फिनलैंड पर अंधेरे में डूबने का मंडरा रहा खतरा, बिजली सप्लाई रोकेगा रूस

फिनलैंड पर अंधेरे में डूबने का मंडरा रहा खतरा, बिजली सप्लाई रोकेगा रूस

मीडिया रिपोर्ट की माने तो रूसी सरकारी एजेंसी इंटर राओ फ़िनलैंड को सप्लाई की जाने वाली बिजली को बंद करने जा रहा है। इसके पीछे की वजह बकाया भुगतान का न किया जाना बताया जा रहा है। खबरों की माने तो 6 मई के बाद से पैन यूरोपियन एक्सचेंज नॉर्थ पूल के माध्यम से बेची गई बिजली का भुगतान नहीं किया गया है।

रूस और यूक्रेन के बीच जंग के तीन महीने होने को हैं। लेकिन इस जंग के न ही जल्द खगम होने के आसार नजर आ रहे हैं और न ही रूस और नाटो के बीच की तनातनी कम होने का नाम ले रही है। फिनलैंड और स्वीडन के उत्तर अटलाटिंक संधि संगठन (नाटो) में शामिल होने के ऐलान से अब उत्तरी यूरोप में माहौल तनावपूर्ण होता जा रहा है। फिनलैंड को रूस ने धमकी देते हुए सैन्य कार्रवाई के लिए मजबूर न करने की बात कही है। अब खबर है कि रूस फ़िनलैंड को सप्लाई की जाने वाली बिजली रोकने जा रहा है।

इसे भी पढ़ें: कोई अनुमान नहीं लगा सकता कि युद्ध कब तक चलेगा, रशिया के साथ युद्ध पर जेलेंस्की का बयान

मीडिया रिपोर्ट की माने तो रूसी सरकारी एजेंसी इंटर राओ फ़िनलैंड को सप्लाई की जाने वाली बिजली को बंद करने जा रहा है। इसके पीछे की वजह बकाया भुगतान का न किया जाना बताया जा रहा है। खबरों की माने तो 6 मई के बाद से पैन यूरोपियन एक्सचेंज नॉर्थ पूल के माध्यम से बेची गई बिजली का भुगतान नहीं किया गया है। डेलीमेल की खबर के मुताबिक फ़िनलैंड पर अंधेरे का खतरा मंडरा रहा है। इससे पहले ही मॉस्को की तरफ से गैस सप्लाई में कटौती की तैयारी कर रहा है। 

इसे भी पढ़ें: फिनलैंड और स्वीडन ने नाटो में शामिल होने की इच्छा तो जता दी है, पर क्या ऐसा हो पायेगा?

नाटो में शामिल होगा फिनलैंड

फिनलैंड के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने घोषणा की कि नॉर्डिक देश को नाटो में सदस्यता के लिए तुरंत आवेदन करना चाहिए। फिनलैंड के राष्ट्रपति सौली नीनिस्टो ने इस सप्ताह कहा था, ‘‘आपकी (रूस) वजह से यह हुआ है। अपने आप को शीशे में देखो।’’ इस घोषणा का मतलब है कि फिनलैंड ने नाटो की सदस्यता लेने का अब पूरी तरह मन बना लिया है, लेकिन आवेदन प्रक्रिया शुरू होने से पहले कुछ कार्रवाई अभी बाकी हैं।