके कारण वे अपना घर बनाने में असमर्थ रहते हैं। इसी समस्या को देखते हुए केंद्र सरकार ने 2022 तक हॉउस फोर आल का लक्ष्य रखा है, जिसके अंतर्गत 1 करोड़ लोगों को घर बनाने के लिए धन राशि देने का प्रावधान रखा गया है। सरकार की रणनीति के मुताबिक, हर जरूरतमंद परिवारों को यह आवास सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी ताकि यहां हर एक गरीब से गरीब से व्यक्ति के पास अपना घर हो। एक सरकारी आंकड़े के मुताबिक, इंदिरा आवास योजना के अंतर्गत अप्रैल 2020 तक 1,57,70,485 लोग इस  योजना में आवेदन कर चुके हैं, जिसमें से केंद्र सरकार ने कुल 1,42,77,807 आवेदनों को स्वीकारा है। जिसमें से 1,00,28,984 घर बन करके तैयार हो चुके हैं। जानकारी के मुताबिक, 2016 से 2020 तक लाभार्थियों में 1,44,745.05 करोड़ रूपये धनराशि किश्तों में भेज दी गयी है। सरकार द्वारा अब इंदिरा गांधी आवास योजना सूची को ऑनलाइन जारी कर दिया गया है, जिससे आप इस योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर सबकुछ चेक कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: Housing For All Scheme: ऐसे उठा सकते हैं प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ

# इंदिरा गांधी ग्रामीण आवास योजना के लिए अपेक्षित है निम्नलिखित पात्रताएं

इस आवास योजना के लिए कतिपय पात्रता मानदंडों को निर्धारित किया गया है, जिसके अनुरूप कोई भी व्यक्ति इस योजना का लाभ उठा सकता है। इस योजना के पात्र वे लोग हैं जिनके पास अपना घर नहीं है, या फिर घर है भी तो वो पक्का नहीं है। आवेदनकर्ता के पास बीपीएल राशन कार्ड होना जरुरी है या फिर वे गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहे हैं। अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, बिना बंधुआ कर्मचारी, अल्पसंख्यक और गैर एससी, एसटी, ग्रामीण परिवार के लिए भी यह योजना है। यदि उम्मीदवार का नाम इंदिरा आवास योजना में आ जाता है तो उसका सत्यापन बीडीओ जैसे सक्षम अधिकारी के माध्यम से किया जाता है। यदि अधिकारी को आवेदन में या दस्तावेज में कोई गलत जानकारी प्राप्त होती है तो आवेदन निरस्त किया जा सकता है।

# प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के लिए ये-ये हैं आवश्यक दस्तावेज

पीएम ग्रामीण आवास योजना में आवेदन करने के लिए आपके पास निम्न दस्तावेजों का होना आवश्यक है, क्योंकि आप इन सभी दस्तावेजों के बिना आवेदन नहीं कर सकते हैं। यथा- निवास प्रमाण पत्र, राशन कार्ड, परिवार का आय प्रमाण पत्र, जाति प्रमाण पत्र, आधार कार्ड, पंजीकृत मोबाइल नंबर, पासपोर्ट साइज फोटो, भूमि का विवरण, जॉब कार्ड आदि।

# पीएम ग्रामीण आवास योजना के दृष्टिगत जानने योग्य कुछ महत्वपूर्ण बातें हैं ये सब

पहला, इंदिरा आवास योजना यानी प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के अंतर्गत 2022 तक 1 करोड़ गरीब लोगों का घर बनाने का लक्ष्य रखा गया है। इस योजना के अनुसार, सरकार लाभार्थियों को घर बनाने के लिए 3 किश्तों में पैसे ट्रांसफर करेगी। आवास योजना के अंतर्गत जो भी घर बनाये जायेंगे, उन घरों में बिजली, पानी, गैस कनेक्शन, शौचालय आदि की पूरी सुविधा दी जाएगी। 

दूसरा, इंदिरा गांधी आवास योजना में अब घरों के आकार को भी बढ़ा दिया गया है। इसका आकार अब 20 वर्ग मीटर से बढ़ाकर 25 वर्ग मीटर कर दिया गया है। वहीं, स्वच्छ भारत अभियान के तहत जिन लोगों के आवास बनाये जायेंगे, उनको शौचालय भी उपलब्ध कराये जायेंगे। 

तीसरा, इस योजना के तहत बनने वाले आवासों की धनराशि में भी इजाफा किया गया है। पहले आवास योजना में शहरी लाभार्थी परिवार को घर बनाने के लिए 70000 की राशि दी जाती थी, जिसे बढ़ाकर अब 1 लाख 20 हजार कर दी गयी है। वहीं, पर्वतीय इलाकों में लाभार्थी परिवार को 75 हजार रूपये दिए जाते थे, जिसे अब बढ़ा कर 1 लाख 30 हजार रुपये कर दिया गया है। 

चौथा, इस योजना के अनुसार यदि किसी लाभार्थी को अन्य ऋण भी चाहिए तो इसके लिए उन्हें 70 हजार रूपये और दिए जायेंगे। इस योजना का लाभ लेने के लिए पात्र परिवारों का बैंक में खाता होना अनिवार्य है। साथ ही, बैंक खाता आधार से लिंक होना चाहिए। क्योंकि सरकार द्वारा उम्मीदवार के खाते में इलेक्ट्रॉनिक बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से भेजे जायेंगे। पांचवां, उम्मीदवार अगर अपना घर बड़ा बनाना चाहता है तो इसके लिए सरकार ने उम्मीदवारों के लिए सब्सिडी की व्यवस्था भी कर रखी है। अभी तक इंदिरा गाँधी आवास योजना के अंतर्गत 1,44,745.05 करोड़ की राशि लाभार्थी परिवार को दे दी गयी है। इंदिरा गाँधी आवास योजना में दी जाने वाली भुगतान राशि इंदिरा गाँधी आवास योजना की शुरुआत 2016 में की गयी थी। जिसका लाभ देश के 34 राज्यों के गरीब बीपीएल अनुसूचित जाति, जनजाति, गैर एससी, एसटी वर्ग के लोगों को योजना के पात्र बनाया गया है। 

# प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना सूची के लाभ के बारे में ऐसे जानिए

यदि आपने भी प्रधान मंत्री आवास योजना में आवेदन किया है तो आप अपने नाम को योजना लिस्ट में चेक कर लें। क्योंकि इस योजना सूची में नाम आने के बाद ही आपको इस योजना का लाभ मिलता है। प्रधानमंत्री आवास योजना लिस्ट में केवल उन्हीं नागरिकों का नाम होता है जिसने इस योजना के लिए आवेदन किया है।

इसे भी पढ़ें: बालिका समृद्धि योजना: बालिकाओं की सहायता के लिए एक पहल

इस योजना की लिस्ट में नाम आने वाले नागरिकों को ही इस योजना का लाभ मिलता है। बहरहाल, इस लिस्ट को चेक करने के लिए आपको कहीं जाने की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि आप इसे ऑनलाइन चेक कर सकते हैं। इससे आपके समय और पैसे दोनों की बचत होगी। प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत वर्तमान में सभी नागरिक लाभ ले सकते हैं। योजना की ऑफिसियल साइट से आप आवेदन की स्थिति को भी चेक कर सकते हैं।

# इंदिरा गांधी आवास योजना सूची में ऐसे करें अपना नाम चेक

जिन उम्मीदवारों ने अपना नाम इंदिरा गाँधी आवास योजना में आवेदन किया है, उनकी सूची ऑनलाइन जारी कर दी गयी है। यदि आप भी अपना नाम इंदिरा गांधी आवास योजना सूची 2021 में चेक करना चाहते हैं तो हम आपको बताएंगे कि कैसे आप लाभार्थी सूची में अपना देख सकते हैं। हम यहां पर आपको कुछ स्टेप्स बता रहे हैं। आप दिए हुए स्टेप्स फॉलो कर सकते हैं। सबसे पहले उम्मीदवार प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ। सबसे पहले इंदिरा गांधी आवास योजना की सूची पर क्लिक करें। उसके बाद आपकी स्क्रीन पर एक होम पेज खुल जायेगा। आपको स्टेकहोल्डर्स के सेक्शन पर जाना होगा। आपके स्क्रीन पर विकल्प आ जायेंगे। आपको इंदिरा आवास योजना यानी प्रधानमंत्री आवास योजना के बेनिफिशरी पर क्लिक करना होगा।

इंदिरा गांधी आवास योजना लिस्ट पर जैसे ही आप क्लिक करेंगे। नए पेज में आपको अपना रजिस्ट्रेशन नंबर दर्ज करना होगा। उसके बाद आप सब्मिट के बटन पर क्लिक  कर दें। जैसे ही आप सब्मिट के बटन पर क्लिक करेंगे। आपकी स्क्रीन पर इंदिरा आवास योजना की लिस्ट आ जायेगी। इस लिस्ट में आप अपना नाम चेक कर सकते हैं। यदि आपके पास रजिस्ट्रेशन नंबर नहीं है तो आप एडवांस सर्च पर भी क्लिक कर सकते हैं। सर्च करते ही आपकी स्क्रीन पर एक फॉर्म आ जायेगा। आप उस फॉर्म में दर्ज सारी जानकारी जैसे राज्य का नाम, जिला, ब्लॉक, पंचायत, स्कीम का नाम, वित्तीय वर्ष, नाम, बीपीएल नंबर, अकाउंट नंबर, पिता या पति के नाम को भर लें। अब आप दिए गए सर्च पर क्लिक कर दें। फिर इंदिरा गाँधी आवास योजना पर क्लिक करें। अब आपकी स्क्रीन पर लाभार्थियों की सूची आ जाएगी। अब आप सूची में अपने नाम को चेक कर सकते हैं। वहीं, श्रेणी वार एसईसीसी आईएवाई लिस्ट ऑनलाइन देखने की प्रकिया के तहत सबसे पहले उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ। उसके बाद आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुल जाएगा। आपको इस पेज में अपनी ग्राम पंचायत की पीडब्ल्यूएल डाउनलोड करें, का लिंक दिखाई देगा। आप इस लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आप कंप्यूटर टाइप ओपन करें। इस लिस्ट में आपको कुछ लाभार्थियों की संख्या और कुल निरस्त किये गए आवेदनों की संख्याओं के लिंक पर क्लिक करना होगा। अब इस लिस्ट को आप डाउनलोड कर सकते हैं।

# इंदिरा गाँधी आवास योजना में ऐसे करें ऑनलाइन आवेदन 

जो उम्मीदवार इंदिरा गाँधी आवास योजना में आवेदन करना चाहते हैं, उनको हम यहां पर बताएंगे कि कैसे वे अपना आवेदन सफल बना सकते हैं। आपको कुछ स्टेप्स बता रहे हैं। आप दिए हुए स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं। सबसे पहले उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ।

उसके बाद आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुल जायेगा। आपको होम पेज में आवास सॉफ्ट के लिंक पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आप डाटा एंट्री के लिंक पर क्लिक करें। आपको ब्लॉक से एक यूजर आईडी और पासवर्ड मिला होगा। अब आप इसे दर्ज करके लॉगिन कर लें। लॉगिन करने के बाद आपको अपना यूजर नेम और पासवर्ड को चेंज करना होगा। इसके बाद आपकी स्क्रीन पर कुछ विकल्प आ जायेंगे। आपको इन विकल्पों में से प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के ऑप्शन पर आपको क्लिक करना होगा। उसके बाद आपकी स्क्रीन पर आवेदन फॉर्म खुल जायेगा। आपको आवेदन फॉर्म में दर्ज सभी जानकारी को भरनी होगी। जैसे व्यक्तिगत जानकारी, बैंक से जुडी जानकारी। उसके बाद आप सब्मिट के बटन पर क्लिक कर दें। आपका आवेदन इस प्रकार पूरा हो जायेगा।

# इंदिरा आवास योजना में किये गए आवेदन की स्थिति ऐसे देखिए 

जिन उम्मीदवारों ने इंदिरा आवास योजना में आवेदन किया था, अब वे ऑनलाइन अपने आवेदन की स्थिति जांच सकते हैं। यहां पर हम आपको आवेदन की स्थिति चेक करने के लिए कुछ स्टेप्स बता रहे हैं। आप दिए हुए स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं। सबसे पहले उम्मीदवार योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाएँ। उसके बाद आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुल जायेगा। आपको पेज में आवेदन की स्थिति की जांच करके लिंक पर क्लिक करना होगा। जैसे ही आप क्लिक करते हैं, आपकी स्क्रीन पर नया पेज खुल जायेगा। आपको इस पेज में अपना रजिस्ट्रेशन नंबर दर्ज करना होगा और सब्मिट के बटन पर क्लिक कर दें। इसके बाद आपकी स्क्रीन पर अगले पेज में आपके आवेदन की स्थिति आ जाएगी।

# प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना में ग्रीवेंस दर्ज करने की प्रक्रिया

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना में ग्रीवेंस दर्ज करने के लिए सबसे पहले आप योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाएँ। उसके बाद आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुल जायेगा। आपको मेन्यू बार में क्लिक करना होगा। क्लिक करने के बाद आपको पब्लिक ग्रीवेंस के लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आप लॉज ग्रीवेंस के लिंक पर क्लिक करें।

इसे भी पढ़ें: क्या है स्फूर्ति योजना 2021? जानिए इसके लाभ व उद्देश्य

अगर आपने वेबसाइट में पहले से ही लॉगिन कर रखा है तो आप अपनी यूजर आईडी और पासवर्ड दर्ज कर सकते हैं। लेकिन अगर पोर्टल में रजिस्टर नहीं है तो आप पहले क्लिक हियर टू रजिस्टर के लिंक पर क्लिक करें। आप पहले स्वयं का पंजीकरण करवा लें। इसके बाद आपकी स्क्रीन पर ग्रीवेंस का आवेदन फॉर्म आ जायेगा। आपको फॉर्म में सभी जानकारी भरनी होगी। और सब्मिट के बटन पर क्लिक कर दें। इस प्रकार आप अपना ग्रीवेंस दर्ज कर सकते हैं।

# प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना में ग्रीवेंस की स्थिति देखने की प्रक्रिया

जिन उम्मीदवारों ने अपना ग्रीवेंस दर्ज किया है, वे ग्रीवेंस की आवेदन की स्थिति की जांच सकते हैं। यहां पर आपको स्टेटस देखने के लिए कुछ स्टेप्स को फॉलो करने होंगे। सबसे पहले आप प्रधानमंत्री आवास योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ। उसके बाद आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुल जाएगा। अब आपको इस पेज में मेन्यू बार पर क्लिक करना होगा और पब्लिक ग्रीवेंस के लिंक पर क्लिक करना होगा। अब आपकी स्क्रीन पर नया पेज आ जाएगा। इसके बाद आपको व्यू स्टेटस के लिंक पर क्लिक करना होगा। अब आपके लैपटॉप या फोन के स्क्रीन पर नया पेज आएगा। जिसमें आपको अपना रजिस्ट्रेशन नंबर, ई-मेल आईडी, सिक्योरिटी कोड दर्ज कर दें और सब्मिट के बटन पर क्लिक कर दें। इसके बाद आपके द्वारा दर्ज की गयी ग्रीवेंस की स्थिति आपके स्क्रीन पर होगी।

# प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना मोबाइल एप्प कैसे करें डाऊनलोड 

अब उम्मीदवार प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना की जानकारी अपने फोन पर भी प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए केंद्र सरकार द्वारा मोबाइल एप्लिकेशन जारी की गयी है। जिसके माध्यम से अब फोन पर भी आप योजना से जुड़ी सभी जानकारी ले सकते हैं। अगर सरकार द्वारा कोई भी नोटिफिकेशन जारी किया जाता है, तो वह भी आपको मिलने लगेगा। यहां पर हम आपको एप्लिकेशन डाउनलोड करने के कुछ स्टेप्स बता रहे हैं। आप दिए हुए स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं। सबसे पहले उम्मीदवार अपने फोन के गूगल प्ले स्टोर में जाएँ।.उसके बाद आपको इंदिरा आवास योजना सर्च करना होगा। जैसे ही आप प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना एप्प सर्च करते हैं, तो आपकी स्क्रीन पर इस योजना का एप्प आ जाएगा। अब आपको एप्प पर क्लिक करना होगा। उसके बाद आप इंस्टाल के बटन पर क्लिक करें। और फिर एप्प को ओपन करें। इसके बाद आप सभी पूछी गयी जानकारी एप्प में दर्ज करें।

# प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना का हेल्पलाइन नंबर

इस महत्वकांक्षी योजना का हेल्पलाइन नम्बर आदि निम्नलिखित है- जैसे, टोल फ्री नंबर–1800-11-6446, 1800-11-8111, ई-मेल नंबर–[email protected], [email protected], प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना की आधिकारिक वेबसाइट- pmayg.nic.in है।

# इंदिरा गाँधी आवास योजना में एवं प्रधानमंत्री आवास योजना में क्या अंतर है, बताइए?

पहले पीएम आवास योजना का नाम इंदिरा गाँधी आवास योजना ही था, जिसे पीएम नरेंद्र मोदी सरकार ने 2015 में बदलकर प्रधानमंत्री आवास योजना कर दिया है। इस योजना को ग्रामीण आवास योजना के नाम से भी जाना जाता है। इस योजना के अनुसार शहरी क्षेत्रों में रहने वाले लाभार्थियों को भी केंद्र सरकार घर बनाने के लिए सरकार धनराशि मुहैया कराएगी। इस योजना का उद्देश्य भारत में रह रहे सभी गरीब बीपीएल कार्ड धारक, अनुसूचित जाति-जनजाति, अल्पसंख्यक, गैर एससी एसटी वर्ग के लोगों को, जिनके पास अपना घर नहीं है, उनको आवास की सुविधा उपलब्ध कराना है। सरकार अपनी इस कोशिश में कामयाब है, जिससे नागरिकों में खुशहाली का माहौल है आवासीय नजरिये से।

- कमलेश पांडेय

वरिष्ठ पत्रकार व स्तम्भकार