राजस्थान में अनियंत्रित ट्रक जुलूस में घुसा, 13 लोगों की मौत, 18 अन्य घायल

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 19, 2019   10:28
राजस्थान में अनियंत्रित ट्रक जुलूस में घुसा, 13 लोगों की मौत, 18 अन्य घायल

घायलों को छोटी सादडी के राजकीय चिकित्सालय में भर्ती करवाया गया है। गंभीर रूप से घायल 12 लोगों को उदयपुर रेफर किया गया है।

जयपुर। राजस्थान के प्रतापगढ़ जिले के छोटी सादडी थाना क्षेत्र में सोमवार की रात एक अनियंत्रित ट्रक बिंदोली जुलूस में घुस गया। ट्रक की चपेट में आने से चार बच्चों सहित 13 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि 18 अन्य घायल हो गये। छोटी सादडी के सर्किल अधिकारी विजय पाल सिंह संधू ने बताया कि निम्बाहेडा से बांसवाडा जा रहे राष्ट्रीय राज मार्ग 113 पर रामदेव मंदिर के पास एक तेज गति से आ रहा अनियंत्रित ट्रक सड़क किनारे जा रहे एक बिंदोली जुलूस में घुस गया। हादसे में जुलूस में शामिल चार बच्चो सहित नौ लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि 18 अन्य लोग घायल हो गये।

इसे भी पढ़ें: लड़ाकू विमानों की दुर्घटना की निगरानी की याचिका पर कोर्ट का इंकार

उन्होंने बताया कि घायलों को छोटी सादडी के राजकीय चिकित्सालय में भर्ती करवाया गया है। गंभीर रूप से घायल 12 लोगों को उदयपुर रेफर किया गया है। शवों को पोस्टमार्टम के लिये राजकीय चिकित्सालय की शवगृह में रखवाया गया है। उन्होंने बताया कि मृतकों की पहचान दौलतराम (60), भारत (30), शुभम (5), छोटू (5), दिलीप (11), अर्जुन (15), ईशु (19), रमेश (30) और करण (28) के रूप में हुई है। सिंह ने बताया कि सभी लोग गाडिया लोहर जाति के हैं और सड़क किनारे जा रहे बिंदोली जुलूस में शामिल थे। आशंका है कि अंधेरे की वजह से ट्रक चालक को बिंदोली जुलूस में चल रहे लोग दिखाई नहीं दिए और यह हादसा हो गया। वास्तविक कारणों का पता जांच के बाद ही चल सकेगा। पुलिस मामले में आगे की कार्रवाई कर रही है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...