इमरान खान के इस ट्वीट के बाद उड़ा मजाक,विदेश कार्यालय ने कहा ‘हैक’ हुआ

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 3, 2021   18:09
इमरान खान के इस ट्वीट के बाद उड़ा मजाक,विदेश कार्यालय ने कहा ‘हैक’ हुआ

सर्बिया में ट्वीट में इमरान खान की आलोचना की गई है। विदेश कार्यालय ने कहा ‘हैक’ हुआ है।दूतावास के ट्वीट को बाद में हटा लिया गया। प्रधानमंत्री खान के डिजिटल मीडिया सहयोगी अर्सलान खालिद ने भी कहा कि अकाउंट को ‘‘हैक’’ किया गया था और विदेश कार्यालय ‘‘इसकी जांच कर रहा है।

इस्लामाबाद। पाकिस्तान ने शुक्रवार को कहा कि सर्बिया में उसके दूतावास के सोशल मीडिया अकाउंट को ‘‘हैक’’ कर लिया गया। इससे कुछ घंटे पहले, दूतावास के आधिकारिक ट्विटर हैंडल द्वारा रिकॉर्ड तोड़ महंगाई और पिछले तीन महीनों से वेतन का कथित रूप से भुगतान नहीं होने पर इमरान खान के नेतृत्व वाली सरकार की आलोचना की गई थी। सर्बिया में पाकिस्तान दूतावास के सत्यापित अकाउंट से ट्वीट किया गया, ‘‘महंगाई सारे रिकॉर्ड तोड़ रही है। इमरान खान आप कब तक यह उम्मीद करते हैं कि हम सरकारी अधिकारी तीन महीने से बिना वेतन के चुपचाप काम करते रहें। शुल्क भुगतान नहीं होने के कारण हमारे बच्चे स्कूल छोड़ने के लिए मजबूर हुए हैं। यही नया पाकिस्तान है?’’ इस ट्वीट में एक मजाकिया गाना भी था जिसमें खान के बयान पर तंज कस गया कि ‘‘घबराना नहीं है।’’

एक ट्वीट में दूतावास ने कहा, ‘‘माफ कीजिए इमरान खान हमारे पास और कोई विकल्प नहीं बचा है।’’ ट्वीट वायरल होने के बाद विदेश कार्यालय ने ट्विटर पर एक बयान जारी कर कहा कि दूतावास का सोशल मीडिया अकाउंट हैक हो गया। बयान में कहा गया, ‘‘सर्बिया में पाकिस्तान के दूतावास का ट्विटर, फेसबुक और इंस्टाग्राम अकाउंट हैक कर लिया गया है। इन अकाउंट पर पोस्ट किए जा रहे संदेश सर्बिया में पाकिस्तान के दूतावास के नहीं हैं।’’ दूतावास के ट्वीट को बाद में हटा लिया गया। प्रधानमंत्री खान के डिजिटल मीडिया सहयोगी अर्सलान खालिद ने भी कहा कि अकाउंट को ‘‘हैक’’ किया गया था और विदेश कार्यालय ‘‘इसकी जांच कर रहा है।’’ नागरिकों को संबोधित करते समय खान अक्सर ‘‘आप ने घबराना नहीं है’’ वाक्य का इस्तेमाल करते हैं।

देश में बिगड़ती आर्थिक स्थिति के मद्देनजर लोग इसके जरिए तंज कसते हैं और अक्सर एक दूसरे को ऐसा कहकर चिढ़ाते हैं। खान अगस्त 2018 में ‘नया पाकिस्तान’ बनाने के वादे के साथ सत्ता में आए लेकिन यह नारा भी एक मजाक में बदल गया और आम लोग अक्सर मांग करते हैं कि वह उन्हें ‘पुराना पाकिस्तान वापस दे दें। इस सप्ताह की शुरुआत में, पाकिस्तान सांख्यिकी ब्यूरो द्वारा जारी किए गए आंकड़ों से पता चलता है कि महंगाई 9.2 प्रतिशत से बढ़कर 11.5 प्रतिशत हो गई है, जो पिछले 20 महीनों में अक्टूबर में ईंधन की कीमतों में रिकॉर्ड वृद्धि से प्रभावित सबसे अधिक वृद्धि है। पेट्रोल की कीमतें रिकॉर्ड ऊंचाई पर 145 रुपये प्रति लीटर है और रुपया एक अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 176 रुपये के रिकॉर्ड निचले स्तर पर है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।