जॉर्ज फ्लॉयड के मौत के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने पहले अमेरिकी राष्ट्रपति की प्रतिमा पर पोता रंग

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 22, 2020   12:39
जॉर्ज फ्लॉयड के मौत के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने पहले अमेरिकी राष्ट्रपति की प्रतिमा पर पोता रंग

अमेरिका के पहले राष्ट्रपति जॉर्ज वॉशिंगटन की प्रतिमा पर रंग पोत कर नुकसान पहुंचाया गया है।‘बल्टिमोर सन’ की खबर के अनुसार उत्तरपश्चिम बाल्टिमोर के ड्रूइड हिल पार्क में लगी राष्ट्रपति की प्रतिमा पर ‘‘नस्लवादियों को खत्म करो’’लिखा गया है और प्रतिमा के नीचे की तरफ ‘ब्लैक लाइफ्स मैटर’’ आंदोलन के लिए लोगों के हस्ताक्षर हैं।

बाल्टिमोर/न्यूयार्क। अमेरिका के पहले राष्ट्रपति जॉर्ज वाशिंगटन की यहां स्थित प्रतिमा पर लाल रंग पोत कर उसे नुकसान पहुंचाने का मामला सामने आया है। वहीं, न्यूयॉर्क के विश्व प्रसिद्ध ‘द अमेरिकन म्यूजियम ऑफ नेचुरल हिस्ट्री’ के प्रवेश में लगी थियोडोर रूजवेल्ट की प्रतिमा को हटाने का निर्णय किया गया है। ‘बल्टिमोर सन’ की खबर के अनुसार उत्तरपश्चिम बाल्टिमोर के ड्रूइड हिल पार्क में लगी राष्ट्रपति की प्रतिमा पर ‘‘नस्लवादियों को खत्म करो’’लिखा गया है और प्रतिमा के नीचे की तरफ ‘ब्लैक लाइफ्स मैटर’’ आंदोलन के लिए लोगों के हस्ताक्षर हैं।

इसे भी पढ़ें: चीन और दक्षिण कोरिया में कोरोना के नये मामले, वहीं अमेरिका में जांच कम कराना चाहते हैं डोनाल्ड ट्रंप

पुलिस ने रविवार सुबह कहा कि उन्हें प्रतिमा को नुकसान पहुंचाए जाने के संबंध में कोई शिकायत नहीं प्राप्त हुई है। गौरतलब है कि लोग संघीय राज्य में लगी प्रतिमाओं और स्मारकों को निशाना बना रहे हैं इससे अलावा प्रदर्शनकारी वाशिंगटन सहित देश के संस्थापकों को दासता तथा अन्य कुरीतियों को बढ़ावा देने के आरोप में निशाना बनाते रहते हैं। वहीं, न्यूयॉर्क के विश्व प्रसिद्ध ‘द अमेरिकन म्यूजियम ऑफ नेचुरल हिस्ट्री’ के प्रवेश में लगी थियोडोर रूजवेल्ट की प्रतिमा को हटाने का निर्णय किया गया है। रूजवेल्ट देश के 26वें राष्ट्रपति थे। मेयर बिल डि ब्लासियो ने कहा,‘‘द अमेरिकन म्यूजियम ऑफ नेचुरल हिस्ट्री नेथियोडोर रूजवेल्ट की प्रतिमा को हटाने को कहा है क्योंकि यह काले और घरेलू लोगों को नस्लीय तौर पर हीन दिखाता है।’’ इसे हटाने के लिए लंबे समय से मांग की जा रही थी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।