अमित शाह का हमला, कहा- मोदी फोबिया से ग्रस्त है विपक्ष

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 19, 2018   15:56
अमित शाह का हमला, कहा- मोदी फोबिया से ग्रस्त है विपक्ष

उन्होंने कहा कि वह केवल मोदी को प्रधानमंत्री पद से हटाना चाहते हैं जबकि हम गरीबी, असुरक्षा और वायु प्रदूषण सहित देश की अन्य समस्याओं को दूर करना चाहते हैं।

नरसिंहपुर (मप्र)। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने सोमवार को कहा कि विपक्ष ‘‘नरेन्द्र मोदी फोबिया’’ से ग्रस्त है। मध्प्रयदेश में 28 नवंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिये यहां चुनावी रैली में कांग्रेस पर निशाना साधते हुए शाह ने कहा कि मोदी सरकार ने चार साल में 129 विकास परियोजनाएं शुरू कीं, (नेहरू-गांधी परिवार की) चार पीढ़ियों ने अपने शासनकाल में क्या किया इसका हिसाब दे। शाह ने आगे कहा, ‘‘नरेन्द्र मोदी फोबिया से ग्रस्त है, विपक्ष’’।

उन्होंने कहा कि वह केवल मोदी को प्रधानमंत्री पद से हटाना चाहते हैं जबकि हम गरीबी, असुरक्षा और वायु प्रदूषण सहित देश की अन्य समस्याओं को दूर करना चाहते हैं। शाह ने कटाक्ष करते हुए कहा कि राहुल गांधी ने हाल में अपने 22 मिनट के भाषण में 44 दफा मोदी का नाम लिया। मैं हैरान था कि वह भाजपा के लिये चुनाव प्रचार कर रहे हैं या कांग्रेस के लिये।

शाह ने जम्मू कश्मीर के उरी में 2016 में हुए आतंकी हमले के बाद सेना द्वारा सीमा पार की गई सर्जिकल स्ट्राइक के लिये केन्द्र की मोदी सरकार की प्रशंसा की। उन्होंने कहा, ‘‘उरी में जब आतंकी हमला हुआ था। उसके बाद पूरे देश में आक्रोश था। मोदी ने सर्जिकल स्ट्राइक का आदेश दिया और अपने सैनिकों की हत्या का बदला लेने वाले देश के तौर पर अमेरिका और इजराइल के बाद भारत दुनिया का तीसरा मुल्क हो गया।’’ 

उन्होंने आरोप लगाया कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के पद छोड़ते वक्त वर्ष 2014 में आर्थिक स्थिति के मामले में भारत दुनिया में नौवें स्थान पर था जबकि केन्द्र में भाजपा की सरकार आने के बाद यह स्थिति सुधर कर छठवें स्थान पर पहुंच गयी है और इस चुनाव की समाप्ति तक यूके को पार कर दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था भारत की होगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।