अमेरिका को पछाड़ चीन बना दुनिया का सबसे अमीर देश, दो दशकों में बढ़ाई इतनी संपत्ति

अमेरिका को पछाड़ चीन बना दुनिया का सबसे अमीर देश, दो दशकों में बढ़ाई इतनी संपत्ति

मैकिन्से एंड कंपनी द्वारा किए गए शोध के अनुसार, 2000 में 156 ट्रिलियन डॉलर से 2020 में दुनिया भर में शुद्ध संपत्ति बढ़कर 514 ट्रिलियन डॉलर हो गई। इस समय चीन दुनिया भर में सूची में सबसे ऊपर उभरा है। इसके अलावा चीन की इन संपत्तियों में हिस्सेदारी एक-तिहाई है।

दुनिया में हमेशा से अपना परचम लहराने वाला अमेरिका इस मामले में चीन से पिछड़ गया है। जी हां, आपको बता दें कि, इस बार चीन ने अमेरिका को पछाड़कर दुनिया का सबसे अमीर देश बनने का मुकाम हासिल कर लिया है। सलाहकार मैकिन्से एंड कंपनी की शोध शाखा की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले दो दशकों में चीन की वैश्विक संपत्ति तीन गुना हो गई है जिसके कारण चीन ने दुनिया में सबसे अमीर देश बनकर अमेरिका को भी पीछे कर दिया है।

इसे भी पढ़ें: इजराइल ने सीरिया की राजधानी में दागे दो मिसाइल, कोई हताहत नहीं

जानकारी के लिए बता दें कि, विश्व आय के 60 प्रतिशत से अधिक का प्रतिनिधित्व करने वाले 10 देशों की राष्ट्रीय बैलेंस शीट की जांच के बाद यह रिपोर्ट तैयार की गई है। ब्लूमबर्ग टीवी के साथ एक साक्षात्कार में, ज्यूरिख में मैकिन्से ग्लोबल इंस्टीट्यूट के एक पार्टनर जान मिशके ने कहा कि, हम अब पहले से कहीं ज्यादा अमीर हैं।"

मैकिन्से एंड कंपनी द्वारा किए गए शोध के अनुसार, 2000 में 156 ट्रिलियन डॉलर से 2020 में दुनिया भर में शुद्ध संपत्ति बढ़कर 514 ट्रिलियन डॉलर हो गई। इस समय चीन दुनिया भर में सूची में सबसे ऊपर उभरा है। इसके अलावा चीन की इन संपत्तियों में हिस्सेदारी एक-तिहाई है।रिपोर्ट के मुताबिक, साल 2020 में चीन की संपत्ति बढ़कर 120 ट्रिलियन डॉलर हो गई, जो 2000 में सिर्फ 7 ट्रिलियन डॉलर थी।चीन ने 20 सालों में 113 ट्रिलियन डॉलर की छलांग लगाई है  जिससे राष्ट्र को निवल मूल्य के मामले में अमेरिका से आगे निकल गया। 

अमेरिका के नीचे आने का क्या है कारण

अमेरिका की संपत्ति में भी काफी इजाफा हुआ है। बता दें कि, बीते 20 सालों में अमेरिकी की संपत्ति दोगुनी से ज्यादा बढ़ गई है। साल 2000 में अमेरिका की संपत्ति 90 खरब डॉलर थी। रिपोर्ट के मुताबिक, प्रॉपर्टी के दामों में वृद्धि चीन के मुकाबले बहुत कम रही है। जिसके कारण अमेरिका का पायदान खिसक गया है और चीन का परचम लहरा रहा है।