NATO में शामिल होगा फिनलैंड, भड़के पुतिन तैनात करेंगे परमाणु सेना, क्या यूक्रेन जैसी तबाही फिर देखने को मिलेगी?

NATO में शामिल होगा फिनलैंड, भड़के पुतिन तैनात करेंगे परमाणु सेना, क्या यूक्रेन जैसी तबाही फिर देखने को मिलेगी?
creative common

फिनलैंड और स्वीडन के उत्तर अटलाटिंक संधि संगठन (नाटो) में शामिल होने के ऐलान से अब उत्तरी यूरोप में माहौल तनावपूर्ण होता जा रहा है। फिनलैंड को रूस ने धमकी देते हुए सैन्य कार्रवाई के लिए मजबूर न करने की बात कही है।

रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध के बीच दोनों देशों की तरफ से तरह-तरह के हथियारों की जमकर आजमाइश हो रही है। इसी बीच 9 मई को रूस ने अपना विक्ट्री डे भी सेलिब्रेट किया। पूरी दुनिया को डर था कि रूस अपने विक्ट्री डे के दिन कुछ बड़ा धमाका कर सकता है। हालांकि कुछ ऐसा हुआ नहीं। लेकिन अब जो खबर सामने आ रही है वो पूरी दुनिया को हिला कर रख देगी। फिनलैंड और स्वीडन के उत्तर अटलाटिंक संधि संगठन (नाटो) में शामिल होने के ऐलान से अब उत्तरी यूरोप में माहौल तनावपूर्ण होता जा रहा है। फिनलैंड को रूस ने धमकी देते हुए सैन्य कार्रवाई के लिए मजबूर न करने की बात कही है। इसके साथ ही रशियन फेडरेशन के सिक्योरिटी काउंसिल के डिप्टी चेयरमैन ने परमाणु हमले की धमकी दी है।  

नाटो में एंट्री के फैसले पर रूस की धमकी

रूस के विदेश मंत्री ने कहा है कि इसका अंजाम बुरा होगा। इससे पहले भी रूस की तरफ से फिनलैंड को ऐसी गलती नहीं करने की चेतावनी दी गई थी। क्रेमलिन ने चेतावनी देते हुए कहा कि उसे जवाबी कार्रवाई के तौर पर ‘‘सैन्य-तकनीकी’’ कदम उठाने के लिए विवश होना पड़ेगा। रूस के विदेश मंत्रालय ने कहा कि नाटो के साथ फिनलैंड का जुड़ना ‘रूस-फिनलैंड संबंधों को गंभीर नुकसान पहुंचाएगा और उत्तर यूरोप में स्थिरता एवं सुरक्षा को भी प्रभावित करेगा’। वहीं रूस में ब्रिटेन के पूर्व राजदूत का दावा है कि फिनलैंड को सबक सीखाने के लिए पुतिन बाल्टिक इलाके में अपनी परमाणु सेना को और ज्‍यादा मजबूत कर सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें: रूसी आक्रमकता के खिलाफ खड़े होने को लेकर भारत के निकट संपर्क में है अमेरिका: व्हाइट हाउस

नाटो में शामिल होगा फिनलैंड

फिनलैंड के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने घोषणा की कि नॉर्डिक देश को नाटो में सदस्यता के लिए तुरंत आवेदन करना चाहिए। फिनलैंड के राष्ट्रपति सौली नीनिस्टो ने इस सप्ताह कहा था, ‘‘आपकी (रूस) वजह से यह हुआ है। अपने आप को शीशे में देखो।’’ इस घोषणा का मतलब है कि फिनलैंड ने नाटो की सदस्यता लेने का अब पूरी तरह मन बना लिया है, लेकिन आवेदन प्रक्रिया शुरू होने से पहले कुछ कार्रवाई अभी बाकी हैं। पड़ोसी देश स्वीडन भी आने वाले दिनों में नाटो में शामिल होने पर विचार कर रहा है। इस तरह के विस्तार से रूस बाल्टिक सागर और आर्कटिक में नाटो देशों से घिर जाएगा, जो पुतिन के लिए एक झटका होगा।