भारतीय कंपनी कोवैक्सीन टीके खरीदने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय के सौदे की जांच कर रहा है ब्राजील

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 23, 2021   10:12
भारतीय कंपनी कोवैक्सीन टीके खरीदने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय के सौदे की जांच कर रहा है ब्राजील

ब्राजील कोवैक्सीन टीके खरीदने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय के सौदे की जांच कर रहा है।इसके अलावा मंत्रालय के अधिकारियों ने संघीय सरकार के साथ पिछले अनुबंधों में प्रेसिसा सहयोगियों द्वारा की गई कथित अनियमितताओं की अनदेखी की।

रियो डी जिनेरियो। ब्राजील का संघीय अभियोजक कार्यालय भारतीय कंपनी ‘भारत बायोटेक’ द्वारा निर्मित कोवैक्सीन टीके की दो करोड़ खुराक खरीदने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से किए गए अनुबंध में संभावित अनियमितताओं की जांच कर रहा है। अटॉर्नी जनरल के प्रेस कार्यालय द्वारा ‘द एसोसिएटेड प्रेस’ को भेजे गए एक दस्तावेज के अनुसार, समझौते के तहत मंत्रालय को ब्राजील में भारत बायोटेक के प्रतिनिधि प्रेसिसा मेडिकैमेंटोस को टीके की हर खुराक के लिए 15 डॉलर की कीमत चुकाने के अनुसार 32 करोड़ डॉलर का भुगतान करना होगा। इस समझौते पर फरवरी में हस्ताक्षर किए गए थे। दस्तावेज के मुताबिक यह प्रति खुराक कीमत अन्य कोविड-19 टीकों की तुलना में अधिक है। इसके अलावा मंत्रालय के अधिकारियों ने संघीय सरकार के साथ पिछले अनुबंधों में प्रेसिसा सहयोगियों द्वारा की गई कथित अनियमितताओं की अनदेखी की।

इसे भी पढ़ें: इतिहास में पहली बार इजराइल के विदेश मंत्री करेंगे यूएई दौरा, अरब देशों से संबध अच्छे होने के आसार?

इन बातों ने अभियोजकों का ध्यान खींचा। प्रेसिसा ने एक बयान में कहा कि ब्राजील के स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ टीके की जिस कीमत पर सहमति बनी है, वह 13 अन्य देशों के साथ बातचीत से तय हुई कीमत के समान है और इस सौदे में ‘‘सभी औपचारिक मार्गों का पालन किया गया और इसे पारदर्शी तरीके से किया गया’’। संघीय अभियोजक लुसियाना लौरेइरो ओलिवीरा ने 16 जून को हस्ताक्षरित एक दस्तावेज में कहा कि तीन साल पहले प्रेसिसा के सहयोगियों ने एक अन्य कंपनी के माध्यम से स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ उन दवाओं की बिक्री के लिए अनुबंध किया था जो कभी वितरित नहीं की गईं। ओलिवेरा ने लिखा कि मंत्रालय ने भारत बायोटेक के टीके के लिए एक खरीद अनुबंध पर हस्ताक्षर किए, जबकि इसे ब्राजील की स्वास्थ्य एजेंसी अंविसा द्वारा अनुमोदित नहीं किया गया है और पहले से स्वीकृत अन्य टीके कम कीमतों पर बाजार में थे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।