16 YouTube चैनलों के खिलाफ एक्शन, देश विरोधी कंटेंट के कारण किया गया ब्लॉक, 6 पाकिस्तानी चैनल भी शामिल

16 YouTube चैनलों के खिलाफ एक्शन, देश विरोधी कंटेंट के कारण किया गया ब्लॉक, 6 पाकिस्तानी चैनल भी शामिल
ANI pictures

जानकारी के मुताबिक ये यूट्यूब चैनल भारत में दहशत पैदा करने, सांप्रदायिक विद्वेष भड़काने और सार्वजनिक व्यवस्था को बिगाड़ने के लिए झूठी, असत्यापित जानकारी फैला रहे थे। जिन चैनलों को बैन किया गया है उनकी दर्शकों की संख्या 68 करोड़ से अधिक थी।

भारत के खिलाफ दुष्प्रचार फैलाने वाले यूट्यूब चैनल पर सरकार लगातार सख्त कदम उठा रही है। इसी कड़ी में आज सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने राष्ट्रीय सुरक्षा, विदेशी संबंधों और सार्वजनिक व्यवस्था से संबंधित दुष्प्रचार फैलाने वाले 16 यूट्यूब चैनलों को ब्लॉक कर दिया है। इनमें से 10 भारतीय चैनल है जबकि छह पाकिस्तान के चैनल है। आईटी नियम, 2021 के तहत आपातकालीन शक्तियों का उपयोग करके 10 भारतीय और 6 पाकिस्तान स्थित YouTube चैनल ब्लॉक किए गए हैं।

जानकारी के मुताबिक ये यूट्यूब चैनल भारत में दहशत पैदा करने, सांप्रदायिक विद्वेष भड़काने और सार्वजनिक व्यवस्था को बिगाड़ने के लिए झूठी, असत्यापित जानकारी फैला रहे थे। जिन चैनलों को बैन किया गया है उनकी दर्शकों की संख्या 68 करोड़ से अधिक थी। हालांकि यह पहला मौका नहीं है जब इस तरह के यूट्यूब चैनलों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। इससे पहले ही इसी महीने 5 अप्रैल को 18 भारतीय और चार पाकिस्तानी समाचार चैनलों को बंद किया गया था। 

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने था कि कहा कि सरकार भविष्य में भी इस तरह की कार्रवाई करने से पीछे नहीं हटेगी। 2021 से अब तक सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय यूट्यूब आधारित 94 समाचार चैनलों तथा कई अन्य सोशल मीडिया खातों को राष्ट्रीय सुरक्षा, भारत की एकता और अखंडता, लोक व्यवस्था को खतरा होने आदि के आधार पर बंद कर चुका है। भारत विरोधी सामग्री समेत जिस सामग्री पर पाबंदी लगाई गई है वह पाकिस्तान से समन्वित तौर पर संचालित होने वाले सोशल मीडिया अकाउंट के जरिये पोस्ट की जाती थी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।