अमेरिका में इमरान खान ने मुगल साम्राज्य का हवाला देते हुए विपक्ष पर कसा तंज

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jul 22 2019 5:20PM
अमेरिका में इमरान खान ने मुगल साम्राज्य का हवाला देते हुए विपक्ष पर कसा तंज
Image Source: Google

भारत में मुगल साम्राज्य के पतन का हवाला देते हुए प्रधानमंत्री इमरान खान ने पाकिस्तान की वर्तमान स्थिति के लिए विपक्षी दलों पर प्रहार किया और उन पर प्रतिभा के स्थान पर वंशवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाया। अमेरिका की पहली यात्रा पर आये खान ने रविवार को वाशिंगटन में प्रवासी पाकिस्तानियों को संबोधित किया और उनसे कहा कि उनकी सरकार ने निर्वाचित नेताओं को जवाबदेह बनाने के लिए कदम उठाए हैं।

वाशिंगटन। भारत में मुगल साम्राज्य के पतन का हवाला देते हुए प्रधानमंत्री इमरान खान ने पाकिस्तान की वर्तमान स्थिति के लिए विपक्षी दलों पर प्रहार किया और उन पर प्रतिभा के स्थान पर वंशवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाया। अमेरिका की पहली यात्रा पर आये खान ने रविवार को वाशिंगटन में प्रवासी पाकिस्तानियों को संबोधित किया और उनसे कहा कि उनकी सरकार ने निर्वाचित नेताओं को जवाबदेह बनाने के लिए कदम उठाए हैं। इस संबंध में उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी जैसे विपक्षी नेताओं पर की गयी कार्रवाई का उल्लेख किया।

इसे भी पढ़ें: US में इमरान खान का उड़ा मजाक, भाषण के दौरान लगे ये नारे!

पिछले साल अगस्त में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री निर्वाचित हुए खान ने कहा, ‘‘ पाकिस्तान में आज जो कुछ हो रहा है, वह नया पाकिस्तान है। वहां अब प्रभावशाली व्यक्तियों को जवाबदेह ठहराया जा रहा है।’’ क्रिकेट से राजनीति में आये खान ने कहा कि वह देश में प्रतिभा को उचित जगह दिलाने की व्यवस्था लाने के लिए कटिबद्ध हैं। अपने भाषण में उन्होंने अपनी बात को स्पष्ट करने के लिए मुगल साम्राज्य का उदाहरण दिया। उन्होंने कहा, ‘‘मुस्लिम जगत पीछे क्यों रह गया? उसकी वजह है। मुगल साम्राज्य कभी शिखर पर था लेकर उसका पतन हो गया क्योंकि वंशवादी उत्तराधिकारियों में नेतृत्व क्षमता नहीं थी।’’

इसे भी पढ़ें: अमेरिका में बोले PM इमरान खान- पाकिस्तान तैयार करेगा दुनिया की ‘सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट टीम’



खान ने कहा कि भारत, मुगल साम्राज्य के दौरान दुनिया में महा ताकत था। उन डेढ़ सौ सालों में भारत की जीडीपी दुनिया की जीडीपी से 25 फीसद अधिक थी। लेकिन जल्द ही वह लुढ़क गया क्योंकि औरंगजेब के बाद मुगल साम्राज्य के उत्तराधिकारी उतने काबिल नहीं थे।’’ खान को विरासत में आर्थिक एवं वित्तीय संकट मिला है। उन्होंने चीन और सऊदी अरब से बहुत ऋण लिया है। इमरान खान की सरकार के सत्ता संभालने के बाद पाकिस्तान ने अगस्त, 2018 में अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष से राहत पैकेज मांगा था। उसके पास फिलहाल आठ अरब डालर से भी कम का आरक्षी कोष है जो 1.7 फीसद से भी कम महीने के निर्यात से निपटने के लायक है। खान ने अपने दो राजनीतिक विरोधियों शरीफ और जरदारी पर खूब निशाना साधा। 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video