रूस ने कोविड-19 के टीके से जुड़े अध्ययन में प्रतिभागियों की संख्या कम की

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 24, 2020   11:12
रूस ने कोविड-19 के टीके से जुड़े अध्ययन में प्रतिभागियों की संख्या कम की

रूस का स्वास्थ्य मंत्रालय देश में बनाए गए कोरोना वायरस के टीके से जुड़े अध्ययन के आकार को छोटा करने और उसके लिए स्वयंसेवकों का पंजीकरण बंद करने के लिए बुधवार को तैयार हो गया।

मॉस्को। रूस का स्वास्थ्य मंत्रालय देश में बनाए गए कोरोना वायरस के टीके से जुड़े अध्ययन के आकार को छोटा करने और उसके लिए स्वयंसेवकों का पंजीकरण बंद करने के लिए बुधवार को तैयार हो गया। टीका बनाने वालों ने करीब एक सप्ताह पहले कहा था कि रूस के ‘स्पूतनिक वी’ टीके को लेकर आखिरी चरण का अध्ययन जारी होने के बावजूद उसे देना शुरू करने के बाद से अध्ययन के लिए स्वयंसेवकों के पंजीकरण में कमी आई है। इसके बाद ही मंत्रालय यह निर्णय किया। टीका विकसित करने वालों ने स्वयंसेवकों को ‘डमी शॉट’ देने को लेकर भी चिंता जाहिर की थी। अध्ययन में अब प्रतिभागियों की संख्या घटाकर 40 हजार से 31 हजार कर दी गई है।

इसे भी पढ़ें: रूस के विदेश मंत्री के बयान पर भारत ने कहा- हमारी स्वतंत्र विदेश नीति है

‘स्पूतनिक वी’ बनाने वाले सरकारी चिकित्सा अनुसंधान संस्थान के गामालेया केन्द्र के प्रमुख अलेक्जेंडर गिन्त्सबर्ग के अनुसार, रूस के राष्ट्रपति व्लादीमीर पुतिन ने ‘स्पूतनिक वी’ की तारीफ की थी और रूसी सरकार का इस महीने बड़े स्तर पर टीकाकरण अभियान चलाने का आदेश दिया था। मध्य दिसम्बर तक 1,50,000 से अधिक लोगों को टीका लग चुका है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि टीके की सुरक्षा और प्रभावशीलता पर अंतरिम अध्ययन के डेटा पर गौर करते हुए अध्ययन के आकार को कम करने का निर्णय किया गया। मंत्रालय ने कहा कि अध्ययन जारी रहेगा और प्रतिभागियों पर कम से कम छह महीने से अधिक समय तक नजर रखी जाएगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...