रूसी सैनिक कीव से करीब 30 किलोमीटर की दूरी पर : अमेरिकी अधिकारी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 27, 2022   07:19
रूसी सैनिक कीव से करीब 30 किलोमीटर की दूरी पर : अमेरिकी अधिकारी

अमेरिका ने पूर्व में अनुमान जताया था कि यूक्रेन की सीमा के पास 1,50,000 से ज्यादा सैनिक इकट्ठा हैं। अधिकारी ने कहा कि रूसी सैनिक शनिवार को कीव से करीब 30 किलोमीटर दूर थे और रूस के खुफिया एजेंट कीव में दाखिल हो चुके हैं।

वाशिंगटन| अमेरिकी रक्षा विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि अमेरिका का अनुमान है कि यूक्रेन की सीमाओं के पास मौजूद रूसी सैन्य बल का 50 प्रतिशत से अधिक हिस्सा यूक्रेन में प्रवेश कर चुका है। हालांकि, उन्होंने कहा कि यह पता नहीं है कि कितने सैनिक यूक्रेन के भीतर दाखिल हो चुके हैं।

अमेरिका ने पूर्व में अनुमान जताया था कि यूक्रेन की सीमा के पास 1,50,000 से ज्यादा सैनिक इकट्ठा हैं। अधिकारी ने कहा कि रूसी सैनिक शनिवार को कीव से करीब 30 किलोमीटर दूर थे और रूस के खुफिया एजेंट कीव में दाखिल हो चुके हैं।

वहीं, ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय ने शनिवार को कहा कि सैन्य साजो सामान परिवहन से जुड़ी कठिनाइयों और यूक्रेनी सेना के मजबूत प्रतिरोध के परिणामस्वरूप ‘‘रूसी सैन्य टुकड़ियों की गति अस्थायी रूप से धीमी हो गई है।’’ मंत्रालय ने कहा, ‘‘रूसी सेनाएं यूक्रेन के प्रमुख रिहायशी इलाकों से गुजर रहीहैं और उन्हें घेरने तथा अलग-थलग करने का प्रयास कर रही हैं।’’ बेरेगसुरनी (हंगरी) : हंगरी के प्रधानमंत्री विक्टर ओरबान ने कहा है कि हंगरी यूक्रेन से आने वाले सभी नागरिकों और अन्य लोगों का स्वागत कर रहा है।

सीमावर्ती शहर बेरेगसुरनी में एक संवाददाता सम्मेलन में ओरबान ने कहा, ‘‘मैंने ऐसे लोगों को भी देखा है जिनके पास कोई यात्रा दस्तावेज नहीं है, लेकिन हम उन्हें भी यात्रा दस्तावेज उपलब्ध करा रहे हैं। हम उन लोगों को भी अनुमति दे रहे हैं जो उचित जांच प्रक्रिया के बाद अन्य देशों से आए हैं।’’

यूरोपीय संघ में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के सबसे करीबी सहयोगी के रूप में ओरबान ने क्रेमलिन के साथ घनिष्ठ आर्थिक और राजनयिक संबंध बनाए हैं।

हालांकि, ओरबान ने कहा है कि हंगरी के पड़ोसी पर रूस के आक्रमण से पुतिन के साथ उनके संबंधों में बदलाव की संभावना है और हंगरी यूरोपीय स्तर पर मास्को के खिलाफ सभी प्रस्तावित प्रतिबंधों का समर्थन कर रहा है।

वियना: जर्मनी के चांसलर ओलाफ शॉल्त्स और लिथुआनिया के राष्ट्रपति गीतानास नौसेदा की बर्लिन में होने वाली बैठक से पहले, पोलैंड के प्रधानमंत्री मैटिअस्ज मोराविएकी ने जर्मनी से ‘‘स्वार्थ’’ और ‘‘अहंकार’’ को अलग रखने तथा यूक्रेन के लोगों का सहयोग करने का आग्रह किया है।

ब्रातिस्लावा: स्लोवाकिया के रक्षा मंत्री जारोस्लाव नाद ने कहा है कि यूक्रेन पर रूस के आक्रमण के जवाब में नाटो के अन्य सदस्य देशों के 1,200 विदेशी सैनिकों को उनके देश में तैनात किया जा सकता है।

रक्षा मंत्री ने कहा कि नीदरलैंड और जर्मनी से सैनिकों के आने की उम्मीद है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।