भाजपा कार्यकर्ता को ब्लेकमेल करने वाला कथित पत्रकार और उसकी महिला सहयोगी गिरफ्तार, कोर्ट ने भेजा जेल

Alleged journalist blackmailing BJP worker
दिनेश शुक्ल । Feb 18, 2021 11:26PM
आरोपी ने फरियादी से कहा कि यदि मुझे पैसे नहीं दिए तो हम यह फोटो सोशल मीडिया पर वायरल कर देंगे। पहले आरोपित आंगनवाड़ी कार्यकर्ता ने 14 लाख रुपए की मांग की बाद में 2 लाख रुपए की मांग अड़ गए।
नागदा। मध्य प्रदेश में उज्जैन जिले के नागदा में एक युवती व एक तथाकथित पत्रकार पुलिस के जाल में फंस गए जिन्होंने एक भाजपा कार्यकर्ता के साथ अश्लील फोटो खींचकर उसे ब्लैकमेलिंग करने की साजिश रची थी। गुरुवार को पुलिस ने इन दोनों आरोपियों को न्यायालय के आदेश पर जेल भेज दिया है। थाना प्रभारी श्यामचंद्र शर्मा ने बताया आरोपी युवती निवासी आदिनाथ कॉलोनी के साथ तथाकथित पत्रकार कैलाश गुर्जर निवासी गांव खजूरिया थाना नागदा के खिलाफ भादवि की धारा 384, 386 व 34 में प्रकरण दर्ज किया गया है।

 

इसे भी पढ़ें: उच्च-स्तरीय बैठक में बोले मुख्यमंत्री सीधी बस दुर्घटना के दोषियों को छोड़ा नहीं जाएगा

पुलिस के मुताबिक भाजपा कार्यकर्ता सुरेश रघुवंशी उम्र 65 वर्ष निवासी चिकित्सालय मार्ग नागदा ने शिकायत की थी कि एक युवती उसे ब्लैकमेल कर रही है। बाद में पुलिस ने जांच के बाद युवती तथा उसके सहयोगी तथाकथित पत्रकार को ब्लैकमेलिंग करते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया। पुलिस ने बताया कि युवती एक आंगनवाड़ी कार्यकर्ता है। उसने अपने दोस्त कैलाश गुर्जर के साथ मिलकर षडयंत्र रच कर 16 फरवरी को एक भाजपा कार्यकर्ता को फोन कर इंगोरिया रोड स्थित बीमा अस्पताल परिसर में शाम 6 बजे मिलने बुलाया। जब भाजपा कार्यकर्ता वहां पहुंचा तो आरोपित आंगनवाड़ी कार्यकर्ता उस से चिपक गई और इसी दौरान उसके दोस्त गुर्जर ने दोनों का फोटो खींच लिया और बाद में उससे पैसे की डिमांड करने लगे।

 

इसे भी पढ़ें: प्रदेश के नागरिकों की सुख-समृद्धि की कामना के साथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने की माँ नर्मदा की पूजा-अर्चना

पुलिस ने बाताय कि आरोपी ने कहा कि आरोपी ने फरियादी से कहा कि यदि मुझे पैसे नहीं दिए तो हम यह फोटो सोशल मीडिया पर वायरल कर देंगे। पहले आरोपित आंगनवाड़ी कार्यकर्ता ने 14 लाख रुपए की मांग की बाद में 2 लाख रुपए की मांग अड़ गए। जिसके बाद फरियादी भाजपा कार्यकर्ता ने 17 फरवरी को पुलिस को इसकी सूचना दी। पुलिस ने दोनों आरोपीओं को पकड़ने के लिए एक जाल बिछाया। जैसे की आरेापी ने फरियादी को फोन किया और कहा कि 2 लाख रूपए लेकर नए बस स्टेंड पर आ जाना। इधर पुलिस भी सिविल ड्रेस में ऑटो, सायकल व बाईक से वहां पहुंच गई, लेकिन आरोपी ने पुन: फोन कर खाचरौद नाके पर बुलाया, जब फरियादी वहां से जाने लगा तो फिर फोन कर उसे बैरछा रोड पर बुलवाया। इधर पुलिस ने फरियादी से कुछ रुपए का बंडल भी तैयार कर लिया था। जैसे ही बैरछा रोड पर आरोपित पहुंचे तो पुलिस ने दोनों को धरदबोचा।

 

इसे भी पढ़ें: सत्ता में थे तब भी लड़ते थे, अब भी लड़ रहे हैं कांग्रेसी- विष्णुदत्त शर्मा

पुलिस के मुताबिक आरोपी युवक कैलाश गुर्जर पूर्व में भी कुछ लोगों को शिकार बना चुका है। गौरतलब है कि ग्रेसिम उद्योग के एक सुरक्षा अधिकारी के साथ भी ऐसी घटना हुई थी। उस घटना के तार भी इसी से जुड़े हुए है। वही आरोपी पर पूर्व से ही नागदा थाने में दो मारपीट के प्रकरण दर्ज है। आरोपी की माता समाजवादी पार्टी की पूर्व जिला अध्यक्ष रह चुकी है। पुलिस ने आरोपी युवक को पकड़ा तो वह अपने आप को मीडियाकर्मी बता रहा था। उसके पास से पुलिस ने प्रेस आईडी भी जब्त की। उस आईडी पर फोटो तो आरोपित का था, लेकिन नाम मोहन यादव पता उज्जैन व इंदौर का लिखा हुआ था। वही बताया जा रहा है कि फरियादी वर्तमान में भाजपा का एक साधारण कार्यकर्ता है, किसी समय वह कांग्रेस का पदाधिकारी था।

अन्य न्यूज़