रूस को चुकानी होगी भारी कीमत! अमेरिका ने लगाए प्रतिबंध, जो बाइडेन का बड़ा एक्शन

रूस को चुकानी होगी भारी कीमत! अमेरिका ने लगाए प्रतिबंध, जो बाइडेन का बड़ा एक्शन

जो बाइडेन ने कहा, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन द्वारा यूक्रेन के अलग-अलग क्षेत्रों की स्वतंत्रता को मान्यता देना अंतरराष्ट्रीय क़ानून का एक प्रमुख उल्लंघन है। हम रूस को उसके शब्दों से नहीं बल्कि उसके कार्यों से आंकेंगे।' उन्होंने कहा, मुझे उम्मीद है कि कूटनीति अभी उपलब्ध है।

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने रूस पर युद्ध शुरू करने का आरोप लगाया है। बता दें कि, मगंलवार को रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने पूर्वी यूक्रेन के अलगाववादी विद्रोही इलाके को स्वतंत्र राज्य की मान्यता दे दी है और वहां रूसी सैनिकों को तैनात भी कर दिया गया है। इसी को देखते हुए मंगलवार को एक संबोधन में जो बाइडेन ने कहा कि, "पुतिन को लगता है कि उन्हें इन नए तथाकथित देशों को अपने पड़ोसियों के क्षेत्रों में घोषित करने का अधिकार देता है। उन्हें ऐसा करने का हक किसने दिया है? बाइडेन ने आगे कहा कि, पूर्वी यूक्रेन में रूस का कदम आक्रमण की शुरुआत के बराबर है। उन्होंने कहा कि, व्लादिमीर पुतिन, मेरे विचार से बल द्वारा अधिक क्षेत्र लेने के लिए एक तर्क स्थापित कर रहे हैं, वह बहुत आगे जाने के लिए एक तर्क स्थापित कर रहे हैं। जो बाइडेन ने कहा, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन द्वारा यूक्रेन के अलग-अलग क्षेत्रों की स्वतंत्रता को मान्यता देना अंतरराष्ट्रीय क़ानून का एक प्रमुख उल्लंघन है। हम रूस को उसके शब्दों से नहीं बल्कि उसके कार्यों से आंकेंगे।" उन्होंने कहा, मुझे उम्मीद है कि कूटनीति अभी उपलब्ध है।

रूस पर लगाए जाएंगे प्रतिबंध

यूक्रेन के बारे में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के दावों पर बाइडेन ने कहा कि, हममें से किसी को भी मूर्ख नहीं बनाया जा सकता है। इसके अलावा, बाइडेन ने कई प्रतिबंधों की घोषणा की है जो रूस को पश्चिमी वित्तपोषण से प्रभावी रूप से अलग कर देगा और चेतावनी दी है कि 2014 में लगाए गए प्रतिबंधों की तुलना में यह अधिक गंभीर प्रतिबंधों की घोषणा शीघ्र ही की जाएगी। इसके अलावा अमेरिका दो बड़े वित्तीय संस्थानों VEB और रूस के सैन्य बैंक पर प्रतिबंध लागू करने जा रहा हैं और साथ ही रूस के संप्रभु ऋण पर भी प्रतिबंध लगाया जाएगा। जो बाइडेन ने ऐलान करते हुए आगे कहा कि, रूस जैसे-जैसे बढ़ेगा उस पर प्रतिबंध भी बढ़ाए जाएंगे। इसके अलावा नाटो से वादा अटल है, उसकी हर एक इंच सीमा की रक्षा की जाएगी। बाइडेन ने कहा कि, रूस के खिलाफ यूक्रेन को सैन्य मदद भी देंगे।

इसे भी पढ़ें: यूक्रेन-रूस संकट : जर्मनी ने नॉर्ड स्ट्रीम 2 गैस पाइपलाइन परियोजना निलंबित की

रूस ने यूक्रेन के चारों तरफ अपने सैनिकों को तैनात करके रखा है। रूस की हर चुनौती को मिलकर जवाब देंगे। वहीं जर्मनी ने रूस से नॉर्ड स्ट्रीम 2 गैस पाइपलाइन के प्रमाणन की प्रक्रिया को रोकने की रावाई शुरू कर दी। जानकारी के लिए बता दें कि, सोमवार को, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने दो अलगाववादी क्षेत्रों डोनेट्स्क और लुगांस्क की स्वतंत्रता की घोषणा करने वाले एक डिक्री पर हस्ताक्षर किए है। पुतिन ने सहायता समझौतों पर भी हस्ताक्षर किए जो मॉस्को को शांति व्यवस्था के उपाय के रूप में टूटे हुए क्षेत्रों में अपने सैनिकों को स्थानांतरित करने की अनुमति देता है।