पुतिन इज हिटलर! रूस की जनता राष्ट्रपति पुतिन के खिलाफ सड़कों पर उतरी, यूक्रेन के खिलाफ युद्ध खत्म करने के लगाए नारे

पुतिन इज हिटलर! रूस की जनता राष्ट्रपति पुतिन के खिलाफ सड़कों पर उतरी, यूक्रेन के खिलाफ युद्ध खत्म करने के लगाए नारे

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन द्वारा यूक्रेन के खिलाफ युद्ध की घोषणा के कुछ ही देर बाद, देश भर के रूसी नागरिक उनके कार्यों की निंदा करने के लिए सड़कों पर उतर आए। गुरुवार शाम मास्को के केंद्र में 1,000 से अधिक लोग 'युद्ध नहीं चाहुए' के नारे लगाते हुए इकठ्ठा हुए।

विश्व में इस समय तीसरे विश्व युद्ध का खतरा मंडरा रहा है क्योंकि दुनिया की दूसरी ताकत रूस ने यूक्रेन के खिलाफ जंग छेड़ दी है। रूस ने यूक्रेन का राजधानी पर सिलसिलेवार तरीके से लगातार बमबारी करके युद्ध की घोषणा की। यूक्रेन में रूसी सैनिको ने कब्जा करना शुरू कर दिया है। मीडिया के जरिए यूक्रेन के हालात को पूरा विश्व देख रहा है। युद्ध के दौरान कमजोर देश की क्या स्थिति हो जाती है इसका गवाह यूक्रेन बन रहा है। यूक्रेन के लोग की जिंदगी पर बन आयी है शहर में अफरा-तफरी मची हुई है। अब तक यूक्रेन के 137 आम नागरिकों के मारे जाने की खबर आयी है। वहीं यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की ने दावा किया है कि अब तक 800 रूसी सैनिकों को मार दिया गया है।रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के यूक्रेन के खिलाफ युद्ध के फैसले को लेकर पूरी दुनिया में उनकी आलोचना हो रही है। दुनिया के साथ-साथ रूस को अपने ही देश के लोगों का विरोध भी सहना पड़ रहा है। पुत्न की तुलना हिटलर से की जा रही हैं।

 

रूस  की जनता पुतिन के खिलाफ सड़को पर उतरी 

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन द्वारा यूक्रेन के खिलाफ युद्ध की घोषणा के कुछ ही देर बाद, देश भर के रूसी नागरिक उनके कार्यों की निंदा करने के लिए सड़कों पर उतर आए। गुरुवार शाम मास्को के केंद्र में 1,000 से अधिक लोग "युद्ध नहीं चाहुए" के नारे लगाते हुए इकठ्ठा हुए। लोगों ने सड़को पर पुतिन के खिलाफ प्रदर्शन किया। उन्होंने युद्ध खत्म करने की मांग की। प्रदर्शनकारी स्थानीय समयानुसार शाम करीब 7 बजे (16:00 GMT) ऐतिहासिक गोस्टिनी ड्वोर शॉपिंग आर्केड के बाहर सेंट पीटर्सबर्ग सहित कई अन्य शहरों में भी सड़कों पर उतरे। भारी पुलिस बल की पृष्ठभूमि में कुछ लोगों ने राष्ट्रपति की कठोर निंदा की। एसोसिएटेड प्रेस ने बताया कि 54 रूसी शहरों में करीब 1,745 लोगों को हिरासत में लिया गया था, जिनमें से कम से कम 957 मास्को में थे।

दुनिया भर में युद्ध विरोधी विरोध प्रदर्शन

न केवल रूस, बल्कि यूक्रेन के आक्रमण की निंदा करने के लिए गुरुवार को टोक्यो से तेल अवीव और न्यूयॉर्क तक के शहरों में सार्वजनिक चौकों और रूसी दूतावासों के बाहर प्रदर्शनकारी निकले। स्विस राजधानी बर्न में, सैकड़ों लोग यूक्रेन के झंडे पकड़े हुए और "यूक्रेन के लिए शांति!" का नारा लगाते हुए एकत्र हुए। संयुक्त राष्ट्र के यूरोपीय मुख्यालय के बाहर नोबेल शांति पुरस्कार विजेता अंतर्राष्ट्रीय अभियान टू एबोलिश न्यूक्लियर वेपन्स (ICAN) द्वारा आयोजित जिनेवा में एक छोटा सा प्रदर्शन, समूह ने जो कहा वह परमाणु हथियारों का उपयोग करने के लिए पुतिन की धमकी की निंदा करता है।

अन्य प्रदर्शन बेरूत, तेल अवीव, डबलिन और प्राग में आयोजित किए गए। ओवीडी-इन्फो राइट्स मॉनिटर ने कहा कि गुरुवार को 19:39 जीएमटी तक, पुलिस ने रूस के 53 शहरों में 1,667 से कम लोगों को हिरासत में लिया था। तास समाचार एजेंसी ने बताया कि अकेले मास्को में छह सौ लोगों को गिरफ्तार किया गया।