गुजरात में कोरोना के 850 नए मामले आए, सात और की मौत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 28, 2020   09:39
गुजरात में कोरोना के 850 नए मामले आए, सात और की मौत

राज्य स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी। वहीं केंद्र शासित प्रदेश दमन, दीव व दादरा नगर हवेली में कोविड-19 का एक मामला सामने आया है। गुजरात के स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि इस अवधि में सात और लोगों की मौत संक्रमण से हुई जिनमें से चार मृतक अहमदाबाद के और सूरत एवं वडोदरा के क्रमश: दो और एक मरीज शामिल हैं।

अहमदाबाद। गुजरात में रविवार को कोविड-19 के 850 नए मामले आए जिन्हें मिलाकर राज्य मेंकोरोना वायरस से अब तक संक्रमित हुए लोगों की संख्या बढ़कर 2,41,485 हो गई है। राज्य स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी। वहीं केंद्र शासित प्रदेश दमन, दीव व दादरा नगर हवेली में कोविड-19 का एक मामला सामने आया है। गुजरात के स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि इस अवधि में सात और लोगों की मौत संक्रमण से हुई जिनमें से चार मृतक अहमदाबाद के और सूरत एवं वडोदरा के क्रमश: दो और एक मरीज शामिल हैं। इसके साथ ही राज्य में महामारी में जान गंवाने वालों की संख्या 4,282 तक पहुंच गई है। स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि इस अवधि में 920 मरीज संक्रमण मुक्त हुए हैं जिन्हें मिलाकर अब तक राज्य में 2,27,128 मरीज ठीक हो चुके हैं। 

इसे भी पढ़ें: मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के 946 नए मामले, 18 मरीजों की मौत

विभाग के अनुसार गत 24 घंटे में 53,075 नमूनों की जांच के साथ अब तक 94,37,105 नमूनों की जांच हो चुकी है। राज्य में इस समय कोविड-19 मरीजों के ठीक होने की दर 93.91 प्रतिशत है जबकि 10,435 मरीज उपचाराधीन हैं। स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि नए मामलों में अहमदाबाद के 178, सूरत के 158, वड़ोदरा के 135 और राजकोट के 92 मरीज शामिल हैं। दमन, दीव, दादरा नगर हवेली में रविवार को कोविड-19 का एक मामला सामने आया है जिसे मिलाकर यहां अब तक 3,343 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हो चुकी है। अधिकारियों ने बताया कि इस अवधि में एक मरीज ठीक हुआ है जिसे मिलाकर कुल 3,332 मरीज बीमारी को मात दे चुके हैं। उन्होंने बताया कि इस समय केंद्र शासित प्रदेश में सात मरीज उपचाराधीन है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।