यूक्रेन ने मनाया स्वतंत्रता दिवस, रूस के साथ युद्ध के छह महीने पूरे हुए

Ukraine
Prabhasakshi
यूक्रेन ने रूस के साथ जारी युद्ध के बीच बुधवार को अपना स्वतंत्रता दिवस मनाया और यह यूक्रेन पर रूसी हमला शुरू होने के छह महीने पूरे होने का भी दिन है। वहीं, राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने रूसी हमलों के मद्देनजर लोगों से सतर्क रहने को कहा। कीव के निवासी बुधवार सुबह सायरन की आवाज सुनकर जागे।

कीव। यूक्रेन ने रूस के साथ जारी युद्ध के बीच बुधवार को अपना स्वतंत्रता दिवस मनाया और यह यूक्रेन पर रूसी हमला शुरू होने के छह महीने पूरे होने का भी दिन है। वहीं, राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने रूसी हमलों के मद्देनजर लोगों से सतर्क रहने को कहा। कीव के निवासी बुधवार सुबह सायरन की आवाज सुनकर जागे। हालांकि, हालिया महीनों में राजधानी में छिटपुट हमले हुए हैं और फिलहाल युद्ध मुख्य रूप से यूक्रेन के पूर्वी और दक्षिणी हिस्से में केंद्रित है। इस बीच, ब्रिटेन के निवर्तमान प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कीव का दौरा किया है। युद्ध शुरू होने के बाद से जॉनसन का यूक्रेन का यह तीसरा दौरा है।

इसे भी पढ़ें: मिसाइल संबंधी दुर्घटना पर भारत की कार्रवाई को पाकिस्तान ने ‘अपर्याप्त’ बताया

वहीं, यूरोपीय देशों के नेताओं ने यूक्रेन के लोगों के बलिदान और साहस को सलाम किया और उसे हथियारों की आपूर्ति जारी रखने का संकल्प व्यक्त किया तथा हमले के लिए रूस की निंदा की। अमेरिका ने यूक्रेन की सेना को आगामी वर्षों में लड़ने में मदद करने के लिए लगभग तीन अरब डॉलर के एक बड़े नए सैन्य सहायता पैकेज की घोषणा की है। यूक्रेन ने 1991 में सोवियत संघ से आजादी की घोषणा की थी। अधिकारियों ने राजधानी में बड़े जमावड़े पर प्रतिबंध लगा दिया है क्योंकि आशंका है कि रूस राष्ट्रीय अवकाश के मद्देनजर बमबारी कर सकता है। यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने एक बयान में कहा, ‘‘रूस के उकसावे की कार्रवाई और बर्बर हमले की आशंका है। कृपया सुरक्षा नियमों का कड़ाई से पालन करें। सायरन पर ध्यान दें। आधिकारिक घोषणाओं पर ध्यान दें। याद रखें- हम सब मिलकर जीत हासिल करेंगे।’’ कीव के व्यस्त इलाके में उत्साह के साथ स्थानीय निवासी एकत्र हुए, जहां नष्ट हो चुके रूसी टैंक और तोपखाने सप्ताहांत में प्रदर्शित किए गए थे, और राष्ट्रगान हर दिन स्थानीय समयानुसार सुबह सात बजे बजाया जाता है। सेवानिवृत्त सैनिक तेत्याना ने कहा, ‘‘यूक्रेन में जो कुछ हो रहा है, उसके बारे में जो कुछ मैं देखती और सुनती हूं, उसके कारण मैं रात को सो नहीं सकती। यह युद्ध नहीं है।

इसे भी पढ़ें: पैगंबर के खिलाफ टिप्पणी पर विवाद के बाद हैदराबाद में अतिरिक्त पुलिस फोर्स तैनात, कई संस्थानों को भी बंद करने का आदेश

यह यूक्रेन के लोगों की तबाही है।’’ जेलेंस्की ने स्वतंत्रता दिवस पर अपने संदेश में कहा, ‘‘छह महीने पहले, रूस ने युद्ध की घोषणा की। 24 फरवरी को, पूरे यूक्रेन में विस्फोटों और गोलियों की आवाज सुनी गई। 24 फरवरी को, हमें बताया गया, आपके पास कोई मौका नहीं है। 24 अगस्त को हम कह रहे हैं: यूक्रेन स्वतंत्रता दिवस मुबारक।’’ अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने यूक्रेन के स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में महत्वपूर्ण नयी सैन्य सहायता की घोषणा करते हुए कहा कि यूक्रेन के कई लोगों के लिए यह दिन ‘‘कड़वा’’ है, क्योंकि वे नुकसान झेल रहे हैं लेकिन रूस के ‘‘निरंतर हमलों’’ का डटकर मुकाबला करने में गर्व महसूस करते हैं। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ने पश्चिमी देशों से आगे भी यूक्रेन का समर्थन जारी रखने का आह्वान किया। मॉस्को के बाहर एक कार बम विस्फोट में शनिवार को दक्षिणपंथी रूसी राजनीतिक विश्लेषक अलेक्जेंडर डुगिन की 29 वर्षीय बेटी की मौत हो गई, जिससे यह आशंका बढ़ गई कि रूस इस सप्ताह यूक्रेन पर हमले तेज कर सकता है। रूसी अधिकारियों ने डारिया डुगिना की मौत के लिए यूक्रेन को जिम्मेदार ठहराया है। यूक्रेन की सरकार ने घटना में किसी भी तरह की संलिप्तता से इनकार किया है।

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने 24 फरवरी को हजारों सैनिकों को यूक्रेन में दाखिल होने का आदेश दिया। मास्को की सेना को अप्रत्याशित रूप से यूक्रेन के कड़े प्रतिरोध का सामना करना पड़ा और छह महीने की लड़ाई ने यूक्रेन में जीवन को बदल दिया तथा विश्व अर्थव्यवस्था पर भी गंभीर असर पड़ा। युद्ध के 182वें दिन में प्रवेश करने के साथ संघर्ष के जल्द समाप्त होने का कोई संकेत नहीं है। रूस के पास अब देश के पूर्व और दक्षिण के बड़े हिस्से हैं, लेकिन उसकी बढ़त दिनों दिन कमजोर होती जा रही है। छह महीने के संघर्ष के दौरान किसी भी देश ने यह खुलासा नहीं किया है कि उसने कितने सैनिक हताहत हुए हैं। रूस के रक्षा मंत्री सर्गेई शोइजू ने बुधवार को एक बैठक में दावा किया कि रूस की सैन्य कार्रवाई की रफ्तार इसलिए कम हुई है क्योंकि वह नहीं चाहता कि नागरिकों को नुकसान हो।

युद्ध के मोर्चे पर पूर्वी यूक्रेन में रूस के हमले जारी हैं। पिछले 24 घंटे में रूसी सुरक्षा बलों ने दोनेत्सक प्रांत के कई शहरों और गांवों में हमले किए जिससे एक व्यक्ति की मौत हो गई और दो अन्य घायल हो गए। दोनेत्सक प्रांत के अधिकारियों ने यह जानकारी दी। दक्षिण में दिप्रोपेत्रोव्सक क्षेत्र में रूसी सेना ने निकोपोल और मारहनेटस शहरों में बमबारी कर कई इमारतों को नुकसान पहुंचाया। दिप्रोपेत्रोव्सक के गवर्नर वेलेंटाइन रेजीनिचेनको ने बताया कि हमलों में दो लोग घायल हो गए। रूसी सैनिकों ने जापोरिजिया शहर में भी गोलाबारी की जिसमें कई इमारतों और अन्य ढांचों को नुकसान पहुंचा लेकिन कोई हताहत नहीं हुआ।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़