PM मोदी अमेरिकी राष्ट्रपति को बाइडेन से मिलवाएंगे! जानिए 'बाइडेन फ्रॉम मुंबई' की दिलचस्प कहानी

PM मोदी अमेरिकी राष्ट्रपति को बाइडेन से मिलवाएंगे! जानिए 'बाइडेन फ्रॉम मुंबई' की दिलचस्प कहानी

पीएम मोदी और जो बाइडेन की बैठक में एक बार फिर से अमेरिकी राष्ट्रपति के मुंबई कनेक्शन का जिक्र हुआ। अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस का भारतीय कनेक्शन के बारे में तो आपने कई बार सुना होगा लेकिन क्या आपको पता है जो बाइडेन के भी रिश्तेदार मुंबई में रहते हैं जिसका जिक्र वह पहले भी कई बार कर चुके हैं।

दुनिया की दो महाशक्तियों के शीर्ष नेता साथ बैठे और तमाम मुद्दों पर चर्चा की, जो अमेरिका और भारत के लिहाज से अहम हैं। राष्ट्रपति बनने के बाद जो बाइडेन से पीएम मोदी की पहली मुलाकात रही। जिसकी वजह से दुनिया भर की निगाहें इस मुलाकात पर टिकी थी। पीएम मोदी और जो बाइडेन की बैठक में एक बार फिर से अमेरिकी राष्ट्रपति के मुंबई कनेक्शन का जिक्र हुआ। अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस का भारतीय कनेक्शन के बारे में तो आपने कई बार सुना होगा लेकिन क्या आपको पता है जो बाइडेन के भी रिश्तेदार मुंबई में रहते हैं जिसका जिक्र वह पहले भी कई बार कर चुके हैं। आज पीएम मोदी ने भी इसका उल्लेख कर कहा कि वह कुछ कागजात लेकर आए हैं जो शायद बाइडेन के काम आए।

इसे भी पढ़ें: राहुल गांधी पर भाजपा ने किया पलटवार, कहा- उन्हें गंभीरता से नहीं लेना चाहिए

1972 में आया था बाइडेन फ्रॉम मुंबई वाला पत्र

1972 में पहली बार सीनेटर चुने जाने के बाद मुंबई से बाइडेन के पास कई बधाई संदेश आये थे। बधाई संदेश भेजने वाले ने चिट्ठी पर लिखा था 'बाइडेन फ्रॉम मुंबई'।चिट्ठी में लिखा था कि वो उनका रिश्तेदार है, और दोनों के बीच बहुत पुराना रिश्ता है। 1972 में सिर्फ 29 साल के जो बाइडेन उस बधाई संदेश को पढ़कर भावुक हो गये और मुंबई में रहने वाले अपने उस रिश्तेदार से मिलने के लिए कोशिश करने लगे। हालांकि वो इसमें सफल नहीं हो पाए।

भारत दौरे पर किया था जिक्र

जो बाइडेन 2013 में भारत के दौरे पर थे तब मुंबई में गए थे। तब उन्होंने कहा था कि उनके दूर के रिश्तेदार मुंबई में रहते हैं। 2 साल बाद वाशिंगटन में एक कार्यक्रम में अपना दावा दोहराते हुए उन्होंने कहा था मुंबई में 5 बाइडेन रहते हैं। सीनेट सदस्य बनने के बाद बाइडेन उपनाम वाले व्यक्ति ने उन्हें चिट्ठी भी लिखी थी। इस घटना के दशकों बाद बाइडेन को पता चला कि उनके पिता के वंश में पहले कोई पूर्वज ईस्ट इंडिया कंपनी में काम करता था। तत्कालीन उपराष्ट्रपति जो बाइडेन ने 2015 में सभा में कहा था कि भारत के मुंबई में 5 बाइडेन हैं। बाइडेन ने दावा किया था कि उनके पिता के वंश में कई पीढ़ी पहले जॉर्ज बाइडेन नामक कप्तान थे जो ईस्ट इंडिया कंपनी में काम करते थे और सेवानिवृत्त होने के बाद उन्होंने भारतीय महिला से शादी करने और भारत में बसने का फैसला कर लिया था। बाइडेन ने यह भी कहा था कि किसी ने उन्हें मुंबई में रहने वाले बाइडेन के फोन नंबर भी उपलब्ध कराए थे हालांकि उन पांच बाइडेन में से कोई भी सामने नहीं आया। 

इसे भी पढ़ें: व्हाइट हाउस में PM मोदी संग जो बाइडेन की बैठक, अमेरिकी राष्ट्रपति बोले- भारत से बेहतर संबंध के लिए प्रतिबद्ध हूं

पीएम मोदी ने कहा- कागजात लेकर आया हूं, शायद, आपके काम आए

पीएम मोदी ने बाइडेन उपनाम वाली बात का जिक्र करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति से कहा कि वो इससे संबंधित कुछ कागजात साथ लेकर आये हैं, जो हो सकता है उनके काम आए। पीएम मोदी ने कहा कि आपने भारत में बाइडेन सरनेम के लोगों के संदर्भ में जिक्र किया था। आपने मेरे साथ भी इस बात का उल्लेख किया था। पीएम मोदी ने कहा कि इस बारे में मैंने काफी कुछ कागजात खोजने की कोशिश की है। कागजात में लेकर भी आया हूं हो सकता है शायद उनमें से आगे का कुछ निकल आए आपको कुछ काम आए।






Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...