OIC मीटिंग को लेकर पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने भारत पर लगाया बड़ा आरोप

shah mehmood qureshi
निधि अविनाश । Mar 22, 2022 5:31PM
पाकिस्तान 22-23 मार्च को ओआईसी के विदेश मंत्रियों की परिषद के 48वें सत्र की मेजबानी करने जा रहा है। ओआईसी की इस बैठक से पहले शाह ने मीडिया से बातचीत के दौरान मुस्लिम देशों से एकजुट होने की अपील की थी और कहा था कि, अगर हम बंट गए तो दो अरब मुसलमान मायूस हो जाएंगे।

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने भारत पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा है कि, भारत इस्लामिक सहयोग संगठन की बैठक को सबोटेज करना चाहता था। कुरैशी ने भारत पर इल्जाम लगाते हुए आगे कहा कि, भारत ने इस बैठक को रोकने की बहुत कोशिश की थी लेकिन वह सफल नहीं हो पाया। जानकारी के लिए बता दें कि, पाकिस्तान 22-23 मार्च को ओआईसी के विदेश मंत्रियों की परिषद के 48वें सत्र की मेजबानी करने जा रहा है। ओआईसी की इस बैठक से पहले शाह ने मीडिया से बातचीत के दौरान मुस्लिम देशों से एकजुट होने की अपील की थी और कहा था कि, अगर हम बंट गए तो दो अरब मुसलमान मायूस हो जाएंगे। लेकिन हम एकजुट रहे तो 15 मार्च को इस्लामोफोबिया-डे जैसी तमाम सफलताएं मिलेंगी. भारत को लेकर कुरैशी ने कहा कि, पाकिस्तान में हो रही ओआईसी बैठक को रोकने की बहुत कोशिश की गई थी।

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान में OIC के विदेश मंत्रियों की बैठक शुरू, चीन के विदेश मंत्री ने की शिरकत

विपक्षी पार्टियों पर हमला करते हुए उन्होंने आगे कहा कि, भारत और हमारे कुछ अपने नहीं चाहते थे कि यह बैठक न हो। कुरैशी ने आगे कहा कि, उन्हें समझना चाहिए कि, जो कुछ हो रहा है वो किसी पार्टी के लिए नहीं बल्कि अपने देश के लिए हो रहा है। भारत की तमाम रुकावच के बावजूद ये बैठाक हो रही है। जानकारी के लिए बता दें कि, इस ओआईसी बैठक में  पाकिस्तान ने भारत के सर्वदलीय हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के चेयरमैन को आमंत्रित किया था जिसका भारत ने कड़ा विरोध किया था। भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने उम्मीद जताते हुए कहा कि, इस बैठक में भारत-विरोधी गतिविधियों और आतंकवाद में शामिल रहने वालों को बढ़ावा नहीं दिया जाना चाहिए और हम ऐसी चीजों को बहुत गंभीरता से लेते है।

अन्य न्यूज़