शिवपाल यादव को लेकर अखिलेश का तंज, बोले- अगर हमारे चाचा को भाजपा लेना चाहती है तो...

शिवपाल यादव को लेकर अखिलेश का तंज, बोले- अगर हमारे चाचा को भाजपा लेना चाहती है तो...

अखिलेश यादव से आजम खान को लेकर भी सवाल किया गया। अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी आजम खान के साथ पूरी तरह से खड़ी है। अखिलेश यादव ने कहा कि मैंने उन लोगों से बात की है जिन्होंने उनके खिलाफ मामले दर्ज किए हैं। उन पर सरकार का दबाव था।

उत्तर प्रदेश में शिवपाल यादव को लेकर राजनीतिक सरगर्मियां लगातार जारी है। दावा किया जा रहा है कि शिवपाल यादव भाजपा में शामिल हो सकते हैं। विधानसभा चुनाव के बाद से शिवपाल यादव और अखिलेश यादव के रिश्तो में खटास आई है। आलम तो यह है कि दोनों एक दूसरे से मुलाकात तक नहीं कर रहे हैं। इन सबके बीच आज मैनपुरी में अखिलेश यादव से शिवपाल यादव को लेकर सवाल पूछा गया। अखिलेश यादव ने साफ तौर पर कहा कि अगर हमारे चाचा को भाजपा लेना चाहती है तो देर क्यों कर रही है? भाजपा के लोग देर किस बात की कर रहे हैं। मुझे चाचा जी से कोई नाराज़गी नहीं है लेकिन भाजपा बता सकती है कि वे क्यों खुश हैं।

अखिलेश यादव से आजम खान को लेकर भी सवाल किया गया। अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी आजम खान के साथ पूरी तरह से खड़ी है। अखिलेश यादव ने कहा कि मैंने उन लोगों से बात की है जिन्होंने उनके खिलाफ मामले दर्ज किए हैं। उन पर सरकार का दबाव था। वही अखिलेश यादव ने मायावती पर भी तंज कसा। अखिलेश यादव ने कहा कि बसपा ने बीजेपी को वोट दिया है। अब सवाल यही है कि क्या बीजेपी मायावती को अध्यक्ष बनाएगी। इससे पहले समाजवादी पार्टी के साथ आजम खान की अनबन की खबरों पर चुटकी लेते हुए केशव मौर्य ने कहा कि यह समाजवादी पार्टी की बीमारी है। मैं डॉक्टर नहीं की इसका इलाज कर सकूं। उन्होंने कहा कि 2024 में समाजवादी पार्टी समाप्त पार्टी बन जाएगी।

इसे भी पढ़ें: आजम खान पर बोले केशव मौर्य- यह सपा की बीमारी, मैं डॉक्टर नहीं कि इलाज करूं, शिवपाल पर कही यह बात

इसी दौरान केशव मौर्य से संवाददाताओं ने शिवपाल यादव के पार्टी में शामिल होने को लेकर सवाल किया। इसके जवाब में केशव मौर्य ने साफ तौर पर कहा कि पार्टी अपनी जरूरत के हिसाब से यह तय करेगी। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि जब हमारी जरूरत होगी तब उन्हें लिया जाएगा, नहीं जरूरत होगी तो नहीं लिया जाएगा। शिवपाल और योगी आदित्यनाथ के मुलाकात को लेकर पूछे गए सवाल पर केशव मौर्य ने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हैं और यहां का कोई भी नागरिक उनसे मुलाकात कर सकता है। अखिलेश यादव की मुलाकात कर सकते हैं। मायावती भी मुलाकात कर सकते हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।