राफेल मुद्दे से वायुसेना की छवि धूमिल नहीं होगी: रघुनाथ नांबियार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 19, 2018   20:27
राफेल मुद्दे से वायुसेना की छवि धूमिल नहीं होगी: रघुनाथ नांबियार

वह इस प्रश्न का उत्तर दे रहे थे कि क्या राफेल विवाद से वायुसेना की छवि धूमिल हुई है। नांबियार ने कहा, ‘‘और मेरा विश्वास है कि भारतीय वायुसेना कभी कुछ गलत नहीं करेगी।

गुवाहाटी। वायुसेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार को कहा कि राफेल जंगी जेट विमान सौदे पर उत्पन्न विवाद से भारतीय वायुसेना की छवि धूमिल नहीं होगी क्योंकि लोग ‘भूसा’ और ‘गेहूं’ के बीच फर्क करना जानते हैं। पूर्वी वायु कमान के एयर अफिसर कमांडिंग इन चीफ एयर मार्शल रघुनाथ नांबियार ने कहा, ‘‘मुझे विश्वास है कि मेरे साथी नागरिक भूसा और गेहूं के बीच फर्क कर सकते हैं। उन्हें पता है कि उनके आसपास क्या हो रहा है, हम संभवत: उनके बारे में जितना सोचते हैं कि वे इतना जानने में समर्थ होंगे, उससे भी ज्यादा।’’

वह इस प्रश्न का उत्तर दे रहे थे कि क्या राफेल विवाद से वायुसेना की छवि धूमिल हुई है। नांबियार ने कहा, ‘‘और मेरा विश्वास है कि भारतीय वायुसेना कभी कुछ गलत नहीं करेगी। हम अपनी सेवा में बहुत केंद्रित, बहुत पेशेवर हैं। हमारे नागरिक हमसे जो उम्मीद करते हैं, हम उनकी उम्मीदों पर खरा उतरने के लिए काम करते रहेंगे।’’ राफेल को परीक्षण के तौर पर उड़ाने वाले नाबियार ने कहा कि सशस्त्र बल भारतीय लोगों के लिए पावन हैं। 

उन्होंने पिछले हफ्ते शिलांग में कहा था कि हाल ही में परीक्षण से गुजरे चीन के ‘‘छेंगदू जे-20’’ जैसे विमान के मुकाबले राफेल प्रदर्शन के लिहाज से अधिक श्रेष्ठ है। पूर्वी वायु कमान का प्रभार संभालने के बाद नांबियार ने पिछले महीने कहा था कि राफेल जंगी जेट विमान बहुत ही सक्षम हैं और वह वायुसेना के लिए पासा पलटने वाला होगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।