उत्तर प्रदेश की बड़ी खबरें: योगी सरकार ने मुख्यमंत्री पंचायत प्रोत्साहन पुरस्कार योजना के तहत 25 करोड़ रुपए की दी स्वीकृति

उत्तर प्रदेश की बड़ी खबरें: योगी सरकार ने मुख्यमंत्री पंचायत प्रोत्साहन पुरस्कार योजना के तहत 25 करोड़ रुपए की दी स्वीकृति

राज्य सरकार ने वर्तमान वित्तीय वर्ष हेतु मुख्यमंत्री पंचायत प्रोत्साहन पुरस्कार योजना के अंतर्गत 25 करोड़ रुपये की स्वीकृति प्रदान कर दी है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार लगातार काम कर रही है। सरकार द्वारा आज भी कई बड़े निर्णय लिए गए। आइए पढ़ते हैं उत्तर प्रदेश की दिनभर की आज की बड़ी खबर।

31,085 लीटर अवैध शराब बरामद

संजय आर. भूसरेड्डी, अपर मुख्य सचिव आबकारी विभाग द्वारा अवगत कराया गया है कि विभाग द्वारा प्रदेश में अवैध शराब के निर्माण, बिक्री एवं तस्करी की रोकथाम हेतु लगातार दबिश एवं चेकिंग की कार्यवाही की जा रही है। आबकारी विभाग द्वारा विगत सप्ताह में प्रदेश में 942 मुकदमे पकड़े़ गये, जिसमें 31,085 लीटर अवैध शराब बरामद की गयी तथा शराब बनाने हेतु तैयार किये गये 79,891 कि.ग्रा. लहन को मौके पर नष्ट किया गया। अवैध मदिरा के कार्य में संलिप्त 300 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया तथा 16 वाहनों को जब्त किया गया।

अपर मुख्य सचिव द्वारा बताया गया कि जुलाई माह के विगत सप्ताह में जनपद शाहजहॉंपुर में एक निर्माणाधीन मकान से 238 पेटी अवैध शराब, भारी मात्रा में नकली रैपर, क्यूआर कोड तथा एक बोलरो पिकअप वाहन बरामद किया गया। इस कार्यवाही में 05 व्यक्तियों के विरूद्ध आबकारी अधिनियम एवं आईपीसी की सुसंगत धाराओं के अन्तर्गत अभियोग दर्ज किया गया। जनपद आगरा में एक ढ़ाबे पर दबिश के दौरान 69 पेटी अवैध शराब, 50 लीटर बनी हुई नकली शराब, 21 ड्रमों में 4200 लीटर रेक्टिफाइड स्प्रिट, नकली क्यूआरकोड, नकली लेबल, शराब बनाने सम्बन्धी अन्य उपकरण बरामद किया गया। इस कार्यवाही में 03 वाहनों को जब्त करते 04 व्यक्तियों के विरूद्ध मुकदमा पंजीकृत दर्ज कराया गया। 

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश की बड़ी खबरें: एक अगस्त को होगा विंध्य कॉरिडोर का शिलान्यास 

जनपद आगरा में एक अन्य कार्यवाही के दौरान एक मेडिकल स्टोर के बगल बन्द दुकान से 1745 शीशी टिंचर बरामद करते हुए एक व्यक्ति के विरूद्ध आबकारी अधिनियम की धारा 60 एवं आई0पी0सी0 की धारा 275, 419 और 420 के अन्तर्गत मुकदमा पंजीकृत कराया गया। जनपद लखनऊ में आम के बाग में चल रही अवैध शराब की एक बड़ी फैक्ट्री का भण्डाफोड़ करते हुए मौके से 1150 ली0 अवैध स्प्रिट, शराब बनाने के उपकरण तथा 06 वाहन बरामद किया गया। इसी प्रकार जनपद आजमगढ़ के फतुही ग्राम में नकली शराब बनाने की फैक्ट्री से 101 पेटी अवैध शराब, 800 ली0 स्प्रिट तथा शराब बनाने के अन्य उपकरण बरामद किया गया। इस कार्यवाही में 05 व्यक्तियों को गिरफ्तार कर उनके विरूद्ध मुदकमा पंजीकृत कराया गया।

अपर मुख्य सचिव द्वारा बताया गया कि अवैध मदिरा के निर्माण, बिक्री एवं तस्करी के विरूद्ध लगातार प्रवर्तन कार्यवाही जारी रहेगी। इसके अतिरिक्त आबकारी दुकानों के निरीक्षण की कार्यवाही सम्पादित किये जाने हेतु क्षेत्रीय अधिकारियों को लगातार निर्देश दिये जा रहे हैं।

प्रबन्ध निदेशक मध्यांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड ने किया विद्युत वितरण खण्ड सेस-प्रथम डिवीजन ऑफिस का निरीक्षण

प्रबन्ध निदेशक मध्यांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड ने आज विद्युत वितरण खण्ड सेस-प्रथम डिवीजन ऑफिस का निरीक्षण किया। निरीक्षण में प्रबन्ध निदेशक ने खंडीय कार्यालय में राजस्व सम्बन्धी कार्यों की समीक्षा करते हुए लेखा से रजिस्टर का अवलोकन एवं राजस्व प्रगति की स्थिति का निरीक्षण कर अधिशासी अभियन्ता को निर्देशित किया गया कि वह समय से उपभोक्ताओं को बिल उपलब्ध करायें तथा लेखा से सम्बन्धित रजिस्टर का भी आंकलन कर उसे अपडेट रखें एवं राजस्व वसूली को और बेहतर बनाना सुनिश्चित करें।

मुख्य अभियन्ता (वितरण) सिस-गोमती, ने विद्युत नगरीय वितरण खण्ड, हुसैनगंज के अन्तर्गत 33/11 केवी दारूलशफा विद्युत उपकेन्द्र का रात्रि निरीक्षण किया। निरीक्षण में उपकेन्द्र को सभी फीडरों पर लोड सामान्य पाया गया। मुख्य अभियन्ता ने सम्बन्धित अधिशासी अभियन्ता को निर्देशित किया की खण्ड की अनवरत विद्युत आपूर्ति सुचारू रखते हुए नाइट पैट्रोलिंग कर मॉर्निंग रेड की संख्या बढ़ायी जाए तथा रू 10 हजार से बड़े बकायेदारों के विद्युत संयोजन को विच्छेदित करने की कार्यवाही की जाए।

विद्युत नगरीय वितरण मण्डल-प्रथम के विधानसभा मार्ग में अधीक्षण अभियन्ता राजभवन द्वारा 33/11 के०वी० विद्युत उपकेन्द्र विधानसभा मार्ग में स्थापित फीडरों एवं परिवर्तकों के लोड को चेककर लोड बैलेसिंग की कार्यवाही की गयी। अधीक्षण अभियन्ता विद्युत नगरीय वितरण मण्डल इन्दिरानगर द्वारा सेक्टर-14 में स्थापित 33/11 केवी न्यू इन्दिरानगर विद्युत उपकेन्द्र का रात्रि निरीक्षण किया गया। निरीक्षण में उपकेन्द्र के सभी 11 केवी फीडर का लोड सामान्य पाया गया। अधीक्षण अभियन्ता विद्युत नगरीय वितरण मण्डल-षष्ठम् के नेतृत्व में एक्का स्टैण्ड विद्युत उपकेन्द्र का रात्रि निरीक्षण किया गया। निरीक्षण में उपकेन्द्र में फीडर के साथ पीक ऑवर्स लोड भी चेक किया गया जो कि सामान्य था। 

इसे भी पढ़ें: यूपी बीज विकास निगम के उपाध्यक्ष मेरठ पहुंचे, किसानों से करेंगे संवाद 

अधीक्षण अभियन्ता विद्युत नगरीय वितरण मण्डल गोमती नगर-द्वितीय द्वारा विपिन खण्ड विद्युत उपकेन्द्र का रात्रि निरीक्षण किया गया। निरीक्षण में सभी 11 केवी फीडर एवं परिवर्तकों का लोड सामान्य था तथा विगत 24 घंटे में ट्रिपिंग भी शून्य थी। अधिशासी अभियन्ता, रहीमनगर के नेतृत्व में 33/11 केवी आदिल नगर, कल्याणपुर एवं विकास नगर का रात्रि निरीक्षण किया गया। निरीक्षण में क्षेत्र के केवीए परिवर्तकों की जांच कर लोड को बैलेंस करने का कार्य भी किया गया। लगातार रात्रि निरीक्षण से क्षेत्र का लोड 30 प्रतिशत कम हुआ है।

अधिशासी अभियन्ता, कानपुर रोड के नेतृत्व 33/11 केवी विद्युत उपकेन्द्र बंगला बाजार एवं शक्ति चौराहा में स्थापित विद्युत उपकेन्द्र का रात्रि निरीक्षण किया गया। निरीक्षण में पीकऑवर्स लोड को चेककर परिवर्तकों की लोड बैलेसिंग का कार्य किया गया। अपट्रांन डिवीजन के अन्तर्गत अधीक्षण अभियन्ता द्वारा 33/11 केवी विद्युत उपकेन्द्र अपट्रांन का रात्रि निरीक्षण कर परिवर्तकों के लोड को बैलेंस किया गया।

मुख्यमंत्री पंचायत प्रोत्साहन पुरस्कार योजना के तहत 25 करोड़ रुपये स्वीकृत

राज्य सरकार ने वर्तमान वित्तीय वर्ष हेतु मुख्यमंत्री पंचायत प्रोत्साहन पुरस्कार योजना के अंतर्गत 25 करोड़ रुपये की स्वीकृति प्रदान कर दी है।

पंचायतीराज विभाग द्वारा इस संबंध में शासनादेश जारी कर दिया गया है। जारी आदेश में कहा गया है कि स्वीकृत की जा रही धनराशि का व्यय चालू वित्तीय वर्ष में किया जाये। निदेशक पंचायतीराज द्वारा यह सुनिश्चित किया जायेगा कि इस योजना के तहत धनराशि का व्यय किसी अन्य मद से भी नही किया जाये जिससे स्वीकृत की जा रही धनराशि की पुनरावृत्ति/द्वविरावृत्ति से बचा जा सके। योजना के तहत निर्धारित कार्यों को निर्धारित समय में ही पूर्ण कराया जाना सुनिश्चित किया जाये।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।