कोरोना का कहर? उत्तर कोरिया में 2,20,000 और लोगों में बुखार के लक्षण

Corona
ani
उत्तर कोरिया ने शनिवार को कहा कि करीब 2,20,000 और लोगों में बुखार के लक्षण पाए गए हैं। वहीं, उसके नेता किम जोंग उन ने कोविड-19 के प्रसार को धीमा करने में प्रगति होने का दावा किया है। देश की 2.6 करोड़ की आबादी ने कोविड-19 रोधी टीके की खुराक नहीं ली है।

सियोल। उत्तर कोरिया ने शनिवार को कहा कि करीब 2,20,000 और लोगों में बुखार के लक्षण पाए गए हैं। वहीं, उसके नेता किम जोंग उन ने कोविड-19 के प्रसार को धीमा करने में प्रगति होने का दावा किया है। देश की 2.6 करोड़ की आबादी ने कोविड-19 रोधी टीके की खुराक नहीं ली है। कोरोना वायरस के इस प्रसार ने दुनिया की सबसे खराब स्वास्थ्य प्रणाली वाले गरीब और अलग-थलग पड़े देश में गंभीर स्थिति को लेकर चिंता पैदा कर दी है। विशेषज्ञों का कहना है कि उत्तर कोरिया संक्रमण के प्रसार के सही पैमाने को कमतर कर रहा है।

इसे भी पढ़ें: बांग्लादेशी नागरिक को TMC ने लड़ा दिया चुनाव? HC ने दिए जांच के आदेश, बीजेपी ने कहा- रद्द होना चाहिए रजिस्ट्रेशन

उत्तर कोरिया की सेंट्रल न्यूज एजेंसी के अनुसार, शुक्रवार को शाम छह बजे तक 24 घंटे में उत्तर कोरिया के करीब 2,19,030 लोगों में बुखार के लक्षण पाए गए। लगातार पांचवें दिन बुखार के मरीजों में यह करीब 2,00,000 मामलों की वृद्धि है। उत्तर कोरिया ने कहा कि अप्रैल के अंत से तेजी से फैल रहे अज्ञात बुखार के कारण 24 लाख से अधिक लोग बीमार पड़ गए हैं और 66 लोगों की मौत हो चुकी है। किम ने शहरों के बीच यात्रा पर सख्त पाबंदियां भी लगायी है और राजधानी प्योंगयांग में दवा की दुकानों तक दवाइयों को पहुंचाने में मदद के लिए हजारों सैनिकों को तैनात किया है। राजधानी प्योंगयांग इस संक्रमण का केंद्र है।

इसे भी पढ़ें: योगी बोले- नकारात्मकता कभी किसी जनप्रतिनिधि को आगे नहीं बढ़ा सकती, जनता सब जानती है

किम ने शनिवार को सत्तारूढ़ पार्टी पोलितब्यूरो की बैठक में कहा कि देश में संक्रमण का प्रसार नियंत्रण में है। उन्होंने आर्थिक परेशानियों को कम करने के लिए महामारी संबंधी पाबंदियों में छूट देने का भी संकेत दिया। सरकारी मीडिया द्वारा जारी वीडियो में शनिवार को उत्तर कोरिया के शीर्ष सैन्य अधिकारी ह्योन चोल हेइ के अंतिम संस्कार के दौरान किम को रोते हुए भी देखा गया। ऐसा माना जाता है कि किम जोंग द्वितीय के शासन के दौरान उनके बेटे किम को भविष्य के नेता के तौर पर तैयार करने में चोल हेइ की अहम भूमिका थी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़