क्रोएशिया में सड़क पर फिसली बस, 10 लोगों की मौत, 44 घायल

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 26, 2021   09:42
क्रोएशिया में सड़क पर फिसली बस, 10 लोगों की मौत, 44 घायल

क्रोएशिया की ‘इन्डेक्स’ समाचार साइट ने बताया कि स्थानीय उप अभियोजक स्लोवको प्रांजिक ने कहा, ‘‘उसने (चालक ने) कहा कि उसे झपकी आ गई थी।’’ पुलिस ने बताया कि बस सड़क से फिसलकर घास में जाकर पलट गई।

जाग्रेब। क्रोएशिया में बस चालक को झपकी आने के कारण वाहन के राजमार्ग पर फिसल जाने पर उसमें सवार 10 लोगों की मौत हो गई और कम से कम 44 अन्य लोग घायल हो गए, जिनमें से कई घायलों की हालत गंभीर है। यह हादसा स्लोवान्स्की ब्रॉड में क्रोएशिया की राजधानी जाग्रेब और सर्बियाई सीमा के बीच राजमार्ग पर रविवार तड़के करीब छह बजे हुआ। पुलिस ने बताया कि बस पर कोसोवो की लाइसेंस प्लेट लगी थी और यह जर्मनी के फ्रैंकफर्ट से कोसोवो की राजधानी प्रिस्टीना जा रही थी। अधिकारियों ने बताया कि बस में बच्चों और दो चालकों समेत 67 यात्री थे। बस के एक चालक की हादसे में मौत हो गई। घायल हुए 44 लोगों को स्थानीय अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। स्लोवान्स्की ब्रॉड अस्पताल के प्रमुख जोसिप समरदजिक ने बताया कि आठ लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं। प्राधिकारियों ने बताया कि बस के दूसरे चालक को हिरासत में ले लिया गया है। उसने झपकी लगने के कारण वाहन पर से नियंत्रण खो दिया था।

इसे भी पढ़ें: तनावपूर्ण संबंधों पर चर्चा के लिए चीन पहुंचीं अमेरिकी उप विदेश मंत्री वेंडी शेरमन

क्रोएशिया की ‘इन्डेक्स’ समाचार साइट ने बताया कि स्थानीय उप अभियोजक स्लोवको प्रांजिक ने कहा, ‘‘उसने (चालक ने) कहा कि उसे झपकी आ गई थी।’’ पुलिस ने बताया कि बस सड़क से फिसलकर घास में जाकर पलट गई। क्रोएशिया के प्रधानमंत्री आंद्रेज प्लेंकोविक ने इस हादसे पर ‘‘दु:ख’’ जताया और पीड़ितों के संबंधियों एवं कोसोवो के लोगों के प्रति संवेदना व्यक्त की। ओलंपिक खेलों में कोसोवो की टीम का हौंसला बढ़ाने तोक्यो गईं देश की राष्ट्रपति वजोसा ओस्मानी इस हादसे के कारण समय से पहले ही लौट आईं और उन्होंने फेसबुक के जरिए घटना पर दु:ख जताया। उन्होंने सोमवार को कोसोवो में राष्ट्रीय शोक की घोषणा भी की है। कोसोवो के प्रधानमंत्री अल्बिन कुर्ती ने कहा, यह हमारे देश और हमारे लोगों के लिए एक दु:खद दिन है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।