कर्ज से डूबा पाकिस्तान हुआ और कंगाल, डॉलर के मुकाबले हुई रिकॉर्ड गिरावट

कर्ज से डूबा पाकिस्तान हुआ और कंगाल, डॉलर के मुकाबले हुई रिकॉर्ड गिरावट
Google common license

23 अप्रैल की एक रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान के केंद्रीय बैंक ने स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान के साथ विदेशी मुद्रा भंडार में गोता लगाया है। अर्थशास्त्रियों के मुताबिक, विदेशी मुद्रा भंडार को कम करने से पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था पर भारी दबाव पड़ सकता है।

डॉलर के मुकाबले पाकिस्तानी रुपये में गिरावट आ गई है। खबरों के मुताबिक, इससे पहले कभी भी पाकिस्तान की करेंसी की कीमत इतनी कम नहीं हुई थी। पाकिस्तान में स्थानीय समाचार सूत्रों के अनुसार, मंगलवार को डॉलर में एक ही बार में सीधे 72 पैसे की गिरावट देखने को मिली है। वर्तमान में यह 187.35 पैसे प्रति डॉलर पर कारोबार कर रहा है। फॉरेक्स डीलर्स का दावा है कि लाहौर के खुले बाजार में एक डॉलर पाकिस्तानी रुपए से ऊपर बिक रहा है। 

इसे भी पढ़ें: वेस्ट बैंक में अल जजीरा की महिला पत्रकार की फायरिंग में मौत, सिर पर मारी गोली

बताते चले कि किसी भी देश की आर्थिक स्थिति इस बात पर निर्भर करती है कि उसके पास कितनी विदेशी मुद्रा है। 23 अप्रैल की एक रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान के केंद्रीय बैंक ने स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान के साथ विदेशी मुद्रा भंडार में गोता लगाया है। अर्थशास्त्रियों के मुताबिक, विदेशी मुद्रा भंडार को कम करने से पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था पर भारी दबाव पड़ सकता है।

इसे भी पढ़ें: Prabhasakshi Newsroom। श्रीलंका में शूट-ऑन-साइट का ऑर्डर, सैनिक भेजने की खबरों का भारत ने किया खंडन

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान हाल ही में सत्ता से हटे हैं और नए प्रधानमंत्री अब शाहबाज शरीफ हैं, जो अविश्वास मत के माध्यम से इमरान को पद से हटा कर सत्ता में आए हैं। प्रधानमंत्री के रूप में, शाहबाज ने कहा कि उनकी सरकार इमरान की तरह भ्रष्ट नहीं होगी। उन्होंने यह भी दावा किया कि पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था का विकास होगा। भारतीय रुपया हाल ही में डॉलर के मुकाबले रिकॉर्ड निचले स्तर पर पहुंच गया है। एक दिन में 1 डॉलर की कीमत 54 पैसे बढ़कर 7.44 रुपये हो गई। फिलहाल एक भारतीय रुपये की कीमत दो रुपये 45 पैसे पाकिस्तानी रुपये है।