यूपी में कोरोना के 607 नये मामले, 19 और मौतों के साथ मृतकों का आंकड़ा 649 पहुंचा

corona in UP
बीते 24 घंटे में 19 और मौतों के साथ इस संक्रमण से जान गंवाने वालों का आंकडा 649 पहुंच गया है। अपर मुख्य सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि बीते 24 घंटे में संक्रमण के 607 नये प्रकरण सामने आये।
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोविड-19 संक्रमण के 607 नये मामले आने के साथ ही संक्रमण के मामलों की संख्या शनिवार को बढ़कर 21,548 हो गयी। बीते 24 घंटे में 19 और मौतों के साथ इस संक्रमण से जान गंवाने वालों का आंकडा 649 पहुंच गया है। अपर मुख्य सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि बीते 24 घंटे में संक्रमण के 607 नये प्रकरण सामने आये। 6,684 संक्रमितों का इलाज चल रहा है। प्रसाद ने बताया कि 14,215 लोगों को पूर्णतया सही होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी मिल चुकी है जबकि कोरोना वायरस संक्रमण से 19 और मौतों के साथ ही मृतकों का आंकडा 649 पहुंच गया है। प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 21,548 हो गये। उन्होंने बताया कि शुक्रवार को प्रदेश में नमूनों की जांच का आंकडा 20 हजार को पार कर गया और एक दिन में कुल 20,028 नमूनों की कोरोना वायरस संक्रमण का पता लगाने के लिए जांच हुई। अब तक राज्य में कुल 6,63,096 नमूनों की जांच की जा चुकी है। प्रसाद ने बताया कि पूल टेस्टिंग के माध्यम से शुक्रवार को पांच-पांच नमूनों के 1,727 पूल लगाये गये, जिनमें से 219 लोगों को संक्रमण की पुष्टि हुई जबकि दस-दस नमूनों के 185 पूल लगाये गये, जिनमें 29 लोग संक्रमित मिले। 

इसे भी पढ़ें: तेज गति से जांच कोरोना के संक्रमण की कड़ी तोड़ने के लिहाज से महत्वपूर्ण: योगी

उन्होंने बताया कि सरकार एक और अनूठी पहल करने जा रही है जिसके तहत लोगों को एक-एक मिनट के वीडियो बनाने के लिए प्रेरित किया जाएगा। उनमें सौ सबसे अच्छे वीडियो को दस-दस हजार रूपये का पुरस्कार दिया जाएगा। प्रसाद ने कहा, ‘‘हम लोगों से अच्छे विचार (आइडिया) मांग रहे हैं। डेढ़ सौ शब्दों के दस सबसे अच्छे आइडियाज को भी दस-दस हजार रूपये का पुरस्कार दिया जाएगा। लोगों के इस बारे में विचार जानेंगे कि संक्रमण की चेन को कैसे तोड़ा जाए।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़