रेल मार्ग से ऑक्सीजन लेकर 6 टैंकर मध्य प्रदेश रवाना , भोपाल आएगी 63.78 मीट्रिक टन ऑक्सीजन

रेल मार्ग से ऑक्सीजन लेकर 6 टैंकर मध्य प्रदेश रवाना , भोपाल आएगी 63.78 मीट्रिक टन ऑक्सीजन

मध्य प्रदेश के लिये यह राहत की बात है कि जो टैंकर भेजे गए उनमें से पहली खेप में ट्रेन द्वारा 6 टैंकर 63.78 मीट्रिक टन ऑक्सीजन लेकर बुधवार की सुबह भोपाल आ जाएंगे। मुख्यमंत्री चौहान ने भारत सरकार द्वारा दिये जा रहे सहयोग के लिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आभार माना है।

भोपाल। राज्य सरकार प्रदेश में ऑक्सीजन की उपलब्धता के लिये भरसक प्रयास कर रही है। इन प्रयासों को अब सफलता मिलनी शुरू हो गई है। भारत सरकार के सहयोग से मध्यप्रदेश में त्वरित ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन मंगलवार को सुबह साढ़े 5 बजे बोकारो (झारखण्ड) से रवाना हो चुकी है। इस ट्रेन से ऑक्सीजन के 6 टैंकर में 63.78 मीट्रिक टन ऑक्सीजन भोपाल पहुँचेगी।

 

इसे भी पढ़ें: कोरोना पॉजिटिव दुल्हे ने पीपीई किट पहनकर रचाया विवाह, पंडित ने भी पहनी पीपीई किट

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान प्रदेश में ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिये हर मोर्चे पर कार्य कर रहे हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सहित केन्द्र के अनेक मंत्रालयों में सम्पर्क कर केन्द्रीय मंत्रियों से भी ऑक्सीजन आपूर्ति के लिये आग्रह किया है। मुख्यमंत्री चौहान ने बताया कि समेकित प्रयासों से मध्य प्रदेश को आवश्यकतानुसार ऑक्सीजन मिलना शुरू हो गई है। प्रदेश के भोपाल और इंदौर एयरपोर्ट से इंडियन एयरफोर्स के विशेष विमानों से ऑक्सीजन टैंकर प्रतिदिन बोकारो और जामनगर भेजे जा रहे हैं। मध्य प्रदेश के लिये यह राहत की बात है कि जो टैंकर भेजे गए उनमें से पहली खेप में ट्रेन द्वारा 6 टैंकर 63.78 मीट्रिक टन ऑक्सीजन लेकर बुधवार की सुबह भोपाल आ जाएंगे। मुख्यमंत्री चौहान ने भारत सरकार द्वारा दिये जा रहे सहयोग के लिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आभार माना है।  

इसे भी पढ़ें: फेसबुक पर कांग्रेस प्रवक्ता नूरी खान की लाइव गिरफ्तारी, कोरोना संकट पर करने वाली थी बड़ा खुलासा

मुख्यमंत्री ने बताया कि केंद्र सरकार से 22 अप्रैल से 643 मीट्रिक टन प्रतिदिन ऑक्सीजन आपूर्ति की स्वीकृति मिली है। रेल मंत्रालय के सहयोग से त्वरित रूप से ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित हो रही है। इसी प्रकार मध्य प्रदेश पशुधन विकास निगम के 4 टैंकर ऑक्सीजन भरकर लाने के लिए अंगुल (ओडिशा) भी भेजे गए हैं, जिनमें 23 मीट्रिक टन ऑक्सीजन आएगी। ये सभी टैंकर भी कल मध्य प्रदेश आ जायेंगे। मुख्यमंत्री चौहान ने बताया कि कल प्रदेश में 527.69 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति हुई। आज प्रदेश को कुल 533 मीट्रिक टन ऑक्सीजन प्राप्त होने की संभावना है।

 

इसे भी पढ़ें: जबलपुर हाई कोर्ट ने मांगी 28 अप्रैल को केंद्र व प्रदेश सरकार से 19 बिंदुओं की प्रगति रिपोर्ट

प्रदेश में ऑक्सीजन के त्वरित परिवहन के लिए केन्द्रीय गृह मंत्रालय के सहयोग से झारखण्ड के बोकारो एवं गुजरात के जामनगर स्थित ऑक्सीजन उत्पादकों से ऑक्सीजन टैंकर एयरलिफ्ट कर इंदौर, भोपाल एवं ग्वालियर लाये जा रहे हैं। भारतीय वायु सेना की उड़ानों के फेरों के माध्यम से गत 24 अप्रैल से जारी यह कार्यवाही एक मई तक लगातार जारी रहेगी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।