एजेपी ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर असम में मवेशी तस्करी की जांच की मांग की

AJP writes to PM
असम में विपक्षी पार्टी असम जातीय परिषद (एजीपी) ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से राज्य में गाय तस्करी के मामलों की उच्च स्तरीय जांच का आदेश देने का आग्रह किया।

गुवाहाटी। असम में विपक्षी पार्टी असम जातीय परिषद (एजीपी) ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से राज्य में गाय तस्करी के मामलों की उच्च स्तरीय जांच का आदेश देने का आग्रह किया। इस पत्र में एजेपी के अध्यक्ष लुरिनज्योति गोगोई और महासचिव जगदीश भुइयां ने प्राधनमंत्री का ध्यान गाय तस्करी नेटवर्क के विषय परा असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा के बयान की तरफ खींचा।

इसे भी पढ़ें: मनीष सिसोदिया का दावा, केंद्र सरकार ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों की जांच नहीं करना चाहती

पत्र में कहा गया कि हिमंत बिस्वा सरमा ने घोषणा की कि असम में गाय की अवैध तस्करी और बिक्री सिंडिकेट बेहद सक्रिय है और उनके अनुसार एक महीने में 1,000 करोड़ रुपये तक का कारोबार हो रहा है।

इसे भी पढ़ें: पंजाब दौरे के दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल आज जत्थेदार सेखवां से मिलने गुरदासपुर जायेंगे

पत्र में कहा गया कि सरमा का यह बयान महत्व रखता है क्योंकि यह राज्य के मुख्यमंत्री का बयान है। प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में यह भी आरोप लगाया गया कि सरमा राज्य में पिछली कांग्रेस सरकारों में मंत्री रहे हैं तो उन्हें उस काल में भी मवेशी तस्करी की जानकारी हो सकती है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़