सभी धर्मों के गरीब हुए मोदी सरकार से लाभान्वित: अमित शाह

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jan 31 2019 8:31PM
सभी धर्मों के गरीब हुए मोदी सरकार से लाभान्वित: अमित शाह
Image Source: Google

विपक्ष पर निशाना साधते हुए उन्होंने सवाल किया कि जिन लोगों ने अल्पसंख्यकों का तुष्टिकरण किया, उन्होंने करीब पांच दशक तक देश पर शासन किया, उसके बावजूद भी अल्पसंख्यक पीछे क्यों हैं।

नयी दिल्ली। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने बृहस्पतिवार को कहा कि मोदी सरकार ने धार्मिक पृष्ठभूमि को बिना ख्याल में लाये गरीबों का कल्याण सुनिश्चित किया और उन राज्यों में कोई बड़ा सांप्रदायिक दंगा नहीं हुआ जहां उनकी पार्टी सत्ता में है। भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के राष्ट्रीय सम्मेलन के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए शाह ने यह कहते हुए कांग्रेस पर निशाना साधा कि अल्पसंख्यकों का देश के संसाधनों पर पहला अधिकार होने का दावा करने वालों ने उनके लिए कुछ नहीं किया। उन्होंने कहा, ‘‘ऐसे लोग हैं जो कहा करते थे कि अल्पसंख्यकों का देश के संसाधनों पर पहला हक है लेकिन उन्होंने उन्हें यह अधिकार नहीं दिया। हमारा मानना है कि गरीबों का देश के संसाधनों पर पहला अधिकार है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार ने गरीबों के धर्म का ख्याल किये बिना ही उन्हें विभिन्न लाभ प्रदान कर यह सुनिश्चित किया।’’

विपक्ष पर निशाना साधते हुए उन्होंने सवाल किया कि जिन लोगों ने अल्पसंख्यकों का तुष्टिकरण किया, उन्होंने करीब पांच दशक तक देश पर शासन किया, उसके बावजूद भी अल्पसंख्यक पीछे क्यों हैं। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा के बारे में यह गलत धारणा फैलायी गयी कि यदि वह सत्ता में आ गयी तो विभिन्न संस्कृतियों के लोग अपनी परंपराओं का पालन नहीं कर पायेंगे, लेकिन भाजपा और मोदी सरकार ‘सबका साथ सबका विकास’ में यकीन करती है।उन्होंने ‘भारत माता की जय के नारों’ के बीच कहा, ‘‘भाजपा प्रमुख के तौर पर गर्व के साथ मैं कह सकता हूं कि आज भाजपा 16 राज्यों में सत्ता में है और पार्टी के शासनकाल में एक भी बड़ा दंगा नहीं हुआ है। राज्यों में कांग्रेस, सपा और बसपा का शासन खत्म होने के साथ ही दंगे होने बंद हो गये। 
 
 


भाजपा के खिलाफ एक दुष्प्रचार चल रहा है कि यदिव वह सत्ता में आ गयी तो देश के विभिन्न धर्मों के लोगों को क्या होगा?’’।शाह ने कहा कि छद्म धर्मनिरपेक्ष दलों के संरक्षण में वक्फ माफिया ने वक्फ बोर्डों की जमीनें लूटीं लेकिन मोदी सरकार ने ऐसे सभी मामलों में पारदर्शिता सुनिश्चित की।उन्होंने तीन तलाक विधेयक पारित कराने की दिशा में मोदी सरकार के प्रयासों का उल्लेख करते हुए कहा कि यह मुस्लिम महिलाओं को न्याय देने के लिए है।शाह ने कहा कि मुस्लिम बच्चियों के स्कूल छोड़ने का प्रतिशत 72 से गिरकर 32 पर आ गया है।उन्होंने कहा कि गरीबों को बिजली और रसोई गैस से जोड़ने की सरकार की योजनाओं से मुस्लिम महिलाएं भी लाभान्वित हुई हैं।
 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story