कोरोना के नए मामलों से परेशान हुआ चीन, मॉल और रिहायशी इलाके किए बंद

कोरोना के नए मामलों से परेशान हुआ चीन, मॉल और रिहायशी इलाके किए बंद

बीजिंग यूथ डेली की रिपोर्ट के अनुसार कोविड​​​​-19 से संक्रमित के करीबी संपर्क वाले व्यक्ति के मॉल में प्रवेश के बाद राजधानी के डोंगचेंग में रैफल्स सिटी मॉल को 10 नवंबर शाम को बंद कर दिया गया था। मॉल से बाहर कर्मचारियों और ग्राहकों को तब तक बाहर जाने नहीं दिया गया जब तक कि उनका टेस्ट नहीं कर लिया गया।

चीन की राजधानी बीजिंग में कोरोना की दस्तक एक बार फिर से होने लगी है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार राजधानी बीजिंग के कई जिलों में कोरोना फिर से पैर पसारने लगा है। आलम ये है कि स्थानीय प्रशासन द्वारा वहां की मॉल को सील किया गया और कई आवासीय परिसरों को भी बंद किया गया। स्थानीय मीडिया के अनुसार बीजिंग के केंद्रीय जिलों चाओयांग और हैडियन में 11 नवंबर को कोरोना के छह नए मामले पाए गए। रिपोर्टों के अनुसार, छह मामले उत्तरपूर्वी जिलिन प्रांत में हाल ही में संक्रमित लोगों के निकट संपर्क के थे।

इसे भी पढ़ें: Prabhasakshi's NewsRoom| LAC के पार चीनी निर्माण को लेकर CDS और विदेश मंत्रालय के बयानों में दिखा विरोधाभास !

बीजिंग यूथ डेली की रिपोर्ट के अनुसार कोविड​​​​-19 से संक्रमित के करीबी संपर्क वाले व्यक्ति के मॉल में प्रवेश के बाद राजधानी के डोंगचेंग में रैफल्स सिटी मॉल को 10 नवंबर शाम को बंद कर दिया गया था। मॉल से बाहर कर्मचारियों और ग्राहकों को तब तक बाहर जाने नहीं दिया गया जब तक कि उनका टेस्ट नहीं कर लिया गया।सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म वीबो पर साझा किए गए वीडियो में शॉपिंग सेंटर के अंदर परीक्षण के लिए लाइन में खड़े दुकानदारों की भीड़ दिखाई दे रही है।

इसे भी पढ़ें: एलएसी के अपनी ओर गांव बना रहा है चीन, कोई अतिक्रमण नहीं: सीडीएस

चीनी अधिकारी जीरो कोविड पॉलिसी का पालन कर रहे हैं, जिसका उद्देश्य मामलों को उत्तपन्न होते ही उसे भांप कर खत्म करना है। जिसकी एक बड़ी वजह बीजिंग द्वारा फरवरी में शीतकालीन ओलंपिक की मेजबानी करना हो सकता है। ताजा मामला बीजिंग में कम्युनिस्ट पार्टी के शीर्ष नेताओं की उच्च-स्तरीय बैठक के दौरान देखने को मिला। बीजिंग के स्वास्थ्य अधिकारियों ने एक ब्रीफिंग में कहा कि 280 से अधिक कोविड-19  संक्रमित के करीबी संपर्कों की पहचान की गई है, जिसमें चाओयांग और हैडियन दोनों जिलों में लगभग 12,000 लोगों का टेस्ट किया गया। सरकार के प्रवक्ता जू हेजियान ने कहा कि यह क्लस्टर प्रकोप अचानक हुआ था जिसमें कई जगह एक बड़े क्षेत्र को कवर किया गया था। इसमें बहुत से लोग शामिल हैं और यहां रोकथाम और नियंत्रण बहुत मुश्किल है। बता दें कि 10 नवंबर को चीन ने 98,001 कोविड-19 मामलों की पुष्टि लक्षणों के साथ की थी, जिनमें स्थानीय रूप से प्रसारित मामले और विदेश से आने वाले लोग और कुल 4,636 मौतें शामिल थीं।






Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...