अमेरिकी संसद भवन के बाहर कार ने पुलिस अधिकारियों को कुचला, एक अधिकारी की मौत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 3, 2021   09:05
  • Like
अमेरिकी संसद भवन के बाहर कार ने पुलिस अधिकारियों को कुचला, एक अधिकारी की मौत

कैपिटल में कुछ समय के लिए एहतियातन लॉकडाउन लगा दिया गया है। शुक्रवार को हुई घटना और छह जनवरी को हुए विद्रोह के बीच अभी कोई संबंध सामने नहीं आया है।

वाशिंगटन। अमेरिकी कैपिटल (संसद भवन) के बाहर एक बैरिकेड पर एक व्यक्ति ने शुक्रवार को दो पुलिस अधिकारियों को कार से कुचल दिया जिसमें एक पुलिस अधिकारी की मौत हो गई। पुलिस अधिकारियों पर कार चढ़ाने के बाद हमलावर एक चाकू लहराता हुआ दिखा। इस साल किसी पुलिस अधिकारी के ड्यूटी पर रहते हुए मौत का यह दूसरा मामला है। कैपिटल पुलिस की कार्यवाहक प्रमुख योगानांडा पिटमैन ने पत्रकारों को बताया कि वीडियो में क्षतिग्रस्त कार का चालक हाथ में एक चाकू लिए और कई अधिकारियों की तरफ दौड़ता हुआ दिख रहा है। अधिकारियों ने संदिग्ध को गोली मार दी जिसकी अस्पताल में मौत हो गई। पिटमैन ने कहा, ‘‘मैं जनता से यूएस कैपिटल पुलिस और उनके परिवार के लिए प्रार्थना करते रहने का अनुरोध करता हूं। छह जनवरी की घटना और आज यहां हुई घटना के बाद अमेरिकी कैपिटल पुलिस के लिए यह बहुत मुश्किल वक्त है।’’

पुलिस ने मृतक अधिकारी की पहचान विलियम ‘बिली’ इवांस के रूप में की है जो विभाग में 18 वर्षों से कार्यरत था। दो कानून प्रवर्तन अधिकारियों ने बताया कि जांचकर्ताओं को शुरू में लगा कि संदिग्ध ने एक अधिकारी को चाकू घोंपा लेकिन बाद में यह स्पष्ट नहीं हुआ कि क्या वाकई अधिकारी को चाकू लगा क्योंकि कार बहुत जोर से उससे टकराई। कैपिटल में कुछ समय के लिए एहतियातन लॉकडाउन लगा दिया गया है। शुक्रवार को हुई घटना और छह जनवरी को हुए विद्रोह के बीच अभी कोई संबंध सामने नहीं आया है। अधिकारियों ने संदिग्ध की पहचान 25 वर्षीय नोह ग्रीन के रूप में की है। जांचकर्ता उसकी पृष्ठभूमि की पड़ताल कर रहे हैं और यह पता लगा रहे हैं कि क्या उसे कोई मानसिक बीमारी थी। उसके हाल के सोशल मीडिया पोस्ट से पता चला है कि ग्रीन खुद को इस्लाम के राष्ट्र और उसके संस्थापक लुईस फर्राखान का समर्थक बताता है। एक ऑनलाइन संदेश में उसने लिखा, ‘‘सच कहूं तो बीते कुछ साल बहुत मुश्किल भरे रहे हैं। मैंने अपने जीवन में कुछ बड़े, अकल्पनीय प्रयोग किए हैं। मैंने पीड़ा के कारण अपनी नौकरी छोड़ दी जिसके बाद अभी मैं बेरोजगार हूं और आध्यात्मिक यात्रा की तलाश में हूं।’’ राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि वह और उनकी पत्नी हमले के बारे में जानकार दुखी हैं और उन्होंने इवांस के परिवार के प्रति संवेदनाएं जताई हैं। उन्होंने व्हाइट हाउस में लगे झंडों को आधा झुकाने के निर्देश दिए हैं।

यह हमला कैपिटल के समीप सुरक्षा जांच चौकी पर हुआ जिसका इस्तेमाल सीनेटर और कर्मचारी सप्ताहांत पर करते हैं। यह हमला सीनेट की तरफ वाली इमारत के प्रवेश द्वार से करीब 91 मीटर की दूरी पर हुआ। इससे पहले छह जनवरी को हुई घटना में पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों की भीड़ कैपिटल में उस वक्त घुस गई थी जब कांग्रेस राष्ट्रपति के तौर पर बाइडन की जीत पर पुष्टि के लिए मतदान कर रही थी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept