हिमाचल में 22 नए पॉजिटिव मरीज, जानें किस जिले में कितने मामले

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 29, 2020   09:48
हिमाचल में 22 नए पॉजिटिव मरीज, जानें किस जिले में कितने मामले

हिमाचल प्रदेश में अब तक कोविड-19 प्रभावित कुल 518 लोग ठीक हो गए हैं जबकि 11 लोग राज्य से प्रवास कर चुके हैं। 378 लोग अब भी संक्रमित हैं, जिनका इलाज चल रहा है। आठ लोगों की मौत हो चुकी है।

शिमला। हिमाचल प्रदेश में सेना और बीएसएफ के एक-एक जवान समेत 22 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 917 हो गई है। राज्य के अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) आर डी धीमान ने बताया कि कांगड़ा से 11, ऊना और सोलन जिलों से तीन-तीन मामले सामने आये हैं, जबकि बिलासपुर, किन्नौर, शिमला, मंडी और सिरमौर जिलों से एक-एक मामला सामने आया है। उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि कांगड़ा में संक्रमित पाए गए लोगों में सेना और बीएसएफ के एक-एक जवान शामिल हैं। 

इसे भी पढ़ें: हिमाचल प्रदेश में कोविड-19 संक्रमितों की संख्या बढ़कर 851 हुई, 491 मरीज उपचार के बाद हो चुके हैं ठीक

प्रजापति ने कहा कि रक्कर गांव का निवासी सेना का 39 वर्षीय जवान 23 जून को अरुणाचल प्रदेश से लौटा है। उसे सैन्य अस्पताल भेजा जाएगा। अधिकारी ने बताया कि बीएसएफ का 54 वर्षीय जवान जिले के इंद्री गांव का निवासी है। वह 18 जून को जम्मू से लौटा है। उसे दाध में कोविड देखभाल केन्द्र भेजा जाएगा। हिमाचल प्रदेश में अब तक कोविड-19 प्रभावित कुल 518 लोग ठीक हो गए हैं जबकि 11 लोग राज्य से प्रवास कर चुके हैं। 378 लोग अब भी संक्रमित हैं, जिनका इलाज चल रहा है। आठ लोगों की मौत हो चुकी है। राज्य में संक्रमण के सबसे अधिक 117 मामले हमीरपुर से सामने आए हैं। इसके बाद कांगड़ा में 115, सोलन में 45, ऊना में 31, शिमला में 20, बिलासपुर में 16, सिरमौर में 14, चंबा में 9, मंडी में 5, किन्नौर में 5 और कुल्लू में एक मामला सामने आया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।