भारत की ओर से ऑस्कर 2022 के लिए भेजी जाएगी तमिल फिल्म Koozhangal , निर्देशक ने शेयर की जानकारी

भारत की ओर से ऑस्कर 2022 के लिए भेजी जाएगी तमिल फिल्म Koozhangal , निर्देशक ने शेयर की जानकारी

पीएस विनोथराज के निर्देशन में बनी फिल्म 'कूझंगल' (कंकड़) को 94वें अकादमी पुरस्कारों में भारत की आधिकारिक प्रविष्टि के रूप में चुना गया है। 5 सदस्यीय चयन समिति के अध्यक्ष शाजी एन करुण ने इस जानकारी की घोषणा की। फिल्म फेडरेशन ऑफ इंडिया (एफएफआई) के महासचिव सुप्राण सेन सहित पेनट की सर्वसम्मति से यह फैसला लिया गया है।

पीएस विनोथराज के निर्देशन में बनी फिल्म 'कूझंगल' (कंकड़) को 94वें अकादमी पुरस्कारों में भारत की आधिकारिक प्रविष्टि के रूप में चुना गया है। 15 सदस्यीय चयन समिति के अध्यक्ष शाजी एन करुण ने इस जानकारी  की घोषणा की। उन्होंने बताया कि  फिल्म फेडरेशन ऑफ इंडिया (एफएफआई) के महासचिव सुप्राण सेन सहित पेनट की सर्वसम्मति से यह फैसला लिया गया है। 2021 के लिए अकादमी पुरस्कार 27 मार्च, 2022 को लॉस एंजिल्स में आयोजित किए जाएंगे।

फरवरी 2021 में, कूझंगल को नीदरलैंड में आयोजित रॉटरडैम के 50 वें अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में प्रदर्शित किया गया था। फिल्म फेस्टिवल में इस फिल्म को प्रतिष्ठित टाइगर अवॉर्ड से नवाजा गया था। यथार्थवादी नाटक में चेल्लापंडी और करुथथदैयां मुख्य भूमिकाओं में हैं।

इसे भी पढ़ें: नमाजियों के सामने 'जय श्री राम' के नारे लगाने से खफा हुई स्वरा भास्कर, कहा- हिंदू होने पर शर्म आती है 

कूझंगल एक शराबी पिता और उसके बेटे के बीच संबंधों की कहानी है।  उसकी पत्नी अपने अपमानजनक पति के कारण अपने माता-पिता के घर वापस चली जाती है। बाप-बेटे की जोड़ी कैसे महिला का विश्वास जीतती है, यह बाकी की कहानी है। 

इसे भी पढ़ें: सैफ अली खान से रानी मुखर्जी ने उठवाया भारी सिलेंडर! बंटी और बबली 2 के सेट से वायरल हुई तस्वीर 

ऑस्कर 2022 में इस साल भारत की आधिकारिक प्रविष्टि के लिए 14 फिल्मों को शॉर्टलिस्ट किया गया था। 14 फिल्मों में मलयालम फिल्म नयट्टू, तमिल फिल्म मंडेला और हिंदी फिल्म सरदार उधम शामिल थीं। 15 सदस्यीय चयन समिति के अध्यक्ष शाजी एन करुण ने कोलकाता में 14 फिल्में देखीं। कथित तौर पर, कूझंगल को ऑस्कर 2022 के लिए चुनने का निर्णय सर्वसम्मत था।

फिल्म के चयन के बारे में बोलते हुए शाजी एन करुण ने कहा, “सत्यजीत रे के शताब्दी वर्ष में, यह काव्यात्मक है कि हमने कोलकाता में स्क्रीनिंग की थी। रे दुनिया के लिए भारतीय सामग्री के पथ प्रदर्शक थे और हम एक ऐसी फिल्म का चयन करने का प्रयास करेंगे जो भारतीयता और इसकी विविध संस्कृति का प्रतीक हो।






Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

मनोरंजन जगत

झरोखे से...