संभालों अपने बच्चों को, बहुत दबाव में हैं... स्कूल बस छूट गयी तो मासूस ने लगा ली फांसी

संभालों अपने बच्चों को, बहुत दबाव में  हैं... स्कूल बस छूट गयी तो मासूस ने लगा ली फांसी

मध्य प्रदेश के बैतूल जिले के नौवीं कक्षा के एक छात्र ने अपनी स्कूल बस के लापता होने से परेशान होकर सोमवार को पेड़ से लटककर फांसी लगा ली। पुलिस ने बताया कि घटना बैतूल जिला मुख्यालय से 40 किलोमीटर दूर आमदोह गांव में सोमवार को हुई।

मध्य प्रदेश के बैतूल जिले के नौवीं कक्षा के एक छात्र ने अपनी स्कूल बस के लापता होने से परेशान होकर सोमवार को पेड़ से लटककर फांसी लगा ली। पुलिस ने बताया कि घटना बैतूल जिला मुख्यालय से 40 किलोमीटर दूर आमदोह गांव में सोमवार को हुई। घोड़ाडोंगरी पुलिस चौकी प्रभारी रवि शाक्य ने कहा, नौवीं कक्षा के 14 वर्षीय लड़के ने सोमवार को फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। उन्होंने कहा कि लड़का स्कूल के लिए घर से निकला था लेकिन बस से छूट गया। अधिकारी ने कहा, उनके परिवार ने कहा कि वह स्कूल जाने में बहुत समय का पाबंद था। बस छूट जाने के बाद वह बहुत परेशान हो गया और उसने ऐसा कदम उठाया।

इसे भी पढ़ें: बसपा नहीं लाएगी चुनावी घोषणा पत्र इस बार 2007 की तरफ आएंगे नतीजे : मायावती

नौवी क्लास के बच्चे ने स्कूल बस छूट जाने के बाद की आत्महत्या

लड़के के एक रिश्तेदार ने बताया कि वह बस छूटने के बाद रोता हुआ घर लौटा। कुछ देर बाद बच्चे का शव उसके घर के पीछे लगे एक पेड़ से लटका मिला। लड़के के चाचा ने कहा कि वह पढ़ाई में बहुत अच्छा था। जब वह अपने घर के पीछे आम के पेड़ फांसी लगाकर जान दे रहा था तब भी उसने अपने स्कूल की वर्दी पहनी हुई थी। 

इसे भी पढ़ें: UP में कोरोना संक्रमण के 3 नए मामले दर्ज, एक्टिव मरीजों की संख्या में आई गिरावट

एक बाल विशेषज्ञ ने बताया कि कभी कभी इस उमर के बच्चे अपने माता-पिता के दबाव में पढ़ाई में उत्कृष्टता के लिए इस तरह के चरम कदम उठाते हैं। इसके अलावा, सोशल मीडिया पर बहुत अधिक एक्सपोजर भी ऐसी प्रवृत्तियों को ट्रिगर कर सकता है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।