दक्षिण अफ्रीका में शराब की बिक्री पर प्रतिबंध, कड़े किए प्रतिबंध

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 29, 2020   11:06
दक्षिण अफ्रीका में शराब की बिक्री पर प्रतिबंध, कड़े किए प्रतिबंध

दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा ने कहा कि अर्थव्यवस्था को खुला रखने और कोरोना वायरस के नए स्वरूप (स्ट्रेन) से लोगों का जीवन बचाने की आवश्यकता के बीच संतुलन होना चाहिए। वायरस का नया स्वरूप, पुराने स्वरूप से भी अधिक तेजी से फैलता है और युवाओं को भी प्रभावित कर रहा है।

जोहानिसबर्ग। दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा ने पिछले एक सप्ताह में देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में तेजी आने के मद्देनजर प्रतिबंध और कड़े कर दिए हैं तथा शराब की बिक्री फिर से प्रतिबंधित कर दी है। देश में मास्क नहीं पहनना अब अपराध होगा। मास्क नहीं पहनने वाले व्यक्ति को गिरफ्तार किया जा सकता है और उसे छह महीने तक की सजा हो सकती है। रामाफोसा ने कहा, ‘‘हमने आज आधी रात से पहले चरण के प्रतिबंधों को तत्काल प्रभाव से तीसरे चरण में बदलने का फैसला किया है।’’ उन्होंने कहा कि तीसरे चरण के कुछ प्रतिबंधों को और भी कड़ा किया जाएगा, ताकि संक्रमण को और फैलने से रोका जा सके।

इसे भी पढ़ें: अमेरिका की प्रतिनिधि सभा ने रक्षा विधेयक के खिलाफ ट्रंप के वीटो को किया निरस्त

रामाफोसा ने सोमवार को कहा कि अर्थव्यवस्था को खुला रखने और कोरोना वायरस के नए स्वरूप (स्ट्रेन) से लोगों का जीवन बचाने की आवश्यकता के बीच संतुलन होना चाहिए। वायरस का नया स्वरूप, पुराने स्वरूप से भी अधिक तेजी से फैलता है और युवाओं को भी प्रभावित कर रहा है। राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘हम वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ाई के अत्यंत खतरनाक मोड़ पर हैं। कल (रविवार को) हमारे देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले 10 लाख से अधिक हो गए।’’ दक्षिण अफ्रीका में संक्रमण के कारण करीब 27,000 लोगों की मौत हो चुकी है।

इसे भी पढ़ें: कोरोना के नए प्रकार से अमेरिका कितना सुरक्षित? जानिए संक्रामक विशेषज्ञ एंथनी फाउची की राय

रामाफोसा ने कहा, ‘‘क्रिसमस की पूर्व संध्या के बाद से 50,000 से अधिक नए मामले सामने आए हैं।’’ उन्होंने कहा कि शराब की बिक्री पर पहले लगाई गई रोक में ढील दिए जाने के बाद से संक्रमण के मामले तेजी से बढ़े हैं। तीसरे चरण के प्रतिबंधों के तहत केवल अंतिम संस्कार को छोड़कर 15 जनवरी तक सभी प्रकार की सभाओं पर रोक होगी। अंतिम संस्कार में भी अधिकतम 50 लोग ही भाग ले सकेंगे और इस दौरान सामाजिक दूरी का पालन सुनिश्चित किया जाएगा। राष्ट्रपति ने कहा कि देश के 26 बड़े शहरों को संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित क्षेत्र (हॉटस्पॉट) घोषित किया गया है तथा वहां और कड़े प्रतिबंध लगाए जा सकते हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।