AIMIM विधायक ने शपथ लेते वक्त हिंदुस्तान शब्द के स्थान पर ‘भारत’ शब्द का किया उपयोग

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 23, 2020   19:35
AIMIM विधायक ने शपथ लेते वक्त हिंदुस्तान शब्द के स्थान पर ‘भारत’ शब्द का किया उपयोग

सदुद्दीन ओवैसी कह पार्टी एआईएमआईएम के प्रदेश अध्यक्ष अख्तरुल इमान ने उर्दू में शपथ लेने के क्रम में उसके प्रारूप में लिखित ‘हिंदुस्तान’ के बजाय संविधान में प्रयुक्त शब्द ‘भारत’ का उपयोग करने का अनुरोध किया।

पटना। बिहार विधानसभा में सोमवार को एआईएमआईएम के एक नवनिर्वाचित सदस्य ने उर्दू में शपथ लेते हुए ‘हिंदुस्तान’ शब्द के स्थान पर ‘भारत’ शब्द का उपयोग किया और इसी नाम के उपयोग की वकालत भी की। उर्दू में शपथ ग्रहण के दौरान ‘हिंन्दुस्तान’ के स्थान पर ‘भारत’ शब्द के उपयोग को लेकर नया विवाद खड़ा हो गया है। असदुद्दीन ओवैसी कह पार्टी एआईएमआईएम के प्रदेश अध्यक्ष अख्तरुल इमान ने उर्दू में शपथ लेने के क्रम में उसके प्रारूप में लिखित ‘हिंदुस्तान’ के बजाय संविधान में प्रयुक्त शब्द ‘भारत’ का उपयोग करने का अनुरोध किया। इसपर सदन के प्रोटेम स्पीकर जीतन राम मांझी ने कहा कि भारत का संविधान तो हमेशा से चला आ रहा है, आज कोई नई बात नहीं है, सभी उसी नाम पर शपथ लेते हैं। शपथ ग्रहण के बाद जब पत्रकारों ने उनसे सवाल किया कि उन्हें ‘हिंदुस्तान’ शब्द से क्या आपत्ति है, इमान ने कहा, मुझे इस शब्द को लेकर कोई आपत्ति नहीं थी, मात्र एक संशोधन था। 

संविधान की प्रस्तावना में हम भारत के लोग का वर्णन है इसलिए उसका अनुवाद किए जाने के समय उसमें भारत शब्द का होना ज्यादा मुनासिब है। मुझे हिंदुस्तान शब्द से कोई एतराज नहीं पर, लेकिन संविधान में भारत शब्द का ज्यादा इस्तेमाल हुआ है इसलिए हमारे दृष्टिकोण से इस शब्द का जैसा कि अन्य भाषाओं में अनुवाद किए जाने के दौरान भारत ही किया जाता है, का इस्तेमाल किया जाना अधिक उचित होगा। उन्होंने सवालों के जवाब के दौरान इस बात को भी खारिज किया कि उनके ऐसा करने उर्दू भाषी लोग आहत होंगे। हालांकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जद (यू) के विधायक और पूर्व मंत्री मदन सहनी ने कहा, ‘‘हिंदुस्तान आमतौर पर इस्तेमाल किया जाने वाला शब्द है लेकिन कुछ लोग अलग दिखने के लिए अनावश्यक विवाद पैदा करते हैं।’’ जदयू के साथ बिहार में सत्ताधारी भाजपा के नीरज सिंह बबलू ने कहा, ‘‘जिन लोगों को हिंदुस्तान की समस्या है, उन्हें पाकिस्तान चले जाना चाहिए।’’ नवगठित बिहार विधानसभा के प्रथम सत्र के पहले दिन उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद एवं रेणु देवी के अलावा केवल एक मंत्री जिवेश कुमार को छोड़कर अन्य सभी आठ मंत्रियों विजय कुमार चौधरी, बिजेंद्र प्रसाद यादव, शीला कुमारी, अमरेन्द्र प्रताप सिंह, रामप्रीत पासवान और राम सूरत कुमार, के साथ साथ राजद नेता तेजस्वी प्रसाद यादव एवं उनके बड़े भाई तेजप्रताप यादव सहित सदन के कुल 243 सदस्यों में कुल 190 नवनिर्वाचित सदस्यों ने शपथ ली जबकि बाकी मंगलवार को शपथ लेंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।