पाकिस्तान में विनाशकारी बाढ़ के कारण एक हजार से ज्यादा लोगों की मौत

Pakistan remains on high alert
Google Creative Commons
पाकिस्तान में विनाशकारी बाढ़ के कारण मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर एक हजार से ज्यादा हो गई है। रविवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे में देशभर में बाढ़ से संबंधित घटनाओं में 119 लोगों की मौत हो गई।

(सज्जाद हुसैन) इस्लामाबाद, 29 अगस्त। पाकिस्तान में विनाशकारी बाढ़ के कारण मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर एक हजार से ज्यादा हो गई है। रविवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे में देशभर में बाढ़ से संबंधित घटनाओं में 119 लोगों की मौत हो गई। पाकिस्तान में 14 जून से जारी भारी बारिश के कारण आई बाढ़ से स्थिति भयावह हो गई है और देश के दक्षिण तथा दक्षिण पश्चिम क्षेत्र के मैदानी इलाके जलमग्न हैं। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) ने रविवार को कहा कि पिछले 24 घंटों में 119 लोगों की मौत हुई है।

एनडीएमए ने कहा, “पाकिस्तान में अब तक 1,033 लोगों की मौत हो चुकी है और 1,527 लोग घायल हुए हैं।” प्राधिकरण ने कहा कि गत एक दिन में सर्वाधिक संख्या में लोगों की मौत सिंध प्रांत में हुई, जहां 76 लोगों ने जान गंवाई। देशभर में पिछले 24 घंटों में बाढ़ जनित घटनाओं के कारण 71 लोग घायल हो गए। सिंध में अब तक 347, बलूचिस्तान में 238, खैबर पख्तूनख्वा में 226, पंजाब में 168, पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में 38, गिलगित बल्टिस्तान में 15 और इस्लामाबाद में एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है। बाढ़ से 3451.5 किलोमीटर सड़कें क्षतिग्रस्त हुई हैं।

इसके अलावा 147 पुल बह गए, 170 दुकानें नष्ट हो गई और 9,49,858 मकान आंशिक रूप से या पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए। बाढ़ की विभीषिका से निपटने के लिए संयुक्त राष्ट्र 30 अगस्त को पाकिस्तान को 16 करोड़डॉलर की सहायता जारी कर सकता है। ब्रिटेन ने भी सहायता के लिए 15 लाख पौंड देने की घोषणा की है। मुस्लिम देशों में संयुक्त अरब अमीरात (यूएई), तुर्की और ईरान ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ से टेलीफोन पर बात कर सहायता देने की पेशकश की है। संयुक्त अरब अमीरात की डब्ल्यूएएम समाचार एजेंसी के अनुसार, राष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाह्यान ने पाकिस्तान को तत्काल सहायता जारी करने का आदेश दिया है। यूएई ने तीन हजार टन खाद्य सामग्री, चिकित्सा आपूर्ति और तंबू आदि भेजे हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़