पाकिस्तानी PM ने समरकंद में करा ली अपनी फजीहत, हंसने से खुद को नहीं रोक पाए पुतिन

putin shehbaz
ANI
अंकित सिंह । Sep 16, 2022 1:32PM
व्लादिमीर पुतिन रूसी भाषा में बोलते हैं। ऐसे में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के लिए ट्रांसलेटर की आवश्यकता थी। पुतिन ने तुरंत ही इस प्रक्रिया का पालन किया। उन्होंने अपने कान में ट्रांसलेटर लगाया और बोलना प्रारंभ कर दिया।

शंघाई सहयोग संगठन की बैठक में शामिल होने के लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ उज्बेकिस्तान के समरकंद पहुंचे हैं। इस दौरान रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से उनकी द्विपक्षीय मुलाकात चल रही थी। हालांकि, मुलाकात के दौरान की एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है। वायरल वीडियो पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ की फजीहत वाला है। दरअसल, शहबाज शरीफ के कान पर लगा ट्रांसलेटर बार-बार गिर जा रहा है। इसको लगातार शहबाज शरीफ संभालने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन वह संभाल नहीं पा रहे हैं। इस दौरान रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन भी काफी हंसते दिखाई दे रहे हैं। यह वीडियो सोशल मीडिया पर जबरदस्त तरीके से वायरल है। इस वीडियो में शहबाज शरीफ यह भी कहते सुने जा रहे हैं कि क्या कोई मेरी मदद करेगा?

इसे भी पढ़ें: SCO की बैठक में बोले PM मोदी, भारत को मैन्युफैक्चरिंग हब बनाने की कोशिश जारी

दरअसल, व्लादिमीर पुतिन रूसी भाषा में बोलते हैं। ऐसे में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के लिए ट्रांसलेटर की आवश्यकता थी। पुतिन ने तुरंत ही इस प्रक्रिया का पालन किया। उन्होंने अपने कान में ट्रांसलेटर लगाया और बोलना प्रारंभ कर दिया। लेकिन शहबाज शरीफ इस प्रक्रिया के दौरान अपनी फजीहत कराते नजर आए। ट्रांसलेटर बार-बार उनके कानों से गिर रहा था। वह उसे संभाल नहीं पा रहे थे। बाद में उन्होंने मदद मांगी। पाकिस्तान का एक अफसर उनके पास गया और कान में ट्रांसलेटर लगाया। पुतिन ने भी इशारों में यह बताने की कोशिश की है कि ट्रांसलेटर लगाने का सही तरीका क्या है। हालांकि, बाद में ट्रांसलेटर लगाने में सफलता मिली।

इसे भी पढ़ें: SCO में नरेंद्र मोदी से मिलने जा रहे हैं पुतिन, डोनाल्ड ट्रंप दे रहे हैं भारत और अमेरिका की दोस्ती की दुहाई

सूत्रों के मुताबिक शहबाज शरीफ और व्लादिमीर पुतिन के बीच कई मुद्दों पर बातचीत हुई है। खबर के मुताबिक गैस पाइपलाइन को लेकर भी दोनों राष्ट्र अध्यक्षों के बीच बातचीत हुई है। हालांकि, इससे पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने एक सम्मेलन में कहा था कि अपने मित्र देशों के पास हम जाते हैं तो हमें भिखारी समझ लिया जाता है। उन्हें लगता है कि हम उनके पास पैसे मांगने जा रहे हैं। एससीओ की बैठक में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी समरकंद पहुंचे हैं। उनकी मुलाकात भी पुतिन से हो सकती है।

अन्य न्यूज़