ईरान के रिवॉल्यूशनरी गार्ड ने इराक में कुर्द अलगाववादियों के ठिकानों को बनाया निशाना

Iran
Creative Common
एक अर्धसरकारी समाचार एजेंसी ‘तस्नीम’ ने यह खबर दी। सप्ताहांत के बाद से यह इस तरह का दूसरा सीमा पार हमला है। यह हमले ईरान की धर्माचार पुलिस द्वारा हिरासत में ली गई 22 वर्षीय ईरानी कुर्द युवती महसा अमीनी की मौत के बाद हुए प्रदर्शनों के बीच किए गए हैं।

दुबई। ईरान के रिवॉल्यूशनरी गार्ड ने सोमवार को उत्तरी इराक में ईरानी कुर्द अलगाववादियों के कथित ठिकानों को निशाना बनाकर ड्रोन और तोपों से हमले किए। एक अर्धसरकारी समाचार एजेंसी ‘तस्नीम’ ने यह खबर दी। सप्ताहांत के बाद से यह इस तरह का दूसरा सीमा पार हमला है। यह हमले ईरान की धर्माचार पुलिस द्वारा हिरासत में ली गई 22 वर्षीय ईरानी कुर्द युवती महसा अमीनी की मौत के बाद हुए प्रदर्शनों के बीच किए गए हैं। 

इसे भी पढ़ें: ईरान ने भारतीय कंपनियों को गैस क्षेत्र में 30 प्रतिशत हिस्सेदारी की पेशकश की

रिवॉल्यूशनरी गार्ड ने कहा कि शनिवार को उसने उत्तरी इराक में कुर्द अलगाववादी समूहों के अड्डों और प्रशिक्षण शिविरों को निशाना बनाया था। उसने दावा किया है कि इससे इन समूहों को भारी नुकसान हुआ है। अमीनी की मौत के बाद शुरू हुए प्रदर्शन कम से कम 46 शहरों, कस्बों और गांवों में फैल चुके हैं। ईरान के सरकारी टीवी ने खबर दी है कि 17 सितंबर को प्रदर्शन शुरू होने के बाद से कम से कम 41 प्रदर्शनकारियों और पुलिसकर्मियों की मौत हो चुकी है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़