प्योंगयांग और बीजिंग के संबंध ‘अजेय’ हैं, दोनों ने झेला है जापान के औपनिवेशिक शासन का दंश

pyongyang-and-beijing-are-unbelievable-both-have-survived-the-sting-of-japan-colonial-rule
व्यापार को लेकर चीन और अमेरिका के बीच जारी गतिरोध की पृष्ठभूमि में बीजिंग ट्रंप को यह समझाना चाहता है कि परमाणु हथियार संपन्न उत्तर कोरिया पर उसका कितना गहरा प्रभाव है। साथ ही वह अमेरिका के महत्वपूर्ण सहयोगी जापान का अपनी मुहिम में शामिल करना चाहता है।

सियोल। चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग की बेहद महत्वपूर्ण सांकेतिक यात्रा के एक दिन बाद उत्तर कोरिया ने कहा कि प्योंगयांग और बीजिंग के संबंध ‘‘अजेय’’ हैं क्योंकि दोनों ने जापान के औपनिवेशिक शासन का दंश झेला है। उत्तर कोरिया के सरकारी समाचार पत्र ‘रोदोंग सिनमुन’ में यह लेख जापान में होने वाले जी20 शिखर बैठक के कुछ ही दिन पहले प्रकाशित हुआ है। इस सम्मेलन के दौरान अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग की मुलाकात होने की संभावना है।

इसे भी पढ़ें: किम जोंग ने चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग से की मुलाकात

व्यापार को लेकर चीन और अमेरिका के बीच जारी गतिरोध की पृष्ठभूमि में बीजिंग ट्रंप को यह समझाना चाहता है कि परमाणु हथियार संपन्न उत्तर कोरिया पर उसका कितना गहरा प्रभाव है। साथ ही वह अमेरिका के महत्वपूर्ण सहयोगी जापान का अपनी मुहिम में शामिल करना चाहता है।

 

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़