लोकप्रिय पंजाबी गायक बलविंदर साफरी का 63 वर्ष की आयु में निधन, कुछ हफ्ते पहले ही कोमा से आए थे बाहर

 Balwinder Safri
Youtube
लोकप्रिय पंजाबी गायक बलविंदर साफरी का 63 वर्ष की आयु में निधन हो गया है। पंजाबी गाने “राहये राहये” और “चन मेरे मखना” जैसे गीतों के लिए चर्चित साफरी के दिल की सर्जरी हुई थी जिसके बाद उनके मस्तिष्क में कुछ समस्या आ गई थी। फिर वह अप्रैल में कोमा में चले गए थे।

लंदन। ब्रिटेन में रहने वाले लोकप्रिय पंजाबी गायक बलविंदर साफरी का 63 वर्ष की आयु में निधन हो गया। उनके परिवार ने यह जानकारी दी। साफरी कुछ सप्ताह पहले ही कोमा से बाहर आए थे। पंजाब में जन्मे साफरी बर्मिंघम में रहते थे और 1980 से ब्रिटेन में भांगड़ा के लिए मशहूर थे। उन्होंने 1990 में साफरी बॉयज बैंड की स्थापना की थी। साफरी की पत्नी निक्की डेविट ने एक बयान में कहा, “मुझे और प्रिया को आपको यह बताते हुए बेहद दुख हो रहा है कि बलविदंर साफरी का निधन हो गया। जब उनका निधन हुआ तब मैं और मेरी बेटी उनके पास थे…। हम शोकाकुल हैं।”

इसे भी पढ़ें: फिलीपीन में भूकंप के जोरदार झटके, चार लोगों की मौत, कई घायल

डेविट ने मीडिया से उनकी निजता का सम्मान करने का अनुरोध किया। पंजाबी गाने “राहये राहये” और “चन मेरे मखना” जैसे गीतों के लिए चर्चित साफरी के दिल की सर्जरी हुई थी जिसके बाद उनके मस्तिष्क में कुछ समस्या आ गई थी। फिर वह अप्रैल में कोमा में चले गए थे। कोमा से बाहर आने के बाद 15 जुलाई को साफरी को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी। ब्रिटेन और भारत में संगीतकारों ने साफरी के निधन पर शोक व्यक्त किया। डीजे बल्ली सागू ने ट्वीट किया, “ब्रिटेन के महान गायक बलविंदर सागू के निधन का समाचार पाकर दुख हुआ। आप बहुत याद आएंगे पाजी। इतनी सारी स्मृतियां और बेहतरीन गाने देने के लिए धन्यवाद।” डीजे डिप्स भामरा ने ट्वीट किया, “वह पंजाबी भांगड़ा संगीत के लिए हमेशा याद किये जाएंगे। बलविदंर साफरी को वाहे गुरु अपने चरणों में स्थान दें।” गायक और अदाकार दिलजीत दोसांझ, वरिष्ठ गायक गुरदास मान , पंजाबी अभिनेत्री नीरू बाजवा और अन्य ने भी दिवंगत गायक को श्रद्धांजलि दी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़