प्रशासन ने खड़ी फसल पर चलाई जेसीबी, नुकसान होता देख किसान की पत्नी ने लगाई खुद को आग

 farmer's wife set herself on fire
दिनेश शुक्ल । Jul 30, 2020 10:06PM
महिला के पति रमज़ान खान ने बताया कि उसकी पत्नी सावरा बी ने खड़ी फसल को बर्बाद ना करने का बार बार प्रशासन से अनुरोध किया पर किसी ने एक नहीं सुनी। जिसके बाद यह घटना घटित हो गई। वही अब इस पूरे मामले पर सियासत शुरू हो गई है।

देवास। मध्य प्रदेश के देवास जिले में दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। देवास जिले के सतवास गांव में एक महिला ने खेत मे खुद को पेट्रोल डालकर आग के हवाले कर दिया। यह दिल दहलाने वाली घटना उस समय हुई जब प्रशासन की टीम लाव लश्कर के साथ इस महिला के खेत पर पहुंच गई। महिला के खेत में खड़ी सोयाबीन की फसल लगी हुई थी। जिस पर प्रशासन ने जेसीबी ले जाकर सोयाबीन की फसल को उखाड़ना शुरू कर दिया। महिला उसके परिजन ने इस बात का विरोध किया और पर प्रशासन ने उसकी एक नहीं सुनी और जेसीबी मशीन फसल को उजाड़ते हुए आगे बढ़ गई। फसल नष्ट होते देख महिला ने पहले तो अपने ऊपर पेट्रोल डाला उसके बाद प्रशासन के सामने पहुंचकर माचिस की तीली से अपने आप को आग के हवाले कर दिया। महिला के पति रमज़ान खान ने बताया कि उसकी पत्नी सावरा बी ने खड़ी फसल को बर्बाद ना करने का बार बार प्रशासन से अनुरोध किया पर किसी ने एक नहीं सुनी। जिसके बाद यह घटना घटित हो गई। वही अब इस पूरे मामले पर सियासत शुरू हो गई है। 

इसे भी पढ़ें: वित्तीय हालत पर श्वेत पत्र जारी करे शिवराज सरकार: तरुण भनोत

वही दूसरी ओर घटना के बाद प्रशासन का गैर जिम्मेदाराना और अमानवीय चेहरा एक बार फिर सामने आया। देवास एडिशनल एसपी महिला का मामूली झुलसना बता रहे है। उनका कहना है कि महिला जली नहीं है मामूली झुलसी है। प्रशासन की माने तो बंद रास्ते का निराकरण करने प्रशासन और पुलिस की टीम मौके पहुची थी। जबकि सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो में साफ दिख रहा है कि प्रशासन खड़ी फसल को जेसीबी मशीन से उखाड़ने में लगा था। जिसको रोकने के लिए महिला और उसके परिजन चीखते चिल्लाते रहे और प्रशासन से मिन्नतें मांगते रहे कि उनकी खड़ी फसल को बर्बाद मत करो। लेकिन इसके बावजूद भी प्रशासनिक अधिकारीयों और कर्मचारीयों के कान पर जू तक नहीं रेंगी। जिसके बाद उस महिला ने अपने आप को आग के हवाले कर दिया। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़