असम में अल कायदा टेरर मॉडयूल का भंडाभोड़, 12 जिहादी गिरफ्तार, मदरसे से रची जा रही थी साजिश

terror module
ANI
अंकित सिंह । Jul 29, 2022 10:19AM
हिमंत बिस्वा सरमा ने बताया कि कल से लेकर आज तक हमने असम के बारपेटा और मोरीगांव ज़िलो में 2 जिहादी मॉड्यूल को पकड़ा है और इस जिहादी मॉड्यूल में शामिल सभी लोगों को गिरफ्तार किया है।

असम में एक बड़े टेरर मॉडयूल का भंडाफोड़ हुआ है। कहीं ना कहीं, असम पुलिस की यह बड़ी कामयाबी है। इस टेरर मॉडयूल के तहत 2 जिलों से 12 जिहादियों को गिरफ्तार किया गया है। दावा किया जा रहा है कि यह जिहादी मदरसों के जरिए अपनी साजिश को अंजाम देने की कोशिश में जुटे हुए थे। इसके साथ ही मोरीगांव के एक मदरसे के मुफ्ति को भी गिरफ्तार किया गया है। बारपेटा पुलिस स्टेशन में धारा 17/18/18 (बी)/19/20 UA(P) अधिनियम, 1967 में तहत मामला दर्ज हुआ है। खुद इस बात की जानकारी राज्य के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने दी। हिमंत बिस्वा सरमा ने बताया कि कल से लेकर आज तक हमने असम के बारपेटा और मोरीगांव ज़िलो में 2 जिहादी मॉड्यूल को पकड़ा है और इस जिहादी मॉड्यूल में शामिल सभी लोगों को गिरफ्तार किया है।

इसे भी पढ़ें: असम पुलिस ने 4 जिलों से 11 संदिग्धों को हिरासत में लिया, आतंकी संगठन अल-कायदा से जुड़े हैं तार

सरमा ने आज ट्वीट कर कहा कि एक सुनियोजित ऑपरेशन में, असम पुलिस मोरीगांव जिले के एक मदरसे से चलाए जा रहे भारतीय उपमहाद्वीप में अल-कायदा (एक्यूआईएस) समर्थित ABT के एक मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया। दो इस्लामी कट्टरपंथियों को गिरफ्तार किया गया है और घरेलू तथा अंतर्राष्ट्रीय संबंधों की पहचान करने और उनका पता लगाने के लिए आगे की जांच जारी है। वहीं एक और ट्वीट में उन्होंने कहा कि निचले असम में संदिग्ध गतिविधियों पर कड़ी नजर रखने के परिणामस्वरूप असम पुलिस ने बारपेटा जिले में AQIS समर्थित ABT मॉड्यूल के एक अन्य मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया और आतंकवादी गतिविधियों के लिए धन उगाहने, भर्ती, प्रशिक्षण और धन संग्रह के लिए 8 लोगों को गिरफ्तार किया। मुख्यमंत्री ने साफ कहा कि हमने 700 सरकारी मदरसों को बंद कर दिया है और इसमें सामान्य शिक्षा शुरू कर दी है। आज हमें जो एक मॉड्यूल मिला है जिसका नेतृत्व एक मदरसे का शिक्षक कर रहा था। 

इसे भी पढ़ें: बसों के लिए ऑनलाइन टिकट बुकिंग सेवा शुरु, यात्रियों को होगी बड़ी आसानी

सरमा ने साफ तौर पर कहा कि कुछ कट्टरपंथी बांग्लादेश और असम को अस्थिर करने के लिए सक्रिय हैं। लेकिन हम उन्हें पकड़ने और मॉड्यूल को नष्ट करने के लिए सतर्क हैं। मोरीगांव जिला पुलिस प्रमुख अपर्णा नटराजन ने कहा कि मोइराबाड़ी थाने के सोरुचोला गांव में एक निजी मदरसा चलाने वाले एक अन्य व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया और उस पर गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) के तहत आरोप लगाए गए हैं। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार किया गया मुफ्ती मुस्तफा, अंसारुल इस्लाम से जुड़े विभिन्न वित्तीय लेनदेन और राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में कथित रूप से शामिल था। अंसारुल इस्लाम , भारतीय उपमहाद्वीप में अल-कायदा (एक्यूआईएस) से संबद्ध संगठन है। 2019 के बाद से, मुस्तफा ने अंसारुल इस्लाम के सदस्यों अमीरुद्दीन अंसारी और मामून राशिद के साथ कई वित्तीय लेनदेन किए थे, जिन्हें कुछ महीने पहले क्रमशः कोलकाता और बारपेटा में गिरफ्तार किया गया था।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़