जल आपूर्ति के मुद्दों को हल करने के लिए चंद्रावल में बन रहा है नया संयंत्र : सत्येंद्र जैन

Satyendar Jain
ani
दिल्ली के जल मंत्री सत्येंद्र जैन ने शुक्रवार को कहा कि उत्तरपूर्वी दिल्ली के चंद्रावल में बनाए जा रहे एक नए जल शोधन संयंत्र से यमुना नदी में अमोनिया की उच्च मात्रा से संबंधित जल आपूर्ति के मुद्दों को हल करने में मदद मिलेगी।

नयी दिल्ली। दिल्ली के जल मंत्री सत्येंद्र जैन ने शुक्रवार को कहा कि उत्तरपूर्वी दिल्ली के चंद्रावल में बनाए जा रहे एक नए जल शोधन संयंत्र से यमुना नदी में अमोनिया की उच्च मात्रा से संबंधित जल आपूर्ति के मुद्दों को हल करने में मदद मिलेगी। जैन ने कहा कि इस संयत्र में एक दिन में 10.5 करोड़ गैलन (एमजीडी) पानी के शोधन की क्षमता है। अभी चंद्रावल में दो जल शोधन संयंत्र काम कर रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: भारत में भविष्य में महाचक्रवातों का ज्यादा विनाशकारी प्रभाव हो सकता है : अध्ययन

एक संयंत्र 1940 में बनाया गया था और यह 35 एमजीडी तक पानी का शोधन कर सकता है। चंद्रावल में 600 करोड़ रुपये की लागत से बनाया जा रहा यह संयंत्र अप्रैल 2023 तक तैयार होगा और इससे पुरानी दिल्ली तथा उत्तरी दिल्ली में रह रहे 22 लाख लोगों को फायदा मिलेगा।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़